Monday, May 20, 2024
Homeराजनीतिजेल में ही रहेंगे केजरीवाल और K कविता, दिल्ली कोर्ट ने न्यायिक हिरासत 7...

जेल में ही रहेंगे केजरीवाल और K कविता, दिल्ली कोर्ट ने न्यायिक हिरासत 7 मई तक बढ़ाई: ED ने कहा था- छूटने पर ये लोग सबूतों से कर सकते हैं छेड़छाड़

ईडी ने इस मामले में केजरीवाल और कविता की न्यायिक हिरासत बढ़ाने की मांग करते हुए कोर्ट में आवेदन दिया था। ईडी ने कहा था कि गवाहों के प्रभावित करने, सबूतों से छेड़छाड़ करने की आशंका बनी हुई है। इस मामले में उनकी भूमिका से जुड़े होने की जाँच कर रहे हैं।

दिल्ली शराब घोटाला मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और बीआरएस नेता के कविता को झटका लगा है। प्रवर्तन निदेशालय की ओर से दर्ज मामले में दोनों नेताओं की न्यायिक हिरासत खत्म होने पर इसे 7 मई तक बढ़ाया गया।

इस मामले में फैसला राउज एवेन्यू कोर्ट की विशेष न्यायाधीश कावेरी बावेजा ने दिया है। दोनों नेताओं की न्यायिक हिरासत आज यानी 23 अप्रैल को खत्म हो रही थी। ऐसे में कोर्ट में वर्चुअली पेश करके इनकी हिरासत बढ़वाई गई।

ईडी ने इस मामले में केजरीवाल और कविता की न्यायिक हिरासत बढ़ाने की मांग करते हुए कोर्ट में आवेदन दिया था। ईडी ने कहा था कि गवाहों के प्रभावित करने, सबूतों से छेड़छाड़ करने की आशंका बनी हुई है। इस मामले में उनकी भूमिका से जुड़े होने की जाँच कर रहे हैं।

बता दें कि एक दिन पहले दिल्ली की अदालत ने केजरीवाल की उस याचिका को खारिज किया था जिसमें उन्होंने माँग की थी कि उन्हें अपनी पत्नी सुनीता की मौजूदी में रोजाना 15 मिनट के लिए डॉक्टर से परामर्श लेने की अनुमति दी जाए।

गौरतलब है कि अरविंद केजरीवाल को प्रवर्तन निदेशालय ने 21 मार्च 2024 को दिल्ली शराब घोटाला मामले में गिरफ्तार किया था। इसके बाद से कई बार उनकी बेल याचिका खारिज हुई हैं। वहीं बीआरएस नेता के कविता को केजरीवाल से एक हफ्ते पहले 15 मार्च 2024 को हिरासत में लिया गया था। मामले में ईडी और सीबीआई दोनों जाँच एजेंसियाँ जाँच कर रही हैं।

के कविता पर आरोप है कि वो इस घोटाले में साउथ ग्रुप की मुख्य सदस्य थीं। उनपर ये भी आरोप है कि उन्होंने शराब लाइसेंस के एक बड़े हिस्से के बदले में दिल्ली के सत्तारूढ़ AAP को 100 करोड़ की रिश्वत दी थी। वहीं केजरीवाल पर आरोप है कि वो इस घोटाले की साजिश रचने में मुख्य रूप से शामिल थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -