Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजसचिन वाजे मनसुख हिरेन के पोस्टमार्टम के समय मौजूद था अस्पताल के बाहर: वीडियो...

सचिन वाजे मनसुख हिरेन के पोस्टमार्टम के समय मौजूद था अस्पताल के बाहर: वीडियो फुटेज से हुआ बड़ा खुलासा

ये वीडियो इसलिए भी अहम है क्योंकि 3 मार्च को सचिन वाजे ने एंटीलिया बम केस को अपने हाथ में लिया और जब हिरेन की मौत का मामला 5 मार्च को उजागर हुआ तब वह रात में अस्पताल में भी पहुँच गया। ऐसे में सवाल उठता है कि वह आखिर अस्पताल में कर क्या रहे थे।

मुंबई के एंटीलिया केस में काली स्कॉर्पियो के मालिक मनसुख हिरेन की मौत के मामले में निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे से जुड़ा एक नया खुलासा हुआ है। रिपब्लिक टीवी के अनुसार, उन्हें एक वीडियो मिली है जिससे पता चला है कि जिस दिन हिरेन का शव ठाणे के अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया उस दिन वाजे अस्पातल के बाहर ही था।

समाचार चैनल द्वारा जारी की गई वीडियो फुटेज में देख सकते हैं कि 5 मार्च 2021 को वाजे अस्पताल के बाहर खड़े होकर कुछ अधिकारियों से बात कर रहा था। रिपोर्ट्स के अनुसार, ये वीडियो इसलिए भी अहम है क्योंकि 3 मार्च को सचिन वाजे ने एंटीलिया बम केस को अपने हाथ में लिया और जब हिरेन की मौत का मामला 5 मार्च को उजागर हुआ तब वह रात में अस्पताल में भी पहुँच गया। ऐसे में सवाल उठता है कि वह आखिर अस्पताल में कर क्या रहे थे।

बता दें कि मनसुख हिरेन की मौत की जाँच अब नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) कर रही है। फिलहाल वाजे 25 मार्च तक उन्हीं की हिरासत में है। शुक्रवार की रात एनआईए, एक फॉरेंसिक टीम के साथ मिल कर वाजे को क्राइम सीन पर लेकर गई थी। पुलिस के पास वीडियोज हैं जिसमें वाजे को घटनास्थल के पास जाते देखा जा सकता है।

इससे पहले चूँकि सचिन वाजे के ही एक स्टाफ ने इस बात की पुष्टि की थी कि घटनास्थल पर कि पीपीई किट में नजर आने वाला शख्स कोई और नहीं बल्कि खुद सचिन वाजे ही है। इसलिए NIA ने इन्हीं बिंदुओं पर वाजे को क्राइम सीन पर ले जाकर उसे ओवर साइज कुर्ता पहनवाया, मुँह पर मास्क और सिर पर रुमाल बाँधा ताकि पूरा सीन रीक्रिएट हो सके।

पिछले हफ्ते NIA ने सचिन लाजे के लैपटॉप, कुछ मोबाइल फोन, आईपैड और दस्तावेज कब्जे में लिए थे। गुरुवार को वाजे के घर और कार्यालय से कई कारें बरामद हुईं थीं, जिसके बाद वाजे पर दोबारा शक गहरा गया। NIA ने इसी केस में एक मर्सिडीज कार भी बरामद की थी। कार से 5 लाख रुपए की नकद राशि, कुछ कपड़े और एक कैश काउंटिंग मशीन बरामद हुई थी। इसी मर्सिडीज से वो नंबर प्लेट भी मिली, जो एंटीलिया के बाहर खड़ी स्कॉर्पियों पर थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साँवरें के रंग में रंगी हरियाणा की तेजतर्रार महिला IPS भारती अरोड़ा, श्रीकृष्‍ण भक्ति के लिए माँगी 10 साल पहले स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने इस खबर की पुष्टि की है। उन्होंने बताया है कि अंबाला रेंज की आइजी भारती अरोड़ा ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है।

‘मोदी सिर्फ हिंदुओं की सुनते हैं, पाकिस्तान से लड़ते हैं’: दिल्ली HC में हर्ष मंदर के बाल गृह को लेकर NCPCR ने किए चौंकाने...

एनसीपीसीआर ने यह भी पाया कि बड़े लड़कों को भी विरोध स्थलों पर भेजा गया था। बच्चों को विरोध के लिए भेजना किशोर न्याय अधिनियम, 2015 की धारा 83(2) का उल्लंघन है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,660FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe