Friday, December 2, 2022
Homeविचारराजनैतिक मुद्देसपा सांसद जया बच्चन मैडम, आपकी बॉलीवुड वाली 'थाली के छेद' का क्या हाल...

सपा सांसद जया बच्चन मैडम, आपकी बॉलीवुड वाली ‘थाली के छेद’ का क्या हाल है? शाहरुख खान के बेटे आर्यन पर कब बोलेंगी?

क्या जया बच्चन को याद नहीं है कि कोई एक आपराधिक घटना सामने आने के बाद कैसे उनकी ही 'थाली' के चट्टे-बट्टे भारतीय होने पर शर्म महसूस करने वाला प्लाकार्ड लेकर फोटो डालते हैं? फिर बॉलीवुड पर कोई शर्म करे तो उन्हें गुस्सा क्यों आता है?

समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन आजकल गायब हैं। अब जब आर्यन खान ड्रग्स मामले में गिरफ्तार हुए हैं, उन्हें बताना चाहिए कि ‘थाली के छेद’ का क्या हाल है। सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत के बाद जब बॉलीवुड का ड्रग्स कनेक्शन खुल कर सामने आया था, जब अभिनेता व सांसद रवि किशन ने इस समस्या पर बात की थी। इस पर सपा की राज्यसभा सांसद जया बच्चन ने ‘थाली में छेद’ वाला मुहावरा दिया था।

आगे बढ़ने से पहले बता दें कि तब दीपिका पादुकोण, रिया चक्रवर्ती, रकुल प्रीत सिंह और सारा अली खान समेत कई बॉलीवुड अभिनेत्रियों के नाम ड्रग्स मामले में सामने आए थे और इनसे NCB ने पूछताछ की थी। हाल ही में ऐसे ही एक मामले में अभिनेता अरमान कोहली को गिरफ्तार किया गया। सुशांत वाले मामले के बाद कई ड्रग पेडलर्स को पकड़ा गया, जो बॉलीवुड को ड्रग्स की सप्लाई कर रहे थे।

अब ताज़ा मामले पर आते हैं। शाहरुख़ खान बॉलीवुड का बड़ा नाम है। सच कहें तो पिछले 30 वर्षों में 90 के दशक के बाद गोविंदा के ढलान के बाद सबसे बड़ा नाम। उनकी तुलना अमिताभ बच्चन से होती आई है और उन्हें ‘बादशाह’ से लेकर ‘किंग’ तक के टाइटल दिए गए। आज उन्हीं का बेटा आर्यन खान मुंबई में एक जहाज पर रेव पार्टी करते हुए पकड़ाया है। अदालत ने उसे 1 दिन के लिए NCB की कस्टडी में भेजा है।

आर्यन खान के पास से 13 ग्राम कोकीन, 5 ग्राम MD(Mephedrone) 21 ग्राम चरस, MDMA (Ecstasy) की 22 गोलियाँ और 1.13 लाख रुपए बरामद हुए हैं। NCB ने अदालत को बताया कि पूरे एक दिन की छापेमारी के बाद ये चीजें जब्त की गई हैं। व्हाट्सएप चैट्स के माध्यम से ड्रग सप्लायर्स और पेडलर्स का नेटवर्क काम कर रहा था। उनके वकील का दावा है कि उन्हें आयोजकों ने बुलाया था और उनके पास बोर्डिंग पास भी नहीं था।

अब जरा इतिहास की बात कर लें। जया बच्चन की बात कर लें। सितंबर 2020 में जया बच्चन ने राज्यसभा के माध्यम से दावा किया था कि लोग बॉलीवुड को बदनाम करने में लगे हुए हैं। उन्होंने अपने भाषण में आँकड़े गिनाए थे कि मनोरंजन इंडस्ट्री हर रोज 5 लाख लोगों और अप्रत्यक्ष रूप से 50 लाख लोगों को को प्रत्यक्ष रोजगार देती है। उन्होंने बॉलीवुड की वित्तीय स्थति को गड़बड़ बताया था।

इसके बाद उन्होंने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा था कि इन्हीं मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए सोशल मीडिया के माध्यम से बॉलीवुड को बदनाम किया जा रहा है और सरकार भी उनका समर्थन नहीं कर रही। उनका दावा था कि इस इंडस्ट्री से नाम बनाने वाले लोगों ने इसे ‘गटर’ कहा है, जो यहीं से पैसा कमाते हैं। उन्होंने कई फ़िल्मी हस्तियों द्वारा ज्यादा टैक्स देने की बात करते हुए कहा था कि सरकार का हमेशा मनोरंजन इंडस्ट्री साथ देती रही है तो सरकार भी उनका साथ दें।

जया बच्चन क्या आज इसी ऊर्जा के साथ सामने आकर आर्यन खान मामले में कुछ बोलेंगी?

यहाँ ये सवाल ज़रूरी है कि ये कौन सा ‘साथ’ है, जो बॉलीवुड ने आज तक सरकार को दिया है? समाज में ब्राह्मणों, ठाकुरों और वैश्यों को गुंडा दिखा-दिखा कर बॉलीवुड ने कमाई की है। लड़कियों का पीछा करने को सामान्य बनाया है, ‘रोमियो’ बनने का महिमामंडन किया है। कई बार बलात्कार तक का महिमामंडन किया है। हमेशा मुस्लिमों को अच्छा और आतंकियों तक का ‘अच्छा चरित्र’ दिखाने की कोशिश की है।

इसीलिए, आज कई लोग बॉलीवुड को ‘उर्दूवुड’ भी कहते हैं। यहाँ पूरे भारत की मनोरंजन इंडस्ट्री की बात करने वाली जया बच्चन को पता होना चाहिए कि बॉलीवुड के अलावा तमिल, तेलुगु, कन्नड़ और मलयालम जैसी बड़ी दक्षिण भारतीय मनोरंजन इंडस्ट्री भी है देश में। इसके अलावा भोजपुरी, उड़िया और बांग्ला में भी फ़िल्में बनती हैं। सबका ठेका बॉलीवुड ने नहीं ले रखा है। रवि किशन ने नाम बॉलीवुड नहीं, भोजपुरी से कमाया। बॉलीवुड में तो उन्हें अच्छे किरदार अधिकतर दिए ही नहीं गए।

‘जिस थाली में खाते हैं, उसी में छेद करते हैं। ये गलत बात है।’ – जया बच्चन का ये बयान उसी मानसिकता को दर्शाता है, जिसके तहत कुछ लोग पूरे बॉलीवुड को अपना एकाधिकार मान कर च रहे हैं। जहाँ, कंगना रनौत और रवि किशन जैसों के लिए जगह नहीं है। जया बच्चन को पता होना चाहिए कि जब बॉलीवुड सुपरस्टार्स के बच्चे ही ऐसे कामों में लगे हैं तो बाकियों का क्या हाल होगा। उन्हें अपने आसपास देखना चाहिए।

जया बच्चन समजवादी पार्टी की सांसद हैं, लेकिन राज्यसभा में बोलते हुए ऐसा दिखाती हैं जैसे वो पूरे भारत की मनोरंजन इंडस्ट्री की प्रतिनिधि हों। उनकी पार्टी सैफई में बॉलीवुड वालों को बुला कर नाच-गाना करवाने के लिए जानी जाती रही है। शायद उनकी नजर में यही ‘सरकार का साथ देना’ हो। अब जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नोएडा में फिल्म सिटी बनवाने का निर्णय लिया है, बॉलीवुड के ठेकेदारों की नींद ज़रूर उड़ी होगी।

आर्यन खान किस थाली का युवक है? शाहरुख़ खान किस थाली को आज तक सजाते रहे हैं? जया बच्चन जिस थाली की बात कर रही हैं, उसमें तो छेद के अलावा कुछ और है भी नहीं। सालों से ये छेद है, बस अब लोगों को अच्छे से दिखना शुरू हो गया है। सुशांत की संदिग्ध मौतऔर अब आर्यन खान की गिरफ़्तारी से। ‘कुछ लोगों की वजह से पूरी इंडस्ट्री को बदनाम मत करो’ – लेकिन, यहाँ तो सारे के सारे ऐसे ही निकल रहे हैं।

और हाँ, क्या जया बच्चन को याद नहीं है कि कोई एक आपराधिक घटना सामने आने के बाद कैसे उनकी ही ‘थाली’ के चट्टे-बट्टे भारतीय होने पर शर्म महसूस करने वाला प्लाकार्ड लेकर फोटो डालते हैं? तब वो उनका विरोध करती नहीं? अगर नहीं करती हैं, फिर बॉलीवुड पर कोई शर्म करे तो उन्हें गुस्सा क्यों आता है? भारत तो हमारा देश है, इस पर शर्म करने वालों का महिमांडन हो सकता है लेकिन बॉलीवुड का विरोध करने वालों को वो ‘एहसान फरामोश’ बताती हैं?

बॉलीवुड के ठेकेदारों को खुश करने की जुगत में ये लोग महेश भट्ट, करण जौहर और शाहरुख़ खान जैसों के खिलाफ चूँ तक करने की हिम्मत नहीं रखते। ये पहली ऐसी रेव पार्टी या गिरफ़्तारी नहीं है। ऐसी कई गिरफ्तारियाँ हो चुकी हैं। केरल में इसी तरह की एक रेव पार्टी में 60 लोग हिरासत में लिए गए थे। अप्रैल 2021 में कर्नाटक के हासन जिले के अल्लुर तलूक में 130 गिरफ्तार हुए थे। जून 2020 में ऐसी रेव पार्टी के मामले में बॉलीवुड एक्टर्स गिरफ्तार हुए थे

ये सारा कचरा उसी ‘गटर’ का तो फैलाया हुआ है, जिसका नाम बॉलीवुड है। एक बॉलीवुड अभिनेता के गोवा वाले विला में अगस्त 2020 में 22 गिरफ्तार हुए थे, जिनमें 3 विदेशी भी थे। दिसंबर 2020 में इडुक्की के वागामोन रिसोर्ट में 9 धराए थे। सितंबर 2020 में गुरुग्राम से दर्जनों युवक-युवतियाँ धराए। जून 2019 में साउथ दिल्ली की ऐसी ही एक पार्टी के 8 आयोजक पकड़ाए थे। मई 2021 में नोएडा में विदेशी लड़की समेत 15 गिरफ्तार किए गए

ये सारे 2020-21 के मामले हैं। इन सब पर जया बच्चन का कोई बयान नहीं आया कि ‘थाली का छेद’ बड़ा क्यों होता जा रहा है तो फिर आर्यन खान की गिरफ़्तारी पर तो छोड़ ही दीजिए। कहीं सपा भी उन्हें निलंबित न कर दे, ये भी तो डर है। वैसे इंतजार रहेगा। जाया बच्चन कब आकर अपनी बॉलीवुड वाली थाली का छेद आकर मापती हैं। फ़िलहाल तो ये बड़ा ही होता जा रहा है। थाली नहीं बची, सिर्फ छेद बच गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अनुपम कुमार सिंह
अनुपम कुमार सिंहhttp://anupamkrsin.wordpress.com
चम्पारण से. हमेशा राइट. भारतीय इतिहास, राजनीति और संस्कृति की समझ. बीआईटी मेसरा से कंप्यूटर साइंस में स्नातक.

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मंदिर की जमीन पर शव दफनाने की अनुमति नहीं’: मद्रास हाईकोर्ट ने दिया अतिक्रमण हटाने का निर्देश

मद्रास हाईकोर्ट ने कहा कि शवों को दफनाने के लिए मंदिर की जमीनों का उपयोग नहीं किया जा सकता। कोर्ट ने अतिक्रमण हटाने का आदेश दिया है।

हिंदुओं के 40 साल तक अवैध पार्टनर, मुस्लिम फॉर्मूला से 18 साल में लड़की की शादी करो… उपजाऊ जमीन में बीज बोओ: बदरुद्दीन अजमल

"आप उपजाऊ जमीन में बीज बोएँगे तभी खेती अच्छी होगी। 18-20 साल की उम्र में लड़कियों की शादी करा दो और फिर देखो कितने बच्चे पैदा होते हैं।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
236,564FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe