Wednesday, September 22, 2021
Homeदेश-समाजरोहिंग्या घुसपैठिए, नाबालिग लड़कियों की तस्करी: खबर दिखाने पर YouTube ने बैन किया चैनल...

रोहिंग्या घुसपैठिए, नाबालिग लड़कियों की तस्करी: खबर दिखाने पर YouTube ने बैन किया चैनल – जानिए पूरा मामला

"आप भले नौकरी के लिए जूते घिस-घिस कर जवानी बर्बाद कर दें, रोहिंग्या घुसपैठियों को संविदा पर नौकरियाँ मिल रही हैं। सरकारी योजनाओं से राशन मिल रहा। और तो और, इन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर भी मिल रहा है।"

वीडियो प्लेटफॉर्म YouTube ने एक बार फिर से ‘बाबा’ के नाम से जाने जाने वाले रचित कौशिक के ‘सब लोकतंत्र’ चैनल को प्रतिबंधित कर दिया है। हमने इस सम्बन्ध में रचित कौशिक से भी बात की। लेकिन, उससे पहले हम आपको बताते हैं कि उस वीडियो में था क्या। हालाँकि, YouTube ने उस वीडियो को डिलीट कर दिया है लेकिन ऑपइंडिया के पास वो वीडियो मौजूद है। दरअसल, उस वीडियो में रोहिंग्या घुसपैठियों के खतरे से आगाह किया गया था।

YouTube ने बैन किया रचित कौशिक का चैनल: क्या था ‘सब लोकतंत्र’ के इस वीडियो में

इस वीडियो में रचित कौशिक ने पूछा था कि अगर आपके घर में चूहे बड़ी संख्या में हो गए हों और उनसे अपना सामान बचाने के लिए कपड़ों की अलमारी व रसोई वगैरह बंद रखना पड़ता हो तो क्या आप अपने घर का मुख्य द्वार खुला छोड़ेंगे? इसके बाद उन्होंने खुद ही इसका जवाब देते हुए कहा था कि आप ऐसा नहीं करेंगे, क्योंकि आपको पता है कि एक बार चूहे घर में घुस गए तो उन्हें निकालना बड़ा मुश्किल है।

रचित कौशिक ने ‘सब लोकतंत्र’ के इस वीडियो में इस बात पर अफ़सोस जताया था कि हमारी सरकारें व प्रशासन इसी चीज को नहीं समझता है। उन्होंने कहा था कि बांग्लादेशियों व रोहिंग्या मुस्लिमों का तो दूर, उन्हें उलटा यहाँ बसाया जा रहा है। इसके लिए उन्होंने उत्तर प्रदेश के ‘आतंकरोधी दस्ते (ATS)’ के बयान का जिक्र किया था। उनका अगला सवाल था कि आपका आधार या पैन कार्ड खो गया हो तो क्या करना पड़ता है?

फिर उन्होंने खुद ही इसका जवाब देते हुए कहा था कि इसके लिए काफी माथापच्ची व भागदौड़ करनी होगी, फिर काफी मशक्कत के बाद एकाध महीनों में ये दोबारा मिलेगा। लेकिन, इसके उलट घुसपैठियों को यहाँ प्रवेश करते ही ये सब मिल जाता है। उन्होंने ATS द्वारा दिल्ली से सटे गाजियाबाद से रोहिंग्या घुसपैठियों को हिरासत में लेने की घटना का जिक्र किया, जो मानव तस्करी में लगे थे। इसी तरह के अन्य घुसपैठियों के पास राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय पहचान पत्र मिले।

उन्होंने तंज कसा कि किस तरह हमारे देश का सिस्टम ‘एडवांस’ में काम करता है। उन्होंने बताया कि नाबालिग लड़कियों की तस्करी में फँसे गिरफ्तार तीन आरोपित ब्रह्मपुत्र मेल ट्रेन से भारत आए थे और उनमें से एक नुरुल इस्लाम बांग्लादेश का रहने वाला है जो फ़िलहाल त्रिपुरा में रह रहा था। बाक़ी दोनों के नाम रहमतुल्लाह और शबीब हैं। रचित कौशिक ने तंज कसा था कि इनका कोई मजहब नहीं था, क्योंकि आतंकवाद का कोई मजहब नहीं होता।

इन सभी आरोपितों के कागज़ात भारत आने से पहले ही इन्हें मिल गए थे और सरकारी योजनाओं का लाभ भी दिया जा रहा था। तीनों की तस्वीरें दिखाते हुए रचित कौशिक ने कहा था, “आप भले नौकरी के लिए जूते घिस-घिस कर जवानी बर्बाद कर दें, इन्हें संविदा पर नौकरियाँ मिल रही हैं। और तो और, इन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर भी मिल रहा है। लखनऊ ATS के दफ्तर में इनसे सघन पूछताछ हुई।”

तीनों आरोपितों में से एक त्रिपुरा में, एक जम्मू कश्मीर में और एक म्यांमार में रहता था। रचित कौशिक ने वीडियो में आगे कहा, “सोचिए, इनका जाल कहाँ तक बिछा हुआ है। ये अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तस्करी कर रहे हैं। इनसे हम तो हम, विधायक तक परेशान हैं। लोनी के विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने डीएम को पत्र लिख कर जाँच की माँग की है। विधानसभा में भी उन्होंने ये मुद्दा उठाया था। कैसे इन घुसपैठियों को कागज़ात मिल रहे?”

अंत में रचित कौशिक ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर तंज कसते हुए कहा था कि वहाँ एक ईमानदार सरकार है, इसीलिए घुसपैठिए वहीं बस रहे हैं। उन्होंने एक वर्ष पहले ही एक खबर भी साझा की, जिसमें बताया गया था कि कैसे मदनपुर खादर में 5.2 एकड़ जमीन रोहिंग्या मुस्लिमों ने कब्ज़ा ली थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि विधायक अमानतुल्लाह खान दिल्ली सरकार चला रहे हैं और उन्होंने ही वक़्फ़ बोर्ड के जरिए इन रोहिंग्यों का आधार कार्ड बनाया।

रचित ने बताया कि कैसे बिजली-पानी इन्हें मिलती थी और लॉकडाउन में राशन भी मिलता था। रचित कौशिक ने उस घटना को भी याद किया, जब दिल्ली में घुस कर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपनी उस जमीन को खाली कराई। रचित ने जनता को सलाह दी कि आपके टैक्स पर मुफ्त में बिजली-पानी-राशन लेने वाले लोगों को समझना चाहिए कि आपने बिजली बिल पर जो 4000 रुपए बचाए हैं, उनकी ही बदौलत ये लोग दिल्ली में आकर ऐसा कर रहे हैं।

रचित कौशिक ने ऑपइंडिया से की बात

ऑपइंडिया से बात करते हुए ‘सब लोकतंत्र’ YouTube चैनल के रचित कौशिक ने बताया कि जानबूझ कर उन्हें निशाना बनाया जा रहा है और आशंका जताई कि उनके खिलाफ मास रिपोर्टिंग की जा रही है। हाल ही में उन्होंने बॉलीवुड पर भी कई वीडियो बनाए थे। सैफ अली खान व करीना कपूर द्वारा अपने दूसरे बेटे का नाम जहाँगीर रखने की खबर आने के बाद उन्होंने इस पर वीडियो बनाया था।

रचित कौशिक को आशंका है कि बॉलीवुड की तरफ से भी उन्हें टारगेट करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने बताया कि वीडियो में जो भी ख़बरें हैं, वो मीडिया की ख़बरों से ही उठाई गई हैं। साथ ही उन्होंने पूछा कि अगर मीडिया में इसके छपने से कोई दिक्कत नहीं है तो फिर हमारे वीडियो बनाने पर रोक क्यों? ये दूसरी बार है जब ‘सब लोकतंत्र’ को YouTube ने इस तरह प्रतिबंधित किया है। तीसरी बार इसे प्रतिबंधित करने के बाद वो हमेशा के लिए चैनल डिलीट कर सकता है।

इससे पहले जुलाई 2021 के पहले हफ्ते में रचित कौशिक के यूट्यूब चैनल ‘सब लोकतंत्र‘ को 7 दिनों के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया था। YouTube का कहना था कि उनके चैनल ने ‘हेट स्पीच’ को आगे बढ़ाया है। इस बार भी ‘हेट स्पीच’ वाला राग ही यूट्यूब ने अलापा है। उस वीडियो में उन्होंने बताया था कि कैसे फरहान अख्तर की फिल्म ‘तूफ़ान’ के माध्यम से ‘लव जिहाद’ के गुप्त एजेंडे का महिमामंडन किया जा रहा है।

क्या है वीडियो में दिखाए गए खबर की सच्चाई?

अंत में हमने पड़ता की कि ‘सब लोकतंत्र’ YouTube चैनल के माध्यम से रचित कौशिक ने रोहिंग्या मुस्लिमों से सम्बंधित जो खबरें दिखाई थीं, उसकी सच्चाई क्या है? सबसे पहले बात रोहिंग्या घुसपैठियों की गिरफ़्तारी की। ये सच है कि यूपी एटीएस टीम ने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर म्यांमार और बांग्लादेश से महिलाओं और बच्चों को अवैध रूप से भारत लाकर बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार किया था।

जुलाई 2021 के अंतिम हफ्ते में मानव तस्करी के इस गिरोह का पर्दाफाश करने के लिए उत्तर प्रदेश की ATS टीम के 30 से अधिक अधिकारियों को करीब 36 घंटे से अधिक का एक ऑपरेशन चलाना पड़ा था। ‘ब्रह्मपुत्र मेल’ से ये दबोचे गए थे। इसी तरह गुवाहाटी रेलवे स्टेशन पर GRP ने रोहिंग्या घुसपैठियों के साथ-साथ रुपए लेकर उन्हें भारत में घुसाने वालों को भी गिरफ्तार किया था। ऐसी कई ख़बरें आती रहती हैं।

ये भी सच है कि ‘योगी का बुलडोजर’ दिल्ली में चला था और यूपी के सिंचाई विभाग ने रोहिंग्या घुसपैठियों से अपनी जमीन खाली कराई थी। जुलाई 2021 में ईद के अगले दिन राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के पास मदनपुर खादर में योगी सरकार ने रोहिंग्याओं के अवैध कब्जे से 150 करोड़ रुपए की जमीन खाली करवाई थी। पूरी कार्रवाई में सिंचाई विभाग की 2.10 हेक्टेयर जमीन मुक्त की गई थी। इस तरह से खबर भी सच है।

‘सरकारी योजना का लाभ घुसपैठियों को’ – लोनी के भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने लिखा था पत्र

ये भी सच है कि विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने गाजियाबाद के जिलाधिकारी को पत्र लिख कर डूडा में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 80% बांग्लादेशी घुसपैठियों व रोहिंग्या मुस्लिमों को आवंटन दिए जाने पर आपत्ति जताई थी। ये पत्र हमने ऊपर संलग्न किया है। उन्होंने कहा था कि कैसे घुसपैठियों के मूल निवास प्रमाण पत्र व जमीन के दस्तावेज भी बनाए गए हैं। संसद से 15 किलोमीटर दूर इस तरह की गड़बड़ी को उन्होंने संवेदनशील करार दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अनुपम कुमार सिंहhttp://anupamkrsin.wordpress.com
चम्पारण से. हमेशा राइट. भारतीय इतिहास, राजनीति और संस्कृति की समझ. बीआईटी मेसरा से कंप्यूटर साइंस में स्नातक.

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गुजरात के दुष्प्रचार में तल्लीन कॉन्ग्रेस क्या केरल पर पूछती है कोई सवाल, क्यों अंग विशेष में छिपा कर आता है सोना?

मुंद्रा पोर्ट पर ड्रग्स की बरामदगी को लेकर कॉन्ग्रेस पार्टी ने जो दुष्प्रचार किया, वह लगभग ढाई दशक से गुजरात के विरुद्ध चल रहे दुष्प्रचार का सबसे नया संस्करण है।

‘मुंबई डायरीज 26/11’: Amazon Prime पर इस्लामिक आतंकवाद को क्लीन चिट देने, हिन्दुओं को बुरा दिखाने का एक और प्रयास

26/11 हमले को Amazon Prime की वेब सीरीज में मु​सलमानों का महिमामंडन किया गया है। इसमें बताया गया है कि इस्लाम बुरा नहीं है। यह शांति और सहिष्णुता का धर्म है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,782FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe