सावरकर की तारीफ करने पर सिंघवी से नाराज हुईं सोनिया, माँगी सफाई

चूँकि सिंघवी का सावरकर पर बयान उस दौरान आया जब हरियाणा और महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों के मद्देनजर वोटिंग चल रही थी। इसलिए कॉन्ग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष उनसे नाराज हो गईं और अपने एक विश्वस्त को फोन करके सिंघवी से उनके बयान पर सफाई माँगी।

कॉन्ग्रेस नेता अभिषेक सिंघवी द्वारा सोशल मीडिया पर वीर सावरकर की तारीफ किए जाने के बाद खबर है कि कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी उनसे नाराज हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों के लिए चल रही वोटिंग के बीच सिंघवी की आई सावरकर पर टिप्पणी इस नाराजगी का मुख्य कारण है।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, बताया जा रहा है कि चूँकि सिंघवी का सावरकर पर बयान उस दौरान आया जब हरियाणा और महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों के मद्देनजर वोटिंग चल रही थी। इसलिए कॉन्ग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष उनसे नाराज हो गईं और अपने एक विश्वस्त को फोन करके सिंघवी से उनके बयान पर सफाई माँगी।

गौरतलब है कि कल सिंघवी ने सोशल मीडिया पर खुलकर कहा था कि सावरकर ने न केवल आजादी की लड़ाई में अहम भूमिका निभाई थी बल्कि वे देश के लिए जेल भी गए थे। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “निजी तौर पर मैं सावरकर की विचारधारा से सहमत नहीं हूँ। लेकिन इस तथ्य को नकारा नहीं जा सकता कि वे एक काबिल व्यक्ति थे जिन्होंने आजादी की लड़ाई में महत्तवपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने दलितों के अधिकार की लड़ाई लड़ी और देश के लिए जेल गए।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इसके बाद वे यहीं नहीं रुके, उन्होंने स्वच्छता अभियान के प्रसार के लिए प्रधानमंत्री मोदी द्वारा की गई कोशिशों की भी सराहना की। उन्होंने लिखा, “जहाँ हकदार हों, वहाँ प्रशंसा की जानी चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गाँधी जी के स्वच्छता के संदेशों को प्रसारित करने के लिए बॉलीवुड की मदद ली। इससे अधिकतर लोगों का ध्यान इस मुद्दे पर जाएगा।”

हालाँकि, सावरकर वाले बयान पर सिंघवी ने साफ किया था कि वे सावरकर की विचारधारा से सहमत नहीं हैं, लेकिन शाम होते-होते सवालों की झड़ी इतनी लग गई की उन्हें अपनी सफाई हर जगह पेश करनी पड़ी। इंडिया टुडे के मुताबिक पार्टी सूत्रों ने उन्हें बताया कि सिंघवी को कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता का फोन गया था और उनसे ट्वीट के कथ्य और इसकी टाइमिंग पर सवाल किए गए। रिपोर्ट के मुताबिक सिंघवी को ये कॉल सोनिया गाँधी के कहने पर गया, जो कि सिंघवी के ट्वीट से नाराज दिखीं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

सोनिया गाँधी
शिवसेना हिन्दुत्व के एजेंडे से पीछे हटने को तैयार है फिर भी सोनिया दुविधा में हैं। शिवसेना को समर्थन पर कॉन्ग्रेस के भीतर भी मतभेद है। ऐसे में एनसीपी सुप्रीमो के साथ उनकी आज की बैठक निर्णायक साबित हो सकती है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,489फैंसलाइक करें
23,092फॉलोवर्सफॉलो करें
121,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: