Friday, May 31, 2024
Homeदेश-समाजवृंदावन: साधु तमाल दास के साथ हुई मारपीट को पुलिस ने कहा आपसी झगड़ा,...

वृंदावन: साधु तमाल दास के साथ हुई मारपीट को पुलिस ने कहा आपसी झगड़ा, एक गिरफ्तार, बाकी की खोज जारी

पुलिस ने बताया कि इस कांड के मुख्य अभियुक्त सच्चिदानंद को पकड़ लिया गया है, जबकि गोविंदा और जगन्नाथ फरार हैं। पुलिस ने कहा कि फिलहाल इस मामले में कोई तहरीर नहीं आई है। बताया गया है कि तहरीर आने के बाद पुलिस इसकी जानकारी देगी।

मथुरा के वृन्दावन में साधु तमाल कृष्ण दास के साथ मारपीट कर उन्हें बुरी तरह जख्मी करने के मामले में यूपी पुलिस का बयान आया है। पुलिस के अनुसार, मठ की आपसी लड़ाई में ये घटना हुई।

वृन्दावन थाना क्षेत्र के इमली तला स्थित गौड़ीय मठ में हुए इस घटना पर बयान देते हुए क्षेत्राधिकारी सदर ने कहा कि जिस साधु के साथ मारपीट हुई, वो इस मठ के पूर्व अध्यक्ष हैं। वर्तमान में इस मठ के अध्यक्ष बीपी साधु हैं, जो फिलहाल बाहर गए हुए हैं। पुलिस ने बताया कि बीपी साधु के अनुयायियों और शिष्यों ने ही तमाल दास के साथ मारपीट की थी।

क्षेत्राधिकारी ने बताया कि इस कांड के मुख्य अभियुक्त सच्चिदानंद को पकड़ लिया गया है, जबकि गोविंदा और जगन्नाथ फरार हैं। पुलिस ने कहा कि फिलहाल इस मामले में कोई तहरीर नहीं आई है। बताया गया है कि तहरीर आने के बाद पुलिस इसकी जानकारी देगी।

मठ के सिक्यूरिटी गार्ड रोबिन सिंह द्वारा भी मारपीट किए जाने की ख़बर है। मथुरा पुलिस ने उस ट्वीट को कोट कर के जवाब दिया, जिसमें इन साधुओं की हत्या वाली खबर थी। उस ट्वीट में आरती अग्रवाल नामक महिला ने लिखा था कि एक वृद्ध वैष्णव साधु तमाल दास के साथ मारपीट हुई है, जो साधुओं के साथ देश भर में हो रही क्रूर घटनाओं की श्रेणी में आता है।

आरती अग्रवाल ने दावा किया था कि इनमें से 2 आरोपित बंगलादेशी हैं और बाकी फरार हैं। साथ ही इस ट्वीट में ये भी लिखा गया था कि पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है। इसी ट्वीट का जवाब देते हुए मथुरा पुलिस ने क्षेत्राधिकारी के बयान वाला वीडियो शेयर किया।

बता दें कि सोमवार (मई 11, 2020) की रात दस बजे एक फेसबुक पेज के माध्यम से वृंदावन के साधु तमाल कृष्ण दास पर हमले की खबर शेयर की गई थी। फेसबुक पेज ‘Vrindavan Homeless Cows Seva And Care’ ने साधु तमाल कृष्ण दास की तस्वीरों के साथ एक छोटा सा पोस्ट लिखा था

पोस्ट में लिखा गया, “वृंदावन के पुजारी पर क्रूर हमला: वृंदावन के इमलीताला मंदिर के मुख्य पुजारियों में से एक, बुजुर्ग वैष्णव संत श्री तमाल कृष्ण दास पर गुंजों ने निर्दयता से हमला किया। दो गुंडों के बारे में कहा जा रहा है कि वो बांग्लादेशी थे, बाकी बाहरी लोग। सारे गुंडे फरार हैं। मथुरा पुलिस इस मामले को रफा-दफा करना चाहती है। कृपया इसे शेयर करें।”

पोस्ट के साथ जो तस्वीरे शेयर की गई थीं, वो क्रूरता की एक कहानी समेटे हुए है। एक फोटो में साधु तमाल कृष्ण दास के सर पर चोट है और रक्त बह रहा है। दूसरे में वो असहाय से बैठे हुए हैं और उनके कुछ सामान (चश्मा आदि) कक्ष में रखे हुए हैं। तीसरी तस्वीर में उनके चेहरे पर हमले के भयावह निशान हैं, और वो इतने क्रूर हैं कि देख कर सिहरन होती है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

200+ रैली और रोडशो, 80 इंटरव्यू… 74 की उम्र में भी देश भर में अंत तक पिच पर टिके रहे PM नरेंद्र मोदी, आधे...

चुनाव प्रचार अभियान की अगुवाई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने। पूरे चुनाव में वो देश भर की यात्रा करते रहे, जनसभाओं को संबोधित करते रहे।

जहाँ माता कन्याकुमारी के ‘श्रीपाद’, 3 सागरों का होता है मिलन… वहाँ भारत माता के 2 ‘नरेंद्र’ का राष्ट्रीय चिंतन, विकसित भारत की हुंकार

स्वामी विवेकानंद का संन्यासी जीवन से पूर्व का नाम भी नरेंद्र था और भारत के प्रधानमंत्री भी नरेंद्र हैं। जगह भी वही है, शिला भी वही है और चिंतन का विषय भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -