Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजहिंदू बन शकील, इमरान और नूर ने 3 बहनों को फँसाया, लखनऊ बुलाकर 9...

हिंदू बन शकील, इमरान और नूर ने 3 बहनों को फँसाया, लखनऊ बुलाकर 9 युवकों ने की रेप की कोशिश

बिलासपुर के आईजी दीपांशु काबरा ने ट्विटर पर बताया है कि इन लड़कियों की शिनाख्त हो गई है। वे छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले के पिथौरा की रहने वाली हैं और पुलिस टीम उन्हें वापिस लेने जा रही है।

छत्तीसगढ़ की तीन बहनों के यूपी में लव जिहाद का शिकार होने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। हरदोई के शकील, इमरान और नूर आलम ने नाम और धर्म बदलकर युवतियों से दोस्ती की। फिर नौकरी के बहाने तीनों लड़कियों को लखनऊ बुलाया। यहाँ 9 युवकों ने उनसे रेप की कोशिश की।

पुलिस ने मामले में दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। तीसरा आरोपित फिलहाल फरार है।

संडीला थाने में 26 वर्षीय पूनम यादव और उसकी दो नाबालिग बहनों ने आरोपितों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। इसमें कहा गया है कि वे बिलासपुर, छत्तीसगढ़ की रहने वाली हैं। शकील अहमद, इमरान, और नूर आलम ने एक बरस पहले टेलीफोन पर खुद को हिन्दू बताकर उनसे दोस्ती की। फिर शादी और रोजगार का झाँसा देकर उन्हें लखनऊ बुलाया।

रिपोर्ट में कहा गया है कि वे 16 सितंबर को लखनऊ पहुँची तो संडीला नाम के कस्बे में उन्हें एक कमरे में बंद कर उनके गहने और पैसे छीन लिए गए। उन्होंने बताया कि तीनों बहनों के साथ 9 युवकों ने जबर्दस्ती शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश की और जान से मारने की धमकी दी। उन्हें धर्म परिवर्तन के लिए प्रताड़ित किया गया। किसी तरह छिप-छिपाकर वे वहाँ से निकलीं।

घटना की जानकारी होते ही तीनों बहनों को वापस लाने के लिए छत्तीसगढ़ पुलिस सक्रिय हो गई है।

उत्तरप्रदेश के एक पत्रकार सचिन गुप्ता ने इस बारे में ट्वीट किया है। इसका जवाब देते हुए बिलासपुर के आईजी दीपांशु काबरा ने ट्विटर पर बताया है कि इन लड़कियों की शिनाख्त हो गई है। वे छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले के पिथौरा की रहने वाली हैं और पुलिस टीम उन्हें वापिस लेने जा रही है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, कोतवाल सूर्य कुमार शुक्ला ने बताया कि तहरीर के आधार पर तीनों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर ली गई है। पकड़े गए आरोपित इमरान और शकील को जेल भेज दिया गया है। तीसरा फिलहाल पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। तीनों युवतियों का मेडिकल परीक्षण कराया गया है। फिर मजिस्ट्रेट के सामने उनके बयान दर्ज कराए जाएँगे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -