Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजआतंकियों से जुड़े हो सकते हैं बंगाल पटाखा फैक्ट्री ब्लास्ट के तार, मालिक नूर...

आतंकियों से जुड़े हो सकते हैं बंगाल पटाखा फैक्ट्री ब्लास्ट के तार, मालिक नूर मोहम्मद गिरफ़्तार

पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कॉन्ग्रेस की मुस्लिम तुष्टिकरण की नीति के कारण आतंकी गतिविधियों में इजाफा हुआ है। इससे पहले कोलकाता से 100 किलोमीटर दूर बर्दवान में हुए एक ब्लास्ट में कई बांग्लादेशी जिहादियों के नाम सामने आए थे।

पश्चिम बंगाल के नॉर्थ 24 परगना जिले के नैहाटी में स्थित एक पटाखा फक्ट्री में आग लगने से 4 लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में फैक्ट्री के मालिक नूर हुसैन को गिरफ़्तार कर लिया है। उसके ख़िलाफ़ ‘एक्सीडेंटल मर्डर’ व अन्य धाराओं के तहत मुक़दमा दर्ज किया गया है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने काफ़ी देर तक नूर हुसैन से पूछताछ की। ब्लास्ट में मारे गए चारों व्यक्ति उस पटाखा फैक्ट्री में बतौर मजदूर कार्यरत थे। स्थानीय लोगों ने बताया कि धमाका इतना जबरदस्त था कि 3 किलोमीटर दूर तक आवाज सुनाई पड़ी। फैक्ट्री की छत का नामोनिशान तक मिट गया और दीवारें ढह गईं।

इतना बड़ा धमाका होने के कारण पुलिस को शक है कि फैक्ट्री में अवैध और प्रतिबंधित बम बनाए जा रहे थे। पटाखा फैक्ट्री के नाम पर बम बनाने की फैक्ट्री चलाई जा रही थी, स्थानीय लोगों ने ऐसा दावा किया है। भाजपा सांसद अर्जुन सिंह ने आशंका जताई कि इस फैक्ट्री का सम्बन्ध आईएसआई या अन्य आतंकी संगठनों से हो सकता है। उन्होंने कहा कि इलाक़े में कई ऐसी फैक्ट्रियाँ हैं, जहाँ पटाखों के नाम पर प्रतिबंधित बम बनाए जाते हैं। उन्होंने इन फैक्ट्रियों के टेरर लिंक की जाँच एनआईए से कराने की माँग की। फैक्ट्री में क्रूड बम बनाने जाने की सम्भावना राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने भी जताई है। उन्होंने इस मामले की जाँच किए जाने की बात कही।

पश्चिम बंगाल के अवैध बम फक्ट्री में भीषण ब्लास्ट

राज्यपाल ने कहा कि वो नैहाटी के मस्जिदपारा में हुए ब्लास्ट से हैरान हैं और 4 मौतों के कारण दुःखी हैं। उन्होंने कहा कि इसके लिए हर स्तर पर जो भी लोग जिम्मेदार हैं, उनकी पहचान होनी चाहिए। राज्यपाल ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को सम्बोधित करते हुए ये बातें कही। पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कॉन्ग्रेस की मुस्लिम तुष्टिकरण की नीति के कारण आतंकी गतिविधियों में इजाफा हुआ है। कोलकाता से 100 किलोमीटर दूर बर्दवान में हुए एक ब्लास्ट में कई बांग्लादेशी जिहादियों के नाम सामने आए थे। इस घटना के बाद पता चला था कि बांग्लादेशी जिहादी राज्य को नए पनाहगार के रूप में प्रयोग कर रहे हैं।

उस ब्लास्ट में इंडियन मुजाहिद्दीन के 2 आतंकी मारे गए थे और एक व्यक्ति घायल हो गया था। इस ब्लास्ट के बाद तलाशी में भारी मात्रा में हथियार बरमाद किया गया था। मृतकों का नाम शकील अहमद और स्वप्न मंडल था। वहीं घायल की पहचान अब्दुल हामिद के रूप में हुई थी। इसके बाद एनआईए ने जाँच में कई ऐसे मदरसों को अपने रडार में लिया था, जहाँ आतंकियों को पनाह दी जा रही थी और आतंकी गतिविधियाँ खुलेआम संचालित की जा रही थी।

बंगाल के मदरसों में आतंकी गतिविधियाँ चला रहे हैं बांग्लादेश के संगठन: केंद्रीय गृह मंत्रालय

मदरसे में रह रहा था अलकायदा का खूँखार आतंकी कलीमुद्दीन, ATS ने जिहाद करने से पहले धर दबोचा

जहीरुल शेख इंदौर से गिरफ्तार: JMB का यह आतंकी बर्दवान धमाके का है मुख्य आरोपित

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,104FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe