Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजकरणी सेना अध्यक्ष की हत्या के बाद 2 बेटी (चीनू+ उर्वशी) भी चर्चा में:...

करणी सेना अध्यक्ष की हत्या के बाद 2 बेटी (चीनू+ उर्वशी) भी चर्चा में: एक का साजिश में आया नाम, दूसरी ने कहा- अब मैं सँभालूँगी पिता की विरासत

इस हत्याकांड की जाँच के लिए बनाई गई SIT के ADG (क्राइम) दिनेश MN ने बताया कि अब तक 200 संदिग्धों से पूछताछ की जा चुकी है। रोहित गोदारा के करीबी वीरेंद्र चारण की भी इस हत्याकांड में भूमिका का शक है।

राजस्थान के जयपुर में घर में घुस कर हुई ‘श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना’ के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या में लॉरेंस बिश्नोई के गुर्गों संपत राय और रोहित गोदारा का नाम सामने आया है। अब इसमें एक चीनू नाम की लड़की का नाम भी सामने आ रहा है। राजस्थान पुलिस की एनकाउंटर में मारे गए आनंदपाल सिंह की बेटी चीनू अब उसके गैंग को दुबई से ऑपरेट कर रही है। आनंदपाल सिंह के एनकाउंटर के बाद उनके शव के साथ गोगामेड़ी ने लंबा प्रदर्शन किया था।

वहीं रोहित गोदारा बीकानेर के कालू थाना क्षेत्र का रहने वाला है और वो भी दुबई से ही गैंग चला रहा है। संपत राय पंजाब के बठिंडा के सेन्ट्रल में में बंद है, जिसे अब रोपड़ पुलिस लेकर गई है। संपत नेहरा का एक करीबी था अंकित भादू। उसके खिलाफ सुखदेव सिंह गोगामेड़ी ने सोशल मीडिया पर एक विवादित टिप्पणी की थी। वो बाद में पुलिस एनकाउंटर में मारा गया। उसके बाद भी गोगामेड़ी ने कुछ टिप्पणी की थी। तभी से संपत नेहरा उन्हें मरवाना चाहता था।

इस हत्याकांड की जाँच के लिए बनाई गई SIT के ADG (क्राइम) दिनेश MN ने बताया कि अब तक 200 संदिग्धों से पूछताछ की जा चुकी है। रोहित गोदारा के करीबी वीरेंद्र चारण की भी इस हत्याकांड में भूमिका का शक है। वो राजू ठेहट हत्याकांड में भी आरोपित है। उससे जुड़े 60 लोगों से पूछताछ की गई है। वहीं दोनों शूटरों रोहित राठौड़ और नितिन फौजी की तो तलाश है ही। वहीं चीनू का नाम भी राजू ठेहट हत्याकांड में आया था।

आनंदपाल सिंह की छोटी बेटी योगिता कँवर नागौर के साँवराद में परिवार के साथ रहती है, वहीं चीनू को पढ़ने के लिए दुबई भेजा गया था जहाँ से वो वापस ही नहीं आई। वो कई मामलों में वॉन्टेड है और इसीलिए पिता के अंतिम संस्कार तक में नहीं आई। राजू ठेहट हत्याकांड में पकड़े गए शक्ति सिंह ने चीनू का नाम लिया था। सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के लिए उनके घर में घुसने के लिए उनके परिचित नवीन सिंह शेखावत को जरिया बनाया गया था। हमलावरों ने मौके पर ही उसे भी मार डाला था।

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के अंतिम संस्कार के बाद उनकी बेटी उर्वशी मीडिया के सामने आई है। उन्होंने कहा कि उनके पिता को गद्दारों ने मारा है, लेकिन वो मरे नहीं बल्कि अमर हो गए हैं। उन्होंने कहा कि उनका परिवार किसी से डरने वाला नहीं है। उर्वशी ने कहा कि पाकिस्तान तक से उनके पिता को धमकी मिली, लेकिन राजस्थान सरकार ने सुरक्षा नहीं दी। उर्वशी ने कहा कि पिता की तरह वो भी लोगों की मदद के लिए खड़ी रहेंगी। उन्होंने हत्यारों के एनकाउंटर की माँग की। उन्होंने कहा कि हम नहीं डरेंगे, परिवार नहीं डरेगा।

उर्वशी ने कहा कि उनके पिता सर्व समाज के लिए खड़े रहते थे और वो किसी को भी ज़रूरत पड़े तो वो रात को भी खड़ी मिलूँगी। उन्होंने कहा कि अभी पुलिस ही पुलिस चारों तरफ दिख रही है, लेकिन उनके पिता को सुरक्षा नहीं दी गई। हत्या के 1 दिन पहले उनकी पिता से बाद हुई थी। हत्या के समय वो स्कूल में थी। उन्होंने कहा कि उनके पिता कहते थे कि राजनीति में आगे रहना है और मैं उसे पूरा करूँगी। उन्होंने पॉलिटिक्स को अपना लक्ष्य करार दिया।

वहीं आनंदपाल सिंह की बेटी चरणजीत सिंह ने इन आरोपों को नकार दिया है। एक वीडियो जारी कर के उन्होंने कहा है कि सुखदेव सिंह गोगामेड़ी उनके लिए हमेशा आदरणीय थे और उनकी हत्या से उन्हें दुःख हुआ है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -