Friday, April 19, 2024
Homeदेश-समाजसिराज से बचने के लिए सलाहुद्दीन ने 'गणेश चतुर्थी' को बीच में घुसाया, शिकायत...

सिराज से बचने के लिए सलाहुद्दीन ने ‘गणेश चतुर्थी’ को बीच में घुसाया, शिकायत में कहा- ‘सर तन से जुदा’ की दी जा रही धमकी: UP पुलिस बोली- मामला आपसी विवाद का है

अंबेडकरनगर पुलिस के ट्वीट में शेयर जानकारी में कहा गया कि सलाहुद्दीन सिद्दिकी ने सिराज खान से कुछ रुपए उधार लिए थे। कुछ समय बाद सिराज ने उन रुपयों को माँगा तो दोनों पक्षों में विवाद बढ़ गया। इसी क्रम में एक पक्ष ने दूसरे पर मिथ्या आरोप लगाए।

उत्तर प्रदेश के अंबेडकरनगर जिले में एक मुस्लिम युवक ने दो अन्य मुस्लिमों पर ‘सिर तन से जुदा’ करने की धमकी देने का आरोप लगाया। मुस्लिम युवक सलाहुद्दीन अहमद सिद्दीकी ने दावा किया कि उसने इश्तियाक अहमद को गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएँ दी थी, जिसके बाद उसे जान से मारने की धमकी दी जा रही है। हालाँकि, इस मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस ने आरोपों को निराधार बताया और पूरा केस पैसों की लेन-देन से जुड़ा कहा।

गणेश चतुर्थी का मैसेज शेयर करने पर मिली धमकी

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सलाहुद्दीन अहमद सिद्दीकी उर्फ पप्पू अंबेडकर नगर जिले के हंसवर थाना अंतर्गत नोनारा गाँव का निवासी है। उसका कहना है कि उसने व्हाट्सएप के जरिए स्थानीय हिंदू नेताओं व अपने दोस्तों को गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएँ दी थी।

इसी दौरान, एक शुभकामना सन्देश इश्तियाक अहमद को भी भेजा था। इस बारे में इश्तियाक ने अपने दोस्तों सिराज और मोहम्मद मुशीर को बता दिया। जिसके बाद से, सिराज और मोहम्मद मुशीर ने सलाहुद्दीन अहमद सिद्दीकी को फोन करके गाली-गलौच की और फिर ‘सिर तन से जुदा’ करने की धमकी भी दी थी।

रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि इस तरह धमकी मिलने के बाद से सलाहुद्दीन अहमद सिद्दीकी बेहद डरा हुआ था। इसलिए उसने इस मामले में स्थानीय थाने हंसवार में शिकायत दी। इसके बाद इस केस में शांति भंग करने का आरोप लगाकर तीन लोगों के विरुद्ध चालान हुआ। पुलिस ने पड़ताल में पाया कि मामला पैसों की लेन-देन से जुड़ा था।

हंसवर थाने के एसओ प्रमोद सिंह ने कहा, “मामले में सलाहुद्दीन अहमद सिद्दीकी की पत्नी ने सुरक्षा की माँग की थी। जिसके आधार पर सुरक्षा में एक पुलिसकर्मी को लगाया गया है। प्रथम दृष्टया रुपये के लेने देन का मामला सामने आया है। इसमें मुशीर, सिराज और इश्तियाक के खिलाफ आरोप लगाए गए हैं, सभी का शान्ति भंग करने के आरोप में चालान किया गया है। जाँच की जा रही है।”

सलाहुद्दीन के आरोप गलत

वहीं अंबेडकरनगर पुलिस के ट्वीट में शेयर जानकारी में कहा गया कि सलाहुद्दीन सिद्दिकी ने सिराज खान से कुछ रुपए उधार लिए थे। कुछ समय बाद सिराज ने उन रुपयों को माँगा तो दोनों पक्षों में विवाद बढ़ गया। इसी क्रम में एक पक्ष ने दूसरे पर मिथ्या आरोप लगाए। स्थानीय पुलिस ने शांति व्यवस्था के लिए कार्रवाई की है। सलाहुद्दीन को सुरक्षा दे दी गई है और स्थिति सामान्य है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कौन थी वो राष्ट्रभक्त तिकड़ी, जो अंग्रेज कलक्टर ‘पंडित जैक्सन’ का वध कर फाँसी पर झूल गई: नासिक का वो केस, जिसने सावरकर भाइयों...

अनंत लक्ष्मण कन्हेरे, कृष्णाजी गोपाल कर्वे और विनायक नारायण देशपांडे को आज ही की तारीख यानी 19 अप्रैल 1910 को फाँसी पर लटका दिया गया था। इन तीनों ही क्रांतिकारियों की उम्र उस समय 18 से 20 वर्ष के बीच थी।

भारत विरोधी और इस्लामी प्रोपगेंडा से भरी है पाकिस्तानी ‘पत्रकार’ की डॉक्यूमेंट्री… मोहम्मद जुबैर और कॉन्ग्रेसी इकोसिस्टम प्रचार में जुटा

फेसबुक पर शहजाद हमीद अहमद भारतीय क्रिकेट टीम को 'Pussy Cat) कहते हुए देखा जा चुका है, तो साल 2022 में ब्रिटेन के लीचेस्टर में हुए हिंदू विरोधी दंगों को ये इस्लामिक नजरिए से आगे बढ़ाते हुए भी दिख चुका है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe