Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजफतेहपुर की चर्च में सामूहिक धर्मांतरण का प्रयास, प्रार्थना में शामिल 70 लोगों में...

फतेहपुर की चर्च में सामूहिक धर्मांतरण का प्रयास, प्रार्थना में शामिल 70 लोगों में से 50 हिंदू: पुलिस ने 26 को किया गिरफ्तार

चर्च के लोगों पर पहले भी धर्मांतरण के आरोप लग चुके हैं। ये पाँचवीं बार चंगाई सभा के नाम पर लोगों का धर्मांतरण कराने का प्रयास कर रहे थे।

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर (Fatehpur, UP) शहर के हरिहरगंज मोहल्ले के चूना वाली गली स्थित चर्च के भीतर प्रार्थना के बीच धर्मांतरण (Religious Conversion) की खबर सामने आई है। मामले की जानकारी मिलते ही बजरंग दल (Bajarang Dal) और विश्व हिंदू परिषद (VHP) के कार्यकर्ता भारी तादाद में पहुँच गए और चर्च के बाहर गेट पर ताला लगा दिया। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। इस मामले में पुलिस ने 26 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

जानकारी के मुताबिक, गुरुवार (14 अप्रैल 2022) को चर्च के भीतर देर शाम प्रार्थना सभा चल रही थी। उसी दौरान मोहल्ले के लोगों की सूचना पर विहिप व बजरंग दल के कार्यकर्ता पहुँचे। इन कार्यकर्ताओं का कहना था कि गरीब हिंदू परिवारों को रुपयों का लालच देकर उनका मतांतरण करने की साजिश रची जा रही है।

जब चर्च के पादरी से पूछा गया तो उसने कबूल किया कि चर्च के भीतर 70 से ज्यादा लोग मौजूद हैं, जिनमें 50 से ज्यादा हिंदू समाज के लोग थे। इसकी सूचना पुलिस-प्रशासन को दी गई और उनसे आग्रह किया गया कि चर्च के भीतर जितने लोग प्रार्थना सभा कर रहे थे उनकी आईडी चेक की जाए, तब उन्हें बाहर निकाला जाए। यदि मतांतरण का आरोप सही हो तो मुकदमा दर्ज किया जाए।

मामले की सूचना पर पुलिस अधिकारी पहुँचे और हँगामा कर रहे लोगों को शांत करवा कर कार्रवाई का आश्वासन दिया। आधी रात एडीएम विनय कुमार पाठक मौके पर पहुँचे और चर्च के अंदर मौजूद लोगों को निकाल कर कोतवाली ले गए। इनमें बड़ी संख्या में महिलाएँ और बच्चे थे।

लोगों ने चर्च के मिनशनरियों पर पहले भी धर्मांतरण का आरोप लगा चुके हैं। यह पाँचवीं बार है, जब चंगाई सभा के नाम पर लोगों का धर्मांतरण करने का प्रयास किया रहा था। ये प्रार्थना पिछले 36 दिनों से कराया जा रहा था।

सीओ ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया, “धर्मांतरण के मामले में दिनांक 15.04.2022 को थाना कोतवाली जनपद फतेहपुर में अभियोग पंजीकृत किया गया है। इसमे वैधानिक कार्यवाही करते हुए 26 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -