Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाजगैंगस्टर व‍िकास दुबे की पत्‍नी और बेटे को लखनऊ में एसटीएफ ने किया गिरफ्तार,...

गैंगस्टर व‍िकास दुबे की पत्‍नी और बेटे को लखनऊ में एसटीएफ ने किया गिरफ्तार, नौकर को भी दौड़ाकर पकड़ा

कानपुर देहात में आठ पुलिस कर्मियों की बर्बर हत्या के आरोपित विकास दुबे की पत्नी रिचा दुबे उर्फ सोना व उनके बेटे अब एसटीएफ की गिरफ्त में हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, दोनों कृष्णा नगर के नारायणपुरी मोहल्ले में एक खाली प्लाट के पास से पकड़े गए हैं।

पाँच लाख रुपए के इनामी गैंगस्टर विकास दुबे की आज सुबह उज्‍जैन में गिरफ़्तारी के बाद अब शाम को उसकी पत्‍नी और बेटे को भी एसटीएफ ने गिरफ्तार कर ल‍िया है। पत्नी ऋचा और बेटे को उत्तर प्रदेश पुलिस ने लखनऊ केे कृष्णानगर इलाके से गिरफ्तार क‍िया है। 

गौरतलब है कि कानपुर देहात में आठ पुलिस कर्मियों की बर्बर हत्या के आरोपित विकास दुबे की पत्नी रिचा दुबे उर्फ सोना व उनके बेटे अब एसटीएफ की गिरफ्त में हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, दोनों कृष्णा नगर के नारायणपुरी मोहल्ले में एक खाली प्लाट के पास से पकड़े गए हैं। इसके साथ ही विकास दुबे के नौकर को भी पुलिस ने पकड़ लिया है।

सुबह विकास दुबे को भी मध्य प्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के वक्त विकास के पास से पुलिस ने एक बैग बरामद किया था। जिसमें कुछ कपड़े, एक मोबाइल, उसका चार्जर और कुछ कागजात थे। जिसको देख कर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि विकास हर वक्त पूरी तैयारी में रहता था।

विकास दुबे फरारी के समय मोबाइल का इस्तेमाल बहुत ही कम करता था। और बाकी समय उसे स्विच ऑफ ही रखता था। गत 6 दिनों में उसने कई लोगों से संपर्क किया था। जिसकी पुलिस अब जाँच कर रही है।

खबरों के अनुसार विकास दुबे की पहचान सबसे पहले फूलवालें ने की थी। जब वह टिकट लेने के बाद फूल वाले के पास बिना मास्क के पहुँचा था।

वहीं विकास दुबे के पकड़े जाने के बाद उसकी माँ ने उसे कड़ी सजा देने की माँग की है। उन्होंने कहा, “हमको टीवी देख कर पता चला विकास को पकड़ लिया गया है। हम सरकार से कोई अपील नहीं करेंगे, जिनको अपील करना है, वह लोग खुद अपील करेंगे कि विकास को क्या सजा दी जाए।”

उसकी माँ ने यह भी बताया कि विकास दुबे हर साल उज्जैन के महाकाल मंदिर जाता था। विकास दुबे का उज्जैन में ससुराल भी है।

विकास दुबे की माँ सरला देवी ने यह भी कहा, “सरकार जो उचित समझे वो करे, हमारे कहने से कुछ नहीं होगा। मेरा बेटा बीजेपी में नहीं, सपा में है और महाकाल ने विकास को बचा लिया।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,137FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe