Tuesday, September 28, 2021
Homeदेश-समाजबसपा सांसद पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली युवती की मौत, सुप्रीम कोर्ट के...

बसपा सांसद पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली युवती की मौत, सुप्रीम कोर्ट के बाहर दोस्त के साथ लगा ली थी आग

डॉक्टरों ने बताया कि हमने पीड़िता को बचाने का बहुत प्रयास किया, लेकिन सेप्टीसीमिया होने के कारण उसकी हालत बिगड़ती चली गई और आज सुबह साढ़े दस बजे करीब उसकी मौत हो गई।

उत्तर प्रदेश के मऊ के घोसी से बसपा सांसद अतुल राय पर रेप का आरोप लगाने वाली युवती की दिल्ली में मंगलवार (24 अगस्त) की सुबह मौत हो गई। पिछले हफ्ते (16 अगस्त) 24 वर्षीय रेप पीड़िता और उसके 27 वर्षीय दोस्त ने सुप्रीम कोर्ट के बाहर खुद को आग लगा ली थी। गंभीर हालत में दोनों को राममनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहाँ शनिवार (22 अगस्त) को युवती के साथी गाजीपुर निवासी सत्यम राय ने दम तोड़ दिया था।

डॉक्टरों ने बताया कि हमने पीड़िता को बचाने का बहुत प्रयास किया, लेकिन सेप्टीसीमिया होने के कारण उसकी हालत बिगड़ती चली गई और आज सुबह साढ़े दस बजे करीब उसकी मौत हो गई।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बलिया की रहने वाली पीड़िता ने लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान वाराणसी के लंका थाने में बसपा सांसद अतुल राय के खिलाफ बलात्कार का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई थी, लेकिन पुलिस के पकड़ने से पहले ही वह अंडर ग्राउंड हो गया था। चुनाव में जीत हासिल करते ही उसने सरेंडर कर दिया था। इसके बाद से वह नैनी जेल में बंद हैं।

गौरतलब है कि मृतका उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले की छात्रा थी और 16 अगस्त को अपने दोस्त के साथ दिल्ली आई थी। सांसद अतुल राय ने भी पीड़िता पर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया था। उसने पीड़िता के साथ रेप मामले में गवाह गाजीपुर के सत्यम राय के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। दोनों की गिरफ्तारी के लिए इसी महीने 2 अगस्त को वारंट भी जारी किया गया था।

इससे परेशान पीड़िता ने अपने दोस्त के साथ फेसबुक लाइव कर बनारस के तत्कालीन एसएसपी अमित पाठक समेत कई अधिकारियों पर संगीन आरोप लगाए। साथ ही आत्महत्या करने की बात भी कही, जिसे पुलिस ने गंभीरता से नहीं लिया। इसके बाद दोनों ने 16 अगस्त को केरोसिन डालकर सुप्रीम कोर्ट के गेट के बाहर खुद को आग लगा ली। उन्होंने एक फेसबुक लाइव वीडियो भी किया था, जिसमें कहा गया था कि घोसी के सांसद अतुल राय ने मेरे (युवती) साथ बलात्कार किया। दोनों ने आरोप लगाया था कि यूपी के वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी उनकी शिकायतों पर कार्रवाई नहीं कर रहे हैं।

बता दें कि दिल्ली पुलिस सुप्रीम कोर्ट के गेट के बाहर अपने सुरक्षा कर्मचारी के साथ दोनों की मदद के लिए पहुँची। वे उन्हें तत्काल राम मनोहर लोहिया अस्पताल लेकर गए। इस दौरान युवती 85 प्रतिशत झुलस गई थी, जबकि उसका दोस्त 70 प्रतिशत झुलस गया था।

दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र नेता रहे सत्यम की शनिवार को इलाज के दौरान मौत हो गई थी। उसके परिवार ने बताया कि कि वह युवती की अदालती मामले में मदद कर रहा था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,827FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe