Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजरॉबर्ट वाड्रा को 'सत्य की जीत' की याद आई, ईडी लगातार कर रही...

रॉबर्ट वाड्रा को ‘सत्य की जीत’ की याद आई, ईडी लगातार कर रही है पूछताछ

वाड्रा ने अपने फ़ेसबुक पोस्ट में अपनी एक तस्वीर लगाई है और लिखा है, "सुप्रभात! मैं पूरे देश के अपने तमाम मित्रों और शुभचिंतकों का शुक्रिया अदा करना चाहूँगा जो इस समय में मेरे साथ खड़े हैं। मैं ठीक-ठाक हूँ।"

प्रियंका गाँधी के पति रॉबर्ट वाड्रा पिछले कुछ दिनों में ईडी द्वारा मनी लॉन्ड्रिंग और विदेश में बदनामी संपत्तियों को लेकर लम्बी पूछताछ के लिए बुलाए जा चुके हैं। शनिवार को भी उनसे कई घंटे पूछताछ की गई। आज (जनवरी 10, 2019) को उन्होंने सुबह में एक फ़ेसबुक पोस्ट लिखा है जिसमें सत्य की जीत की बात की है। 

वाड्रा ने अपने फ़ेसबुक पोस्ट में अपनी एक तस्वीर लगाई है और लिखा है, “सुप्रभात! मैं पूरे देश के अपने तमाम मित्रों और शुभचिंतकों का शुक्रिया अदा करना चाहूँगा जो इस समय में मेरे साथ खड़े हैं। मैं ठीक-ठाक हूँ और किसी भी परिस्थिति का सामना करने में मैं अपने आप को सक्षम पाता हूँ। सत्य की हमेशा जीत होती है। आप सबों का रविवार अच्छा बीते और आपका ये सप्ताह स्वास्थ्य और ख़ुशियाँ लाए।”

https://m.facebook.com/764044809/posts/10157100535029810

मनी लॉन्ड्रिंग और ज़मीन घोटालों को लकेर कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। दिल्ली समेत लंदन में हुए लैंड स्कैम को लेकर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) उनसे लगातार पूछताछ में जुटा है। शनिवार यानी 9 फ़रवरी को उनसे इस मामले में तीसरी बार पूछताछ हुई।

वाड्रा को अब 12 फ़रवरी को अपनी माँ मौरीन के साथ जयपुर स्थित ईडी के ऑफ़िस में पूछताछ के लिए पेश होना पड़ेगा। वाड्रा यहाँ ईडी निदेशालय के सामने बीकानेर के कोलायत में हुए ज़मीन ख़रीद के मामले में अपना पक्ष रखेंगे।

ख़बर की मानें तो राजस्थान हाईकोर्ट ने बीकानेर ज़िले के कोलायत क्षेत्र में 275 बीघा ज़मीन ख़रीद के मामले में रॉबर्ट वाड्रा और उनकी माँ को ईडी के सामने पेश होने का निर्देश दिया था। बता दें कि ईडी ने पिछले साल नवंबर के अंतिम सप्ताह में वाड्रा को तीसरी बार समन जारी किया था, लेकिन उन्होंने उसकी अनदेखी की थी।

पेशी को लेकर वाड्रा के वकील ने दलील दी थी कि उनके मुवक्किल जाँच में सहयोग के लिए तैयार हैं, लेकिन अभी वो अपनी बेटी के इलाज के लिए इंग्लैंड जा रहे हैं। जिस पर न्यायलय ने कहा था कि दोनों पक्षों के वकील पेशी की तारीख़ खु़द तय कर लें। जिसके बाद 12 फ़रवरी को वाड्रा और उनकी माँ को इस मामले में पेशी का आदेश दिया गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,052FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe