Sunday, March 7, 2021
Home राजनीति हर चरण के साथ बढ़ता गया NDA: जहाँ हुए सारे Poll-पंडित फेल, उस बिहार...

हर चरण के साथ बढ़ता गया NDA: जहाँ हुए सारे Poll-पंडित फेल, उस बिहार चुनाव का सबसे सटीक अनुमान लगाया था OpIndia ने

1. NDA की सरकार ही बनने जा रही है। 2. लालू के बेटे तेजस्वी एक नेता के रूप में नीतीश का विकल्प बनने में असफल रहे। 3. हर चरण में बढ़ता जाएगा NDA का ग्राफ। - ऑपइंडिया की ग्राउंड रिपोर्टिंग के बाद यह आकलन था, जो सबसे सटीक रहा।

बिहार में हुए विधानसभा चुनाव की मतगणना मंगलवार (नवंबर 10, 2020) की देर रात संपन्न हो गई और इसके साथ ही भाजपा प्रदेश में 74 सीटों के साथ दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी। राजद को उससे एक ज्यादा, यानी 75 सीटें मिलीं। जहाँ कई राजनीतिक पंडितों और एग्जिट पोल्स ने महागठबंधन की जीत का अनुमान लगाया था, ऑपइंडिया ने अपनी ग्राउंड कवरेज के बाद चुनाव परिणामों का सटीक अंदाज़ा लगाया और NDA की जीत की बात कही। इतना ही नहीं, इस अनुमान में हर चरण का भी सटीक अनुमान लगाया गया था।

हम ये कहते रहे कि राज्य में NDA की सरकार ही बनने जा रही है, क्योंकि लालू के छोटे बेटे तेजस्वी यादव एक नेता के रूप में नीतीश कुमार का विकल्प बनने में असफल रहे। और हुआ भी यही। राजग 125 सीटें जीत कर बहुमत के लिए ज़रूरी 122 सीटों के आँकड़े से आगे निकल गया। इस तरह से नीतीश कुमार फिर से बिहार के मुख्यमंत्री होंगे और 2005 से बिहार में शुरू हुआ राजद का राजनीतिक वनवास जारी रहेगा।

7 नवंबर को लगाए गए अनुमान में 2 मिनट 40 सेकंड के बाद और 31 मिनट के बाद सुनिए लगभग शत-प्रतिशत सही भविष्यवाणी

ऑपइंडिया ने अपने विश्लेषणों में अनुमान लगाया था कि जहाँ पहले चरण के चुनावों में विपक्ष को बढ़त थी, वहीं जैसे-जैसे चुनाव आगे बढ़ते गए, NDA बहुमत की ओर बढ़ता चला गया। चुनाव में किसी की हवा नहीं थी, लेकिन मोदी सरकार की जन-कल्याणकारी योजनाओं ने भाजपा को फायदा पहुँचाया। हम ये भी कहते रहे थे कि जदयू की सीटें घटनी तय हैं। राजद सबसे बड़ी पार्टी बन सकती है, लेकिन सरकार NDA की ही बनेगी

अब अगर हर चरण की बात करें तो पहले चरण में 71, दूसरे में 94 और तीसरे में 78 सीटों पर मतदान हुआ। NDA का सीट शेयर हर चरण के साथ बढ़ता ही चला गया। ये क्रमशः 29.6%, 52.1% और 66.7% रहा। हमारे अनुमानों के मुताबिक ही, महागठबंधन का सीट शेयर हर चरण के साथ घटता ही चला गया और ये क्रमशः 67.6%, 46.8% और 26.9% रहा। अक्टूबर 28, नवंबर 3 और 7 को तीनों चरण के लिए मतदान संपन्न हुआ था।

इस तरह से हर चरण के साथ बिहार में भाजपा और जदयू की गठबंधन का वोट प्रतिशत और सीट शेयर बढ़ता ही चला गया, जबकि कई टीवी चैनलों ने पहले चरण के ही अनुमान के आधार पर मान लिया कि तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं। राजग को 125 में से 105 सीटें दूसरे और तीसरे चरण में ही मिली, क्योंकि पहले चरण में उसके पास काफी कुछ दाँव पर था भी नहीं। इस तरह से ऑपइंडिया का हर अनुमान सटीक साबित हुआ।

बिहार चुनाव में मतगणना के दौरान आँकड़ों में हुई उलट फेर ने दोबारा से ईवीएम को ‘हैक’ करवा दिया है। NDA को दोपहर होते-होते सीटों में बढ़त क्या मिली, ट्विटर पर ईवीएम के ऊपर इल्जाम लगने शुरू हो गए। कॉन्ग्रेस नेता उदित राज ने तो इस ईवीएम हैक को सही बताने के लिए पूरे चुनाव को मंगल ग्रह और चाँद तक से जोड़ दिया। वहीं पुष्पम प्रिया ने सीधे तौर पर भाजपा पर इसका आरोप मढ़ा। अब परिणाम आने के बाद तो ये क्रंदन और तेज हो गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सबसे बड़ा रक्षक’ नक्सल नेता का दोस्त गौरांग क्यों बना मिथुन? 1.2 करोड़ रुपए के लिए क्यों छोड़ा TMC का साथ?

तब मिथुन नक्सली थे। उनके एकलौते भाई की करंट लगने से मौत हो गई थी। फिर परिवार के पास उन्हें वापस लौटना पड़ा था। लेकिन खतरा था...

अनुराग-तापसी को ‘किसान आंदोलन’ की सजा: शिवसेना ने लिख कर किया दावा, बॉलीवुड और गंगाजल पर कसा तंज

संपादकीय में कहा गया कि उनके खिलाफ कार्रवाई इसलिए की जा रही है, क्योंकि उन लोगों ने ‘किसानों’ के विरोध प्रदर्शन का समर्थन किया है।

‘मासूमियत और गरिमा के साथ Kiss करो’: महेश भट्ट ने अपनी बेटी को साइड ले जाकर समझाया – ‘इसे वल्गर मत समझो’

संजय दत्त के साथ किसिंग सीन को करने में पूजा भट्ट असहज थीं। तब निर्देशक महेश भट्ट ने अपनी बेटी की सारी शंकाएँ दूर कीं।

‘कॉन्ग्रेस का काला हाथ वामपंथियों के लिए गोरा कैसे हो गया?’: कोलकाता में PM मोदी ने कहा – घुसपैठ रुकेगा, निवेश बढ़ेगा

कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल में अपनी पहली चुनावी जनसभा को सम्बोधित किया। मिथुन भी मंच पर।

मिथुन चक्रवर्ती के BJP में शामिल होते ही ट्विटर पर Memes की बौछार

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले मिथुन चक्रवर्ती ने कोलकाता में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में भाजपा का दामन थाम लिया।

‘ग्लोबल इनसाइक्लोपीडिया ऑफ रामायण’ का शुभारंभ: CM योगी ने कहा – ‘जय श्री राम पूरे देश में चलेगा’

“जय श्री राम उत्तर प्रदेश में भी चलेगा, बंगाल में भी चलेगा और पूरे देश में भी चलेगा।” - UP कॉन्क्लेव शो में बोलते हुए सीएम योगी ने कहा कि...

प्रचलित ख़बरें

माँ-बाप-भाई एक-एक कर मर गए, अंतिम संस्कार में शामिल नहीं होने दिया: 20 साल विष्णु को किस जुर्म की सजा?

20 साल जेल में बिताने के बाद बरी किए गए विष्णु तिवारी के मामले में NHRC ने स्वत: संज्ञान लिया है।

मौलाना पर सवाल तो लगाया कुरान के अपमान का आरोप: मॉब लिंचिंग पर उतारू इस्लामी भीड़ का Video

पुलिस देखती रही और 'नारा-ए-तकबीर' और 'अल्लाहु अकबर' के नारे लगा रही भीड़ पीड़ित को बाहर खींच लाई।

‘40 साल के मोहम्मद इंतजार से नाबालिग हिंदू का हो रहा था निकाह’: दिल्ली पुलिस ने हिंदू संगठनों के आरोपों को नकारा

दिल्ली के अमन विहार में 'लव जिहाद' के आरोपों के बाद धारा-144 लागू कर दी गई है। भारी पुलिस बल की तैनाती है।

‘शिवलिंग पर कंडोम’ से विवादों में आई सायानी घोष TMC कैंडिडेट, ममता बनर्जी ने आसनसोल से उतारा

बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए टीएमसी ने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। इसमें हिंदूफोबिक ट्वीट के कारण विवादों में रही सायानी घोष का भी नाम है।

आज मनसुख हिरेन, 12 साल पहले भरत बोर्गे: अंबानी के खिलाफ साजिश में संदिग्ध मौतों का ये कैसा संयोग!

मनसुख हिरेन की मौत के पीछे साजिश की आशंका जताई जा रही है। 2009 में ऐसे ही भरत बोर्गे की भी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हुई थी।

पिछले 1000-1200 वर्षों से बंगाल में हो रही गोहत्या, कोई नहीं रोक सकता: ममता के मंत्री सिद्दीकुल्लाह का दावा

"उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने यहाँ आकर कहा था कि अगर भाजपा सत्ता में आती है, तो वह राज्य में गोहत्या को समाप्त कर देगी।"
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,301FansLike
81,967FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe