Friday, June 21, 2024
Homeराजनीतिमोदी का पोस्टर लगा कर जीती शिवसेना, अंत में स्थिर सरकार ही लौटेगी: महाराष्ट्र...

मोदी का पोस्टर लगा कर जीती शिवसेना, अंत में स्थिर सरकार ही लौटेगी: महाराष्ट्र पर अमित शाह

शाह ने कहा कि शिवसेना के विधानसभा उम्मीदवारों ने वोटरों को लुभाने के लिए पोस्टरों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फोटो का इस्तेमाल किया और जीत कर उसी जनता को धोखा दे दिया। जो लोग शिवसेना, कॉन्ग्रेस और एनसीपी के गठबंधन की सराहना कर रहे हैं, उन्होंने ही अजित पवार द्वारा भाजपा को समर्थन दिए जाने की आलोचना की।

भाजपा अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने महाराष्ट्र में चल रही राजनीतिक गतिविधियों के बीच भाजपा का रुख स्पष्ट किया है। शाह ने कहा कि भाजपा ने जितनी सीटों पर चुनाव लड़ा था, उसने उसका 70% जीता और फिर भी विपक्ष में बैठ रही है। साथ ही उन्होंने कहा कि लड़ी गई सीटों में से मात्र 42% सीटें जीत कर शिवसेना के उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि 50-50 की सारी बातें चुनाव बाद शुरू हुई, क्योंकि उससे पहले आदित्य ठाकरे और उद्धव ठाकरे की मौजूदगी में मुख्यमंत्री उम्मीदवार के रूप में देवेंद्र फडणवीस के नाम की घोषणा की गई थी लेकिन दोनों में से किसी ने भी कभी आपत्ति नहीं जताई।

अमित शाह ने कहा कि शिवसेना के सरे विधायकों ने चुनाव जीतने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का इस्तेमाल किया। शाह ने कहा कि शिवसेना के विधानसभा उम्मीदवारों ने वोटरों को लुभाने के लिए पोस्टरों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फोटो का इस्तेमाल किया और जीत कर उसी जनता को धोखा दे दिया। उन्होंने स्पष्ट किया कि जनादेश देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री बनाने के लिए था, जिसका शिवसेना ने अपमान किया है। शाह ने कहा कि जो लोग शिवसेना, कॉन्ग्रेस और एनसीपी के गठबंधन की सराहना कर रहे हैं, उन्होंने ही अजित पवार द्वारा भाजपा को समर्थन दिए जाने की आलोचना की।

अमित शाह ने कहा कि भाजपा ने कभी भी किसी भी रूप में शिवसेना को मुख्यमंत्री पद देने की बात नहीं की। उन्होंने कहा कि देवेंद्र फडणवीस अच्छा काम कर रहे थे और मुख्यमंत्री के रूप में उनका परफॉरमेंस शानदार रहा था, इसीलिए जनता उन्हें वापस लेकर आई। शाह ने बताया कि उन्होंने सभी रैलियों में कहा है कि भाजपा-शिवसेना गठबंधन की सरकार आने के बाद देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री होंगे। उन्होंने रिपब्लिक टीवी के कार्यक्रम में कहा,

“शिवसेना को मुख्यमंत्री पद दिया गया है तो क्या ये ख़रीद-फरोख्त नहीं है क्या? अगर महाराष्ट्र के हित की बात है तो कॉन्ग्रेस और एनसीपी अपना मुख्यमंत्री क्यों नहीं बना रहे हैं?”

मंगलवार (नवंबर 26, 2019) को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस्तीफा दे दिया, जिसके बाद उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनने का रास्ता साफ़ हो गया। अमित शाह ने कहा कि अंत में स्थिर सरकार को ही जनता वापस लेकर आती है और महाराष्ट्र में भी ऐसा ही होगा। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में सत्ता में कौन रहेगा और कौन विपक्ष में, ये जनता तय करती है।

महाराष्ट्र: बीजेपी-शिवसेना सरकार के लिए हाई कोर्ट पहुॅंची ठाणे की महिला

मुंबई चलाने में नाकाम पार्टी महाराष्ट्र कैसे चलाएगी: अजित पवार ने मनाने आए NCP नेताओं से कही ये 5 बातें

महाराष्ट्र में BJP का कुनबा और बढ़ा: अमित शाह मुंबई जाएँगे, कॉन्ग्रेस में टूट का ख़तरा

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -