Sunday, June 26, 2022
Homeदेश-समाजजोधपुर में ईसाई धर्मान्तरण, भोले-भाले लोग बन रहे निशाना: अब चर्च के बाहर हनुमान...

जोधपुर में ईसाई धर्मान्तरण, भोले-भाले लोग बन रहे निशाना: अब चर्च के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे हिन्दू संगठन

इस मामले में वीएचपी और बजरंगदल का आरोप है कि चर्च के मिशनरी गरीब और भोले-भाले लोगों को बरगलाकर लगातार उनका धर्मान्तरण करा रहे हैं। विश्व हिन्दू परिषद के जिलाध्यक्ष संजय अग्रवाल ने कहा है कि 5 जून को संबंधित चर्च के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करने की रणनीति तैयार की गई है।

ईसाई मिशनरियों के धर्मान्तरण किए जाने कि समस्या दिन प्रतिदिन बड़ी होती जा रही है। पंजाब की ही तरह से राजस्थान के जोधपुर में हाल ही में एक चर्च ने कुछ हिन्दू परिवारों का धर्मान्तरण कराया था। इसके विरोध में अब विश्व हिन्दू परिषद और बजरंग दल ने 5 जून को उसी चर्च के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करने का ऐलान कर दिया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले में वीएचपी और बजरंगदल का आरोप है कि चर्च के मिशनरी गरीब और भोले-भाले लोगों को बरगला कर लगातार उनका धर्मान्तरण करा रहे हैं। विश्व हिन्दू परिषद के जिलाध्यक्ष संजय अग्रवाल ने कहा है कि 5 जून को संबंधित चर्च के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करने की रणनीति तैयार की गई है। इसके बाद वीएचपी का एक प्रतिनिधि मंडल राजस्थान के सभी विधायकों से जाकर मिलेगा \और उनको एक पत्र देकर उनसे राजस्थान विधानसभा में धर्मान्तरण के मामले को उठाने और इसके विरोध में अन्य राज्यों की तर्ज पर राज्य सरकार भी एक कानून बनाए। ताकि इस तरह की घटनाओं को रोका जा सके।

वीएचपी नेता ने दो दिन पहले चर्च के मिशनरियों द्वारा कराए गए धर्मान्तरण पर पुलिस की निष्क्रियता पर सवाल खड़ा किया। साथ ही दावा किया कि ईसाई मिशनरियों को सरकार का संरक्षण मिला हुआ है। इसी तरह से वीएचपी के ही एक अन्य नेता ने आरोप लगाया कि ईशाई मिशनरी और मुस्लिम लगातार देश को तोड़ने की साजिशें रच रहे हैं। इसके साथ ही लोगों में धर्मान्तरण के प्रति जागरुकता बढ़ाने के लिए वीएचपी घर-घर जाकर जनजागरण का कार्य करेगा।

संजय अग्रवाल के मुताबिक, वीएचपी ने कुड़ी हाउसिंग बोर्ड में 15 से अधिक परिवारों से बातचीत की है, जिससे ये पता चला है कि इलाके के करीब 150 से अधिक परिवार ईसाई मिशनरियों के संपर्क में हैं। प्रत्येक रविवार को सेवा बस्ती से लोगों को ईसाई मिशनरी बसों के जरिए ले जाते हैं और उनको लालच देकर लगातार धर्मान्तरण की कोशिशें की जा रही हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘गुवाहाटी से आएँगी 40 लाशें, पोस्टमॉर्टम के लिए भेजेंगे’: संजय राउत ने कामाख्या मंदिर और छठ पूजा को भी नहीं छोड़ा, कहा – मोदी-शाह...

संजय राउत ने कहा "हम शिवसेना हैं, हमारा डर ऐसा है कि हमें देख कर मोदी-शाह भी रास्ता बदल लेते हैं।" कामाख्या मंदिर और छठ पर्व का भी अपमान।

‘हाऊ कैन यू रोक’ : आजमगढ़ में निरहुआ से चुनाव हार कर अखिलेश यादव के भाई भूल गए अंग्रेजी, Video देख नहीं रुकेगी हँसी

आजमगढ़ उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के कैंडिडेट और अखिलेश यादव के भाई धर्मेंद्र यादव ने पुलिस अधिकारियों से की तू-तू, मैं-मैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,523FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe