Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाज'खाने में जहर दे सकती है राज्य सरकार': योगी सरकार की सख्ती से डरा...

‘खाने में जहर दे सकती है राज्य सरकार’: योगी सरकार की सख्ती से डरा मुख्तार अंसारी, कोर्ट में अर्जी देकर माँगी विशेष सुविधा

मुख्तार ने कहा, “राज्य सरकार मुझसे नाखुश है। ऐसे में हो सकता है कि मुझे खाने में जहर दे दिया जाए।” उसने आगे कहा कि अगर उसे जेल में उच्च श्रेणी मिल जाती है तो उसके मन से डर खत्म हो जाएगा।

यूपी के बांदा जेल में बंद मुख्तार अंसारी ने एक बार फिर अपनी जान का खतरा जताया है। मुख्तार ने एमपी एमएलए विशेष कोर्ट में वर्चुअल पेशी के दौरान अपनी हत्या की आशंका जाहिर की है। उन्होंने कहा कि खाने में जहर देकर भी मारा जा सकता है। क्योंकि सरकार ‘नाराज’ चल रही है। उन्होंने उच्च श्रेणी की सुविधा को लेकर न्यायालय में पत्र भी दिया।

उसके वकील रणधीर सिंह सुमन के अनुसार मुख़्तार अंसारी ने वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित एक सुनवाई के दौरान बाराबंकी के विशेष सत्र न्यायाधीश कमलकांत श्रीवास्तव से अनुरोध किया। मुख्तार ने कहा, “राज्य सरकार मुझसे नाखुश है। ऐसे में हो सकता है कि मुझे खाने में जहर दे दिया जाए।” उसने आगे कहा कि अगर उसे जेल में उच्च श्रेणी मिल जाती है तो उसके मन से डर खत्म हो जाएगा। 

गैंगस्टर के वकील ने अदालत में दलील दी कि उसका मुवक्किल उच्च श्रेणी का कैदी है, लेकिन राज्य सरकार और जिला मजिस्ट्रेट जेल में मुख्तार अंसारी को उच्च श्रेणी की सुविधा नहीं दे रहे हैं। इसलिए उन्होंने अदालत से आग्रह किया कि वह अंसारी को यह सुविधा देने के लिए अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करें। मुख्तार के वकील ने बताया कि जेल मैनुअल के तहत उच्च श्रेणी मुहैया करवाने की अर्जी दी थी। उन्होंने बताया कि मुख्तार को उच्च श्रेणी सुरक्षा देने के मामले में सुनवाई के लिए अगली तारीख सात अक्टूबर तय की गई है। वकील ने बताया कि जज ने कहा है कि वो इस मामले में जल्द ही फैसला लेंगे।

इससे पहले अगस्त में सुनवाई के दौरान मुख्तार ने आरोप लगाया था कि उसे जेल के अंदर मारने के लिए 5 करोड़ रुपए की सुपारी दी गई है। अंसारी को पंजाब में अदालतों और जेल के बीच ले जाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली बुलेटप्रूफ एम्बुलेंस के रजिस्ट्रेशन में जालसाजी और धोखाधड़ी के एक मामले में अदालत में पेश किया गया था। हाल ही में पंजाब के रोपड़ जेल से लाए जाने के बाद अंसारी कई आपराधिक मामलों में बांदा जेल में बंद है। इससे पहले भी कई बार मुख्तार पेशी के दौरान खुद की जान का खतरा जता चुका है।

गौरतलब है कि 03 अगस्त 2021 को यूपी सरकार द्वारा कुख्यात माफिया और अपराधी मुख्तार अंसारी से जुड़ी लगभग 2 करोड़ 18 लाख रुपए मूल्य की संपत्ति की कुर्की की गई थी। यह संपत्ति अंसारी की बीवी और उसके सालों के नाम पर थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक बीते एक साल में अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी समेत 25 माफियाओं की 11 अरब 28 करोड़ 23 लाख 97 हजार 846 रुपए की संपत्तियाँ जब्त की गई हैं। 

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

US में पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लगी गोली, हमलावर सहित 2 की मौत: PM मोदी ने जताया दुख, कहा- ‘राजनीति में हिंसा की...

गोलीबारी के दौरान सुरक्षाबलों ने हमलावर को मार गिराया। इस हमले में डोनाल्ड ट्रंप घायल हो गए और उनके कान से निकला खून उनके चेहरे पर दिखा।

छात्र झारखंड के, राष्ट्रगान बांग्लादेश-पाकिस्तान का, जनजातीय लड़कियों से ‘लव जिहाद’, फिर ‘लैंड जिहाद’: HC चिंतित, मरांडी ने की NIA जाँच की माँग

झारखंड में जनजातीय समाज की समस्या पर भाजपा विरोधी राजनीतिक दल भी चुप रहते हैं, जबकि वो खुद को पिछड़ों का रहनुमा कहते नहीं थकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -