Saturday, July 2, 2022
Homeदेश-समाजPUBG के लिए माँ को गोली मारने के बाद नाबालिग ने दोस्तों संग की...

PUBG के लिए माँ को गोली मारने के बाद नाबालिग ने दोस्तों संग की थी पार्टी, 10 घंटे तक तड़पती रही; कमरा खोल कर देखता था ज़िंदा है या मर गई

पुलिस ने कहा कि अगर उसने सुबह किसी को इसके बारे में बताया होता, तो उसकी माँ की जान बचाई जा सकती थी। उसने अपनी माँ की हत्या करके शव को एक कमरे में बंद कर दिया और छोटी बहन को दूसरे कमरे में बंद कर दिया।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में PUBG गेम खेलने से रोकने पर 16 साल के लड़के ने अपनी माँ को पिता के लाइसेंसी गन से गोली मार दी। माँ को गोली मारने के बाद उसने उसे एक कमरे में बंद कर दिया और लगातार यह देखता रहा कि वह जिंदा है या मर गई। उसे अपनी माँ को गोली मारने पर कोई पछतावा भी नहीं है।

माँ को गोली मारने के बाद उसने तीन दिनों तक घर में जमकर पार्टी की। शव से बदबू न आए इसके लिए वह लगातार रूम फ्रेशनर का छिड़काव करता रहा। पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक, उसने तीन दिनों तक माँ के शव को लखनऊ में अपने घर के अंदर ही छिपा रखा था। पुलिस ने खुलासा किया कि जब वह अगली सुबह उस कमरे में गया तो उसकी माँ की साँस चल रही थी। उसने खुलासा किया कि वह यह देखने के लिए बार-बार दरवाजा खोल रहा था कि वह जिंदा है या मर गई।

पुलिस ने कहा कि अगर उसने सुबह किसी को इसके बारे में बताया होता, तो उसकी माँ की जान बचाई जा सकती थी। बता दें कि लड़के ने लखनऊ में अपनी माँ की हत्या करके शव को एक कमरे में बंद कर दिया और छोटी बहन को दूसरे कमरे में बंद कर दिया। पूछताछ के दौरान उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया और कहा कि वह अपनी माँ से पबजी नहीं खेलने देने से नाराज हो गया और रविवार आधी रात को अपने पिता की लाइसेंसी बंदूक से उसकी गोली मारकर हत्या कर दी।

इसके बाद उसने अपने दोस्त को भी फोन किया था और बंदूक की नोक पर उसे धमकाया था कि वह शव को ठिकाने लगाने में मदद करे। लड़के ने उसे 5000 रुपए का ऑफर भी दिया और कहा कि वह इस घटना के बारे में किसी को न बताए। ये भी पता चला है कि उसकी माँ 10 घंटे तक तड़पती रही थी और बेटा मरने का इंतजार करता रहा।

गौरतलब है कि घटना लखनऊ के पीजीआई इलाके की है। यहाँ एल्डिको कॉलोनी में 40 वर्षीय साधना अपने 16 साल के बेटे और 10 साल की बेटी के साथ रहती थीं। साधना के पति आर्मी ऑफिसर हैं, जो कोलकाता में रहते हैं। साधना का बेटा पबजी गेम का आदी है। जब उसे गेम खेलने से रोका जाता तो वह अपनी माँ से झगड़ा करने लग जाता था। इसके बावजूद उसकी माँ उसे पबजी नहीं खेलने के लिए लगातार टोकती रहती थी। माँ ने रविवार (5 जून, 2022) को एक बार फिर बेटे को पबजी गेम खेलने से रोका। इस पर आगबबूला बेटे ने अपने पिता की लाइसेंसी पिस्टल से माँ के सिर में गोली दाग दी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी गैर-जिम्मेदाराना’: रिटायर्ड जज ने सुनाई खरी-खरी, कहा – यही करना है तो नेता बन जाएँ, जज क्यों...

दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एसएन ढींगरा ने मीडिया में आकर बताया है कि वो सुप्रीम कोर्ट के जजों की टिप्पणी पर क्या सोचते हैं।

‘क्या किसी हिन्दू ने शिव जी के नाम पर हत्या की?’: उदयपुर घटना की निंदा करने पर अभिनेत्री को गला काटने की धमकी, कहा...

टीवी अभिनेत्री निहारिका तिवारी ने उदयपुर में कन्हैया लाल तेली की जघन्य हत्या की निंदा क्या की, उन्हें इस्लामी कट्टरपंथी गला काटने की धमकी दे रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,399FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe