Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजनवजात 'गंगा' का ​योगी सरकार करेगी पालन-पोषण, बचाने वाले नाविक को भी सरकारी आवास...

नवजात ‘गंगा’ का ​योगी सरकार करेगी पालन-पोषण, बचाने वाले नाविक को भी सरकारी आवास समेत देंगे सभी सुविधाएँ

''गाजीपुर में माँ गंगा की लहरों पर तैरते संदूक में रखी नवजात बालिका 'गंगा' के जीवन की रक्षा करने वाले नाविक ने मानवता का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया है। नाविक को आभार स्वरूप सभी पात्र सरकारी योजनाओं से लाभान्वित किया जाएगा।''

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार (16 जून 2021) को ट्वीट कर गाजीपुर में बालिका ‘गंगा’ को बचाने वाले नाविक की सराहना की। मुख्यमंत्री योगी ने कहा, ”गाजीपुर में माँ गंगा की लहरों पर तैरते संदूक में रखी नवजात बालिका ‘गंगा’ के जीवन की रक्षा करने वाले नाविक ने मानवता का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया है। नाविक को आभार स्वरूप सभी पात्र सरकारी योजनाओं से लाभान्वित किया जाएगा।”

उन्होंने कहा कि यूपी सरकार नवजात बच्ची के लालन-पालन का संपूर्ण प्रबंध करेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवजात बच्ची का चिल्ड्रन होम में रख कर पालन-पोषण करने का आदेश दिया है। उन्होंने जिलाधिकारी गाजीपुर को आदेश दिया कि नवजात बच्ची को चिल्ड्रेन होम में रखा जाए और सरकारी खर्चे पर उसका पालन पोषण हो। साथ ही जिस नाविक ने उस बच्ची की जान बचाई थी उसे भी सरकारी आवास समेत सभी सुविधाएँ मुहैया कराई जाए।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में मंगलवार (15 जून 2021) को गंगा में तैरता हुआ एक लकड़ी का बॉक्स दिखाई दिया। नदी किनारे रह रहे एक नाविक ने जब बॉक्स खोलकर देखा, तो उसमें एक नवजात बच्ची मिली। बॉक्स में माँ दुर्गा की फोटो के साथ कई देवी-देवताओं के फोटो लगे थे। इसमें बच्ची की जन्म कुंडली भी मिली है। बच्ची को पुलिस आशा ज्योति केंद्र ले गई है। बच्ची पूरी तरह स्वस्थ बताई जा रही है।

मामला सदर कोतवाली क्षेत्र के ददरी घाट बताया जा रहा है। यहाँ रहने वाले गुल्लू मल्लाह ने गंगा में तैरता बॉक्स निकाला तो उसमें चुनरी से लिपटी एक बच्ची मिली। उसने बच्ची को सीने से लगाया और अपने घर ले गया। गुल्लू गंगा माँ की पूजा करने आई महिलाओं को भी सहयोग करता है।

उन्होंने पुलिस को बताया कि मंगलवार शाम उन्हें नदी के किनारे लकड़ी का बॉक्स मिला। उसमें से रोने की आवाज आ रही थी। मल्लाह को देख घाट पर मौजूद कुछ और लोग भी आ गए। लोगों ने बॉक्स खोला तो दंग रह गए। इसमें बच्ची चुनरी में लिपटी हुई रो रही थी। बॉक्स में माँ दुर्गा की फोटो के साथ एक पत्र भी लिखा हुआ था। पत्र में लिखा था माँ गंगा आपको कन्यादान कर रही हूँ। पत्र में ऊपर ‘ओम’ और नीचे ‘जय दुर्गा माँ’ लिखा हुआ था। नीचे बच्ची का नाम गंगा और जन्मदिन 21 मई 2021 लिखा हुआ था। साथ ही उसकी रा​शि, नक्षत्र, राशि का नाम व मन्नत का जिक्र किया हुआ ​था।

जागरण में प्रकाशित खबर

बच्ची भूख की वजह से जोर-जोर से रो रही थी। ऐसे में गुल्लू उसे अपने घर ले आया। उनके छोटे भाई की पत्नी ने उसे अपना दूध पिलाया तो बच्ची चुप हो गई। एक बेटी और दो बेटों के पिता गुल्लू बच्ची को माँ गंगा के आर्शीवाद के रूप में अपनाना चाहते हैं, लेकिन पुलिस ने बच्ची को अपने संरक्षण में ले लिया है। फिलहाल, पुलिस बच्ची की मेडिकल जाँच कराकर उसके परिजनों की तलाश कर रही है। चर्चा है कि ऐसा किसी अंधविश्वास या तांत्रिक अनुष्ठान को पूरा करने के लिए किया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी चीन को भूले, Covid के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार, कहा- विश्व ‘इंडियन कोरोना’ से परेशान

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि दुनिया कोरोना महामारी पर जीत हासिल करने की कगार पर थी, लेकिन भारत ने दुनिया को संकट में डाल दिया।

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,277FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe