Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाजउत्तराखंड में ग्लेशियर फटने से बाँध टूटने की खबर, तेज आवाज में नदी मचा...

उत्तराखंड में ग्लेशियर फटने से बाँध टूटने की खबर, तेज आवाज में नदी मचा रही तांडव: CM रावत ने कहा – ‘अफवाहों से बचें’

पानी के तेज बहाव के मद्देनजर कीर्ति नगर, देवप्रयाग, मुनि की रेती इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया। ऋषिकेश से लेकर हरिद्वार तक अलर्ट जारी। धौली गंगा घाटी स्थित रैनी नामक गाँव में ग्लेशियर फटने की घटना के बाद...

उत्तराखंड के चमोली से सोशल मीडिया पर कई वीडियो वायरल हो रहे हैं, जिनमें तूफ़ान आने की बातें कही जा रही हैं। मीडिया में कहा जा रहा है कि ग्लेशियर के फटने से पॉवर प्रोजेक्ट का बाँध टूट गया, जिससे ये घटना हुई है।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि चमोली ज़िले से एक आपदा का समाचार मिला है। उन्होंने बताया कि ज़िला प्रशासन, पुलिस विभाग और आपदा प्रबंधन को इस आपदा से निपटने की आदेश दे दिए हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के अनुसार:

“चमोली के रिणी गाँव में ऋषिगंगा प्रोजेक्ट को भारी बारिश व अचानक पानी आने से क्षति की संभावना है। नदी में अचानक पाने आने से अलकनंदा के निचले क्षेत्रों में भी बाढ़ की संभावना है। तटीय क्षेत्रों में लोगों को अलर्ट किया गया है। नदी किनारे बसे लोगों को क्षेत्र से हटाया जा रहा है। एहतियातन भागीरथी नदी का फ्लो रोक दिया गया है। अलकनन्दा का पानी का बहाव रोका जा सके, इसलिए श्रीनगर डैम तथा ऋषिकेष डैम को खाली करवा दिया है। SDRF अलर्ट पर है। मेरी आपसे विनती है अफवाहें न फैलाएँ। सरकारी प्रमाणिक सूचनाओं पर ही ध्यान दें। मैं स्वयं घटनास्थल के लिए रवाना हो रहा हूँ।”

मुख्यमंत्री ने लोगों को सलाह दी कि किसी भी प्रकार की अफ़वाहों पर ध्यान ना दें। साथ ही आश्वासन दिया कि सरकार सभी ज़रूरी कदम उठा रही है। NBT की खबर के अनुसार, पानी के तेज बहाव के मद्देनजर कीर्ति नगर, देवप्रयाग, मुनि की रेती इलाकों को अलर्ट पर रहने को कहा गया। पानी के बहाव में कई घरों के बहने की आशंका जताई जा रही है। वीडियोज में पहाड़ों के बीच तेज़ी से बहते पानी को देखा जा सकता है।

साथ ही पानी की लहरों की तेज़ आवाज़ को भी सुना जा सकता है। ऋषिकेश से लेकर हरिद्वार तक अलर्ट जारी किया गया है। ‘ज़ी यूपी-उत्तराखंड’ की खबर के अनुसार, धौली गंगा घाटी स्थित रैनी नामक गाँव में ग्लेशियर फटने की घटना हुई है, जिसके बाद तपोवन क्षेत्र में अलकनंदा नदी पर बना ऋषिगंगा जल विद्युत् परियोजना का बाँध टूट गया। वीडियोज को देखने से लगता है कि स्थानीय लोग घबराए हुए हैं और उन्हें घटना के बारे में स्पष्ट जानकारी पता नहीं है।

पोस्ट जोशीमठ के हेड कॉन्स्टेबल मंगल सिंह ने जानकारी दी कि रविवार (फ़रवरी 7, 2021) को सुबह के 11 बजे टीम रवाना हुई है। गौचर/श्रीनगर/रतूड़ा टीम को अलर्ट पर रखा गया है। बाढ़ जैसी स्थिति के बाद आपदा प्रबंधन विभाग, जल पुलिस, SDRF और जिला/पुलिस प्रशासन की टीम मौके पर है। भाजपा ने इस घटना के आलोक में स्कूटर रैली को रद्द कर दिया है। कहा जा रहा है कि उत्तराखंड सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत खुद चमोली में ग्लेशियर फटने के बाद उपजी स्थिति का जायजा लेने पहुँचेंगे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -