कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता ने खुलकर की सावरकर की तारीफ, PM मोदी की प्रशंसा से भी नहीं चूके

"जहाँ हकदार हों, वहाँ प्रशंसा की जानी चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गाँधी जी के स्वच्छता के संदेशों को प्रसारित करने के लिए बॉलीवुड की मदद ली। इससे अधिकतर लोगों का ध्यान इस मुद्दे पर जाएगा।"

महाराष्ट्र चुनाव के मद्देनजर जब से भाजपा द्वारा अपने घोषणा पत्र में कहा गया है कि वे दोबारा सत्ता आने पर वीर सावरकर का नाम भारत रत्न के लिए भेजेंगे, तब से राजनैतिक गलियारों में उनपर बहस छिड़ गई है। विपक्ष तरह-तरह के तर्क पेश करके भाजपा के इस वादे को गैर जरूरी ठहराने की कोशिश कर रहा है। लेकिन इसी बीच कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने वीर सावरकर की तारीफ कर दी है।

अभिषेक मनु सिंघवी ट्वीट कर स्वीकार किया कि सावरकर ने न केवल आजादी की लड़ाई में अहम भूमिका निभाई थी बल्कि वे देश के लिए जेल भी गए थे।

उन्होंने लिखा, “निजी तौर पर मैं सावरकर की विचारधारा से सहमत नहीं हूँ। लेकिन इस तथ्य को नकारा नहीं जा सकता कि वे एक काबिल व्यक्ति थे जिन्होंने आजादी की लड़ाई में महत्तवपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने दलितों के अधिकार की लड़ाई लड़ी और देश के लिए जेल गए।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इसके बाद सिंघवी ने स्वच्छता अभियान के प्रसार के लिए प्रधानमंत्री मोदी द्वारा की गई कोशिशों की भी सराहना की। उन्होंने लिखा, “जहाँ हकदार हों, वहाँ प्रशंसा की जानी चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गाँधी जी के स्वच्छता के संदेशों को प्रसारित करने के लिए बॉलीवुड की मदद ली। इससे अधिकतर लोगों का ध्यान इस मुद्दे पर जाएगा।”

वहीं, सावरकर के मुद्दे पर बता दें कि कुछ दिन पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी साफ बोल चुके हैं कि कॉन्ग्रेस ने इंदिरा गाँधी के प्रधानमंत्री रहते हुए सावरकर की याद में डाक टिकेट जारी की थी। इस दौरान उन्होंने साफ किया था कि वे सावरकर के ख़िलाफ़ नहीं हैं, लेकिन उनकी विचारधारा के ख़िलाफ़ हैं। इसके अलावा इस सियासी बहस में एक पत्र भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था जिसमें खुद पूर्व पीएम इंदिरा गाँधी ने सावरकर की तारीफ की थी।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

"हिन्दू धर्मशास्त्र कौन पढ़ाएगा? उस धर्म का व्यक्ति जो बुतपरस्ती कहकर मूर्ति और मन्दिर के प्रति उपहासात्मक दृष्टि रखता हो और वो ये सिखाएगा कि पूजन का विधान क्या होगा? क्या जिस धर्म के हर गणना का आधार चन्द्रमा हो वो सूर्य सिद्धान्त पढ़ाएगा?"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

115,259फैंसलाइक करें
23,607फॉलोवर्सफॉलो करें
122,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: