Wednesday, May 25, 2022
Homeदेश-समाज'अल्लाह-हू-अकबर' चिल्लाते हुए गोरखनाथ मंदिर में घुसा मुर्तजा अब्बासी, धारदार हथियार से 2 सुरक्षाकर्मियों...

‘अल्लाह-हू-अकबर’ चिल्लाते हुए गोरखनाथ मंदिर में घुसा मुर्तजा अब्बासी, धारदार हथियार से 2 सुरक्षाकर्मियों को किया घायल: वीडियो

बताया जा रहा है कि गोरखनाथ मंदिर में धारदार हथियार लेकर घुसने का प्रयास करने वाला मुर्तजा आलम केमिकल इंजीनियर है जिसने आईआईटी बॉम्बे से पढ़ाई की है।

उत्तर प्रदेश के के गोरखपुर स्थित गोरखनाथ मंदिर में एक व्यक्ति द्वारा सुरक्षाकर्मियों पर हमले की खबर है। हमलावर द्वारा मज़हबी नारा भी लगाने की सूचना है। आरोपित के पास मिले पैन कार्ड में मुर्तजा अब्बासी नाम लिखा हुआ है। इस हमले में उत्तर प्रदेश PAC के 2 जवान घायल हुए हैं। हमलावर को पुलिस ने किसी बड़े नुकसान से पहले ही हिरासत में ले लिया है। आतंकी हमले की आशंका के चलते इस मामले की जाँच अब ATS कर रही है। घटना रविवार (3 अप्रैल 2022) की है। इस हमले का वीडियो भी सामने आया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हमलावर मंदिर में घुसने का प्रयास कर रहा था। गेट पर तैनात PAC के 2 जवानों को उस पर शक हुआ तो उसे रोका गया। रोके जाने पर आरोपित ने दोनों जवानों पर अपने साथ पहले से लाए गए बाँके (धारदार हथियार) से हमला कर दिया। फिर वो मेन गेट के पा अल्लाह-हू-अकबर चिल्लाते हुए आया। जहाँ कॉन्सटेबल अनुराग राजपूत और AIU अधिकारी ने उसे रोक लिया। खबर है कि अब्बासी अकेला नहीं था, उसके साथ एक और शख्स था, लेकिन वो भाग गया और अब्बासी को पकड़ लिया गया।

शुरुआती जाँच में पता चला है कि हमलावर ने अलीगढ़ में पढ़ाई की है। इसके बाद उसने मुंबई में केमिकल इंजीनियरिंग से बी टेक किया। हमलावर के पास से एक इंडिगो फ्लाइट का टिकट भी बरामद हुआ है। उसके सीधे मुंबई से गोरखपुर आने का शक जताया जा रहा है। वह गोरखपुर का ही रहने वाला बताया जा रहा है। उसके पास से एक लैपटॉप भी बरामद हुआ है जिसकी पुलिस जाँच कर रही है।

इस हमले के बाद स्थानीय लोगों ने आरोपित मुर्तजा की पिटाई की जिस से वो घायल हो गया। उसे पुलिस ने ही बचा कर अस्पताल में भर्ती करवाया। मुर्तजा और दोनों घायल PAC जवानों का इलाज चल रहा है। ATS और अन्य अधिकारी इस आरोपित से मंदिर में घुसने की वजह और साथ में बाँका लाने का कारण जानने में लगे हुए हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक इस दौरान मंदिर में गोली चलने की अफवाह उड़ी थी जिस से वहाँ मौजूद श्रद्धालु कुछ समय के लिए परेशान हुए। बाद में प्रशासनिक अधिकारियों ने उन्हें समझाया। इस पूरे मामले में अब तक पुलिस की तरफ से कोई बयान नहीं आया है। UP के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इसी मठ के महंत हैं जिसे नाग सम्प्रदाय की सर्वोच्च पीठ कहा जाता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिक्षा का गुजरात मॉडल: सूरत के सरकारी स्कूलों में एडमिशन की होड़, लगातार तीसरे साल प्राइवेट स्कूल पीछे

दिल्ली के तथकथित शिक्षा मॉडल का आपने खूब प्रचार सुना होगा। इससे इतर गुजरात के सूरत के सरकारी स्कूलों में एडमिशन के लिए भारी भीड़ दिख रही है।

अब्दुल की दाढ़ी जैसा ही फेक निकला इमरान से पैसे की लूट: 20 मामले जब ‘जय श्रीराम’ के नाम पर फैलाया झूठ

महाराष्ट्र के औरंगाबाद के इमरान खान को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उसने जानने वाले लोगों से खुद को पिटवाया और उनसे जय श्रीराम के नारे लगाने को कहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
188,731FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe