क्या गुमराह कर रहे हैं केजरीवाल, शाह से समय माँगा नहीं लेकिन कर दिया ट्वीट?

केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि उन्होंने स्थिति पर चर्चा करने के लिए शाह से मिलने का समय माँगा है। वे शाह से दिल्ली में त्वरित शांति बहाली के उपायों पर चर्चा करेंगे। लेकिन, गृह मंत्रालय के सूत्रों ने इसे नकार दिया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा है कि वो दिल्ली में हो रही हिंसा से चिंतित हैं। हालाँकि, ये हिंसा कौन लोग कर रहे हैं, इस बारे में उन्होंने कुछ नहीं कहा। साथ ही दिल्ली के मुख्यमंत्री ने जानकारी दी कि उन्होंने स्थिति पर चर्चा करने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलने का समय माँगा है। उन्होंने कहा कि वो शाह से दिल्ली में त्वरित शांति बहाली के उपायों पर चर्चा करेंगे। शनिवर (दिसंबर 15, 2019) को जामिया नगर में 4 बसों को फूँक दिए जाने और कई अन्य वाहनों को क्षतिग्रस्त किए जाने के बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए लाठीचार्ज और आँसू गैस का प्रयोग किया था।

लेकिन एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक केजरीवाल ने शाह से मिलने का समय तक नहीं माँगा है। एबीपी न्यूज़ के पत्रकार विकास भदोरिया ने गृह मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से बताया है कि अभी तक केजरीवाल ने अमित शाह से मिलने का समय नहीं माँगा है। यहाँ सवाल ये उठता है कि क्या दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने ट्विटर पर लोगों से झूठ बोला कि दिल्ली में शांति-व्यवस्था की बहाली के लिए उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह से मिलने का समय माँगा है?

आम आदमी पार्टी में नागरिकता संशोधन क़ानून के ख़िलाफ़ हो रहे विरोध-प्रदर्शन को लेकर कई विरोधाभास देखने को मिल रहे हैं। शनिवार को बसों को जलाए जाने के बाद जहाँ आप सुप्रीमो अरविन्द केजरीवाल इस घटना की निंदा करते हुए इसे अस्वीकर्य बता रहे थे, उनके उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ट्विटर पर फोटो शेयर कर दिल्ली पुलिस पर ही आग लगाने का इल्जाम लगाए जा रहे थे। इतना ही नहीं, जहाँ ये वारदात हुई, वहाँ आप विधायक अमानतुल्लाह ख़ान भी एक वीडियो में नजर आए।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

अमानतुल्लाह और सिसोदिया ने इन घटनाओं को भाजपा की साज़िश करार दिया। वहीं, भाजपा ने हिंसक भीड़ का नेतृत्व करने को लेकर अमानतुल्लाह ख़ान और आम आदमी पार्टी से जवाब माँगा है। दिल्ली भाजपा ने आरोप लगाया है कि आम आदमी पार्टी दिल्ली को जलाने का प्रयास कर रही है। भाजपा ने सड़क पर पथराव, बसों को जलाए जाने और उन्माद फैलाने के पीछे आप का हाथ होने का आरोप लगाया। भाजपा ने मनीष सिसोदिया पर भी निशाना साधा, जिन्होंने दिल्ली पुलिस की आग बुझाते हुए फोटो शेयर कर दावा किया कि पुलिस आग लगा रही है।

जामिया में लगे ‘हिंदुओं से आजादी’ के नारे; AAP विधायक अमानतुल्लाह कर रहा था हिंसक भीड़ की अगुवाई

जिंदा है शाकिर! मीडिया गिरोह ने जामिया के 3 छात्रों के मरने की अफवाह फैलाई, कुलपति ने किया खंडन

पुलिस ने लगाई बसों में आग: अमानतुल्लाह का बचाव करने के लिए सिसोदिया ने फैलाया झूठ

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

शाहीन बाग़, शरजील इमाम
वे जितने ज्यादा जोर से 'इंकलाब ज़िंदाबाद' बोलेंगे, वामपंथी मीडिया उतना ही ज्यादा द्रवित होगा। कोई रवीश कुमार टीवी स्टूडियो में बैठ कर कहेगा- "क्या तिरंगा हाथ में लेकर राष्ट्रगान गाने वाले और संविधान का पाठ करने वाले देश के टुकड़े-टुकड़े गैंग के सदस्य हो सकते हैं? नहीं न।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

144,546फैंसलाइक करें
36,423फॉलोवर्सफॉलो करें
164,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: