Monday, August 2, 2021
Homeराजनीतिगहलोत के 15 MLA हमारे साथ, आजाद होते ही आ जाएँगे: पायलट गुट के...

गहलोत के 15 MLA हमारे साथ, आजाद होते ही आ जाएँगे: पायलट गुट के विधायक ने कॉन्ग्रेस की मुसीबत​ बढ़ाई

“अशोक गहलोत गुट के 10 से 15 विधायक हमारे सीधे संपर्क में हैं। वे कह रहे हैं कि जैसे ही उन्हें छोड़ा जाएगा वे हमारे साथ आ जाएँगे। अगर गहलोत प्रतिबंध हटाते हैं, तो यह स्पष्ट हो जाएगा कि कितने विधायक उनके पक्ष में हैं।”

राजस्थान की कॉन्ग्रेस सरकार पर मंडरा रहा खतरा टलता नहीं दिख रहा। सचिन पायलट गुट के एक विधायक के दावे ने पार्टी की मुसीबत और बढ़ा दी है। विधायक हेमाराम चौधरी का दावा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गुट के 10 से 15 विधायक उनके संपर्क में हैं।

हेमाराम ने यह बात ऐसे वक्त में कही है जब गहलोत विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव लेकर आने की बात कह रहे हैं।हेमाराम चौधरी ने कहा, “अशोक गहलोत गुट के 10 से 15 विधायक हमारे सीधे संपर्क में हैं। वे कह रहे हैं कि जैसे ही उन्हें छोड़ा जाएगा वे हमारे साथ आ जाएँगे। अगर गहलोत प्रतिबंध हटाते हैं, तो यह स्पष्ट हो जाएगा कि कितने विधायक उनके पक्ष में हैं।”

इधर विधानसभा सत्र बुलाने को लेकर अशोक गहलोत राज्यपाल पर लगातार हमलावर हैं। रिपोर्ट के मुताबिक़ अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से इस मुद्दे पर फोन से बात भी की थी। दोनों के बीच बातचीत रविवार को हुई। गहलोत ने बातचीत के दौरान यह आरोप लगाया कि उनकी सरकार गिराने की कोशिश की जा रही है। इसके अलावा उन्होंने राज्यपाल द्वारा विधानसभा सत्र न बुलाए जानी की बात भी कही। साथ ही इस मामले में दखल देने का अनुरोध भी किया।       

वहीं दूसरी तरफ आज राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने भी इस मामले पर अपना नज़रिया रखा था। उन्होंने राज्य सरकार से कुल 3 पहलुओं पर विचार-विमर्श करने के लिए कहा। सत्र बुलाने से पहले 21 दिन का नोटिस पीरियड। इसके अलावा अगर फ्लोर टेस्ट कराया जाए तो उसमें हर सामाजिक दूसरी के हर नियमों का पालन किया जाए। उनके मुताबिक़ विधानसभा सत्र संवैधानिक तरीके से ही बुलाया जाना चाहिए।    

वहीं कॉन्ग्रेस के विधायक दल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में विधानसभा सत्र बुलाने को लेकर दखल देने का निवेदन किया गया था।   

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सबको मार डालेंगे’: धमकी देकर गायब हो गए थे मिजोरम सांसद, CM सरमा ने दिया FIR वापस लेने का आदेश

मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने दोस्ताना रुख अपनाते हुए असम पुलिस को आदेश दिया है कि मिजोरम सांसद वनलालवेना के खिलाफ FIR को वापस लिया जाए।

‘रिस्क है, भारत काम नहीं देगा’: Pak के कश्मीर लीग में नहीं खेलेंगे मोंटी पनेसर, BCCI के बाद ECB ने भी चेताया

इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर मोंटी पनेसर ने पाकिस्तान द्वारा आयोजित किए जा रहे 'कश्मीर प्रीमियर लीग (KPL)' में हिस्सा नहीं लेने का फैसला लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,557FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe