Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीति'अभी दूसरा निकाह करना है कर लो, चुनाव बाद कानून आएगा': असम CM सरमा...

‘अभी दूसरा निकाह करना है कर लो, चुनाव बाद कानून आएगा’: असम CM सरमा की बदरुद्दीन अजमल को सलाह, AIUDF चीफ ने कहा था – अब भी ताकत है

हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा, "मैं अभी अजमल को दूसरी शादी के लिए ग्रीन सिग्नल दे रहा हूँ, मगर उन्हें इसे चुनाव से पहले ही निपटा लेना चाहिए। लोकसभा चुनाव के बाद बहुविवाह बंद हो जाएगा। फिर ऐसा करने पर जेल में डाला जाएगा।"

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट ( एआईयूडीएफ) और सांसद बदरुद्दीन अजमल को सलाह दी है कि अभी समय है अगर उन्हें दूसरा निकाह करना है तो वो कर लें वरना बाद में ऐसा करने पर उन्हें पकड़कर जेल में डाल दिया जाएगा। सीएम ने बताया कि बहुविवाह पर प्रतिबंध लगाने वाला कानून तैयार है जो चुनाव के बाद लागू होगा।

बता दें कि असम सरकार द्वारा बहुविवाह पर प्रतिबंध लगाए जाने के लिए कानून बनाने की बात उठ रही है। ऐसे में एआईयूडीएफ प्रमुख और सांसद बदरुद्दीन अजमल ने कहा था कि वह इस कानून का विरोध करते हैं क्योंकि यह गैर इस्लामिक होगा। अजमल ने इस दौरान यह भी कहा था कि वह अभी भी दूसरा निकाह कर सकते हैं क्योंकि उनमें ताकत है। उन्होंने हिमंत बिस्वा सरमा को चुनौती देकर कहा था कि अगर असम सरकार ऐसा कानून बना देगी तो भी उनके पास दूसरे निकाह को करने की हिम्मत है।

उनकी इसी बात पर अब असम के मुख्यमंत्री ने चुटकी ली। उदालगुड़ी में मीडिया ने जब हिमंत बिस्वा सरमा से अजमल के बयान पर प्रतिक्रिया माँगी तो उन्होंने कहा,“मैं अभी अजमल को दूसरी शादी के लिए ग्रीन सिग्नल दे रहा हूँ, मगर उन्हें इसे चुनाव से पहले ही निपटा लेना चाहिए। अगर वह मुझे अपनी शादी में बुलाएँगे तो मैं भी जाऊँगा क्योंकि अभी इसके लिए कानून नहीं है। लोकसभा चुनाव के बाद बहुविवाह बंद हो जाएगा। इस कानून के लिए ड्राफ्ट तैयार है। चुनाव के बाद UCC लागू होगा। तब जो क़ानून का उल्लंघन करेगा उसके ऊपर कार्रवाही होगी।”

गौरतलब है कि अजमल असम के धुबरी क्षेत्र से लंबे समय से सांसद हैं। इसके अलावा उनका इत्र का कारोबार भी है। उन्होंने फिलहाल एक ही निकाह हुआ है, और उनके 7 बच्चे हैं। अब यही अजमल यूसीसी के विरोध में दूसरा निकाह करने के लिए भी तैयार हैं इसलिए उनके तर्क सुनकर सोशल मीडिया पर लोग उनका काफी मजाक उड़ा रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आरक्षण पर बांग्लादेश में हो रही हत्याएँ, सीख भारत के लिए: परिवार और जाति-विशेष से बाहर निकले रिजर्वेशन का जिन्न

बांग्लादेश में आरक्षण के खिलाफ छात्र सड़कों पर उतर आए हैं। वहाँ सेना को तैनात किया गया है। इससे भारत को सीख लेने की जरूरत है।

कर्नाटक के बाद अब तमिलनाडु में YouTuber अजीत भारती के खिलाफ FIR, कॉन्ग्रेस नेता सैमुअल MC ने की शिकायत: राहुल गाँधी से जुड़ा है...

"कर्नाटक उच्च न्यायालय ने स्थगन का आदेश दे रखा है, उस पर कथित घटना और केस पर स्टे के बाद, वापस दूसरे राज्य में केस करना क्या बताता है? "

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -