Monday, July 26, 2021
HomeराजनीतिUP: भीम सेना प्रमुख ने CM आदित्यनाथ, उन्नाव पुलिस के खिलाफ SC/ST एक्ट के...

UP: भीम सेना प्रमुख ने CM आदित्यनाथ, उन्नाव पुलिस के खिलाफ SC/ST एक्ट के तहत दर्ज की FIR

"आप कानून का दुरुपयोग करो साहब। हम कानून का सदुपयोग करेंगे, क्योंकि हम हैं कानून रक्षक, संविधान रक्षक भीम सैनिक उन्नाव में हमारे खिलाफ दर्ज झूठे केस पर आपके ऊपर भी तैयार FIR।”

उन्नाव पुलिस ने तीन दलित लड़कियों को जहर दिए जाने वाली खबर पर फर्जी खबर फैलाने के आरोप में 21 फरवरी को आठ ट्विटर अकाउंट पर एफआईआर दर्ज की गई थी। इस एफआईआर में बरखा दत्त की ‘द मोजो स्टोरी’ और भीम सेना प्रमुख नवाब सतपाल तंवर के चैनल का भी नाम है। बता दें कि तीन लड़कियों में से दो की मौत हो गई, जबकि तीसरी बहन की हालत गंभीर बनी हुई थी। उसे फ़ौरन अस्पताल में भर्ती किया गया और आज ही उसे होश आया है।

अब इस एफआईआर के जवाब में, भीम सेना प्रमुख ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उन्नाव के पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, डीएसपी सिटी और पुलिस स्टेशन कोतवाली सदर प्रभारी पर गुरुग्राम में एससी/एसटी एक्ट के तहत जवाबी शिकायत दर्ज करवाई है।

नवाब सतपाल तंवर ने ट्विटर पर शिकायत की कॉपी शेयर करते हुए लिखा, “माननीय CM योगी जी, उन्नाव SP, ASP, DSP City, SO कोतवाली सदर प्रभारी पर गुरुग्राम में SC/ST ACT के तहत शिकायत दर्ज। आप कानून का दुरुपयोग करो साहब। हम कानून का सदुपयोग करेंगे, क्योंकि हम हैं कानून रक्षक, संविधान रक्षक भीम सैनिक उन्नाव में हमारे खिलाफ दर्ज झूठे केस पर आपके ऊपर भी तैयार FIR।”

तंवर ने दावा किया कि उन्हें सोशल मीडिया से इस घटना के बारे में पता चला और उन्होंने पीड़ितों के लिए आवाज उठाने की कोशिश की। उन्होंने आगे दावा किया कि उनके संगठन ने कोई गलत सूचना नहीं फैलाई और केवल यह माँग की कि जीवित लड़की को निष्पक्ष जाँच के साथ एम्स में स्थानांतरित कर दिया जाए ताकि यह पता लगाया जा सके कि लड़कियों पर यौन हमला हुआ था या नहीं।

गौरतलब है कि उन्नाव पुलिस द्वारा दर्ज कराई गई FIR में कहा गया है कि इन ट्विटर अकाउंट्स ने झूठी जानकारी फैलाई थी कि इन लड़कियों का बलात्कार किया गया था, जबकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में साफ तौर पर इससे इनकार किया गया। इन ट्विटर अकाउंट ने उनके शवों का घर वालों की मर्जी के खिलाफ अंतिम संस्कार किए जाने जैसी अफवाह फैलाकर आम जनता में आक्रोश पैदा करने का भी प्रयास किया।

बता दें कि भीम सेना (अखिल भारतीय भीम सेना या ABBS) और भीम आर्मी (भीम आर्मी भारत एकता मिशन) नाम के दो संगठन हैं। भीम सेना की स्थापना अक्टूबर 2010 में हरियाणा के गुरुग्राम में नवाब सतपाल तंवर द्वारा की गई थी। भीम आर्मी की स्थापना उत्तर प्रदेश में 2015 में चंद्रशेखर आज़ाद रावण द्वारा की गई थी। उन्नाव हत्या मामले के बारे में जानकारी फैलाने के मामले में भीम आर्मी से जुड़े दो ट्विटर अकाउंट्स का नाम लिया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,226FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe