Wednesday, October 20, 2021
Homeदेश-समाजसहारनपुर: मस्जिद में हो रही थी सामूहिक नमाज, पुलिस पहुँची तो उठ कर भागे...

सहारनपुर: मस्जिद में हो रही थी सामूहिक नमाज, पुलिस पहुँची तो उठ कर भागे नमाजी, 15 गिरफ्तार, 30 के खिलाफ FIR

पुलिस ने मस्जिद से एहसान, शेरदिल, फरमान, शाकिर, परवेज, यामीन, हम्माद, इसराइल, सद्दाम, दिलशाद, मरगूब, सलमान, जरीफ, साबिर व आलिम को मौके से गिरफ्तार किया है, हालाँकि कुछ लोग मौके से भाग जाने में सफल रहे। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 30 लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

उत्तर प्रदेश के जिला सहारनपुर की एक मस्जिद में कुछ लोग सामूहिक नमाज अदा करने के लिए पहुँच गए। सूचना पर पहुँची पुलिस को देख नमाजियों में भगदड़ मच गई। पुलिस ने मौके से 15 नमाजियों को गिरफ्तार किया है, साथ ही 30 लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

जानकारी के मुताबिक जिला सहारनपुर क्षेत्र के गाँव उमाही कला की जकरिया मस्जिद में शुक्रवार (मई 1, 2020) को बड़ी संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोग लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करते हुए नमाज अदा करने के लिए इकट्ठा हो गए और सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियाँ उड़ाते हुए सामूहिक रूप से नमाज अदा करने लगे।

इस बात की जानकारी जैसे ही पुलिस को हुई वह तत्काल टीम के साथ मौके पर पहुँच गई। पुलिस को देख मस्जिद में नमाज अदा कर रहे लोगों के बीच भगदड़ मच गई। इस दौरान पुलिस ने सक्रीयता दिखाते हुए 15 लोगों को मौके से गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने मस्जिद से एहसान, शेरदिल, फरमान, शाकिर, परवेज, यामीन, हम्माद, इसराइल, सद्दाम, दिलशाद, मरगूब, सलमान, जरीफ, साबिर व आलिम को मौके से गिरफ्तार किया है, हालाँकि कुछ लोग मौके से भाग जाने में सफल रहे। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 15 नामजद और 15 अज्ञात मिलाकर 30 लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

पुलिस अधिकारियों ने माहौल को देखते हुए गाँव में पीएसी बल तैनात कर दिया है। थाना प्रभारी जितेंद्र सिंह ने बताया कि 15 नामजद, जबकि 15 अन्य अज्ञात के खिलाफ धारा 188, 269, 270 सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। गिरफ्तार किए गए सभी लोगों को जेल भेज दिया है। 

एसपी (देहात) विद्यासागर मिश्रा ने बताया कि जिले में सभी को यह आगाह किया गया है कि कोई भी सामूहिक रूप से मस्जिद में नमाज नहीं पड़ेगा, क्योंकि इससे लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन होता है। सोशल डिस्टेंसिंग न होने से कोरोना वायरस फैलने का खतरा भी बढ़ जाता है। चेतावनी के बावजूद एक मस्जिद में सामूहिक नमाज हो रही थी, जो लोग पुलिस को देख भाग निकले उनकी पहचान कराई जा रही है।

इससे पहले भी गुरुवार को असम के लखीमपुर जिले के दक्खिन पंडोवा गाँव की एक मस्जिद में कुछ लोग लॉकडाउन का उल्लंघन कर नमाज अदा करने के लिए एकत्र हो गए थे। इसकी जानकारी मिलने पर जब पुलिस टीम मौके पर पहुँची तो उसमें मस्जिद में 12 लोगों को पाया। इसके बाद जैसे ही पुलिस की टीम मस्जिद से निकली उस पर पथराव शुरू हो गया।

इसमें ग्राम प्रधान सहित चार पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। वहीं पथराव में पुलिस का वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गया था। इस मामले में पुलिस ने इमाम सहित 12 लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभी जेल में ही गुजरेंगी आर्यन खान की रातें, SRK के लाडले को नहीं मिली जमानत: पेश हुए थे दो-दो बड़े वकील

ड्रग्स मामले में शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन खान को बुधवार (20 अक्टूबर, 2021) को भी जमानत नहीं मिली। स्पेशल NDPS कोर्ट ने नहीं दिया बेल।

‘इस्लाम ही एकमात्र समाधान है’: कानपुर में बिल की पर्ची से भी मजहबी प्रसार, IAS इफ्तिखारुद्दीन की भी यही भाषा

उत्तर प्रदेश स्थित कानपुर के कुछ कारोबारी व्यापारिक प्रतिष्ठानों के माध्यम से जिहादी विचारधारा फैला रहे हैं। ये लोग इस्लामी धर्मांतरण को बढ़ावा देने वाले IAS इफ्तिखारुद्दीन से प्रेरित हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,199FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe