Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीति'स्कूलों से हटाओ उनकी मूर्तियाँ': RJD विधायक की माँ सरस्वती पर अश्लील टिप्पणी, खुद...

‘स्कूलों से हटाओ उनकी मूर्तियाँ’: RJD विधायक की माँ सरस्वती पर अश्लील टिप्पणी, खुद को बताते हैं महिषासुर का वंशज

बिहार में लालू प्रसाद यादव की राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के विधायक फतेह बहादुर कुशवाहा ने एक बार फिर हिंदू देवी-देवताओं का अपमान करते हुए माँ सरस्वती और ब्रह्मा को चरित्रहीन कहा है। उन्होंने स्कूलों में माँ सरस्वती की जगह सावित्रीबाई फुले की फोटो लगाने की वकालत की।

बिहार में सियासी भूचाल उठा हुआ है। ऐसे में इसे और भड़काने का काम राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के विधायक फतेह बहादुर सिंह कुशवाहा ने किया है। उन्होंने हिंदू धर्म और देवी-देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। चारा घोटाले के दोषी लालू यादव की पार्टी के विधायक फतेह ने माँ सरस्वती और ब्रह्मा को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की है।

कुशवाहा समाज से ताल्लुक रखने वाले और बिहार के रोहतास जिले के डेहरी से सत्ताधारी RJD के विधायक फतेह ने कहा, “आप ही के ग्रंथ में लिखा हुआ कि सुरसती (सरस्वती) जो है, ब्रह्मा की बेटी है और ब्रह्मा जी का अपनी ही पुत्री पर नियत खराब हुआ और उन्होंने (ब्रह्मा) उनके साथ शादी कर लिया। आप खुद समझिए… पूजा किसका होता है, चरित्रवान का या चरित्रहीन का?”

आरजेडी विधायक ने अपनी बात जारी रखते हुए कहा, “ये चरित्रवान-चरित्रहीन वाली बात मैं नहीं बोल रहा हूँ, ये संत कबीरदास ने कहा है। मैं उनका कहा हुआ बात कह रहा हूँ। उन्होंने आगे कहा कि स्कूलों में सरस्वती जी की प्रतिमा नहीं लगाई जानी चाहिए।” बता दें कि माँ सरस्वती को विद्या की देवी कहा जाता है और सनातन धर्म में उन्हें हर घर में पूजा जाता है।

फतेह ने कहा कि स्कूलों में सरस्वती जी की प्रतिमा के बजाय सावित्रीबाई फुले की तस्वीर लगानी चाहिए। दरअसल, 7 जनवरी को सावित्रीबाई फुले की जयंती है। इसके आयोजन के लिए RJD विधायक फतेह लोगों को निमंत्रण देने पहुँचे थे। इसी दौरान मीडिया से बातचीत के दौरान विधायक ने हिंदू देवी-देवताओं पर अभद्र टिप्पणी की।

ये पहली बार नहीं है कि विधायक फतेह ने इस तरह का बयान दिया है। इससे पहले वो माँ दुर्गा के लिए आपत्तिजनक टिप्पणी कर चुके हैं। उन्होंने माँ दुर्गा को काल्पनिक बताते हुए कहा था कि देवी दुर्गा का कोई अस्तित्व नहीं है, यह मनगढ़ंत कहानी है। उन्होंने खुद को महिषासुर का वंशज बताया था। उन्होंने कहा था कि अगर देवी दुर्गा का अस्तित्व था तो ब्रिटिश हुकूमत के समय उन्होंने क्यों नहीं भारत को बचा लिया।

उन्होंने कहा कि एक तरफ हिंदू शास्त्रों में बताया जाता है कि भगवान शंकर ने अन्य देवताओं के साथ आह्वान कर देवी दुर्गा की उत्पत्ति की। एक तरह से भगवान शिव ने देवी दुर्गा का आविष्कार किया तो इस रिश्ते से देवी दुर्गा भगवान शिव की पुत्री हुईं। दूसरी ओर देवी दुर्गा को महागौरी के नाम से भी बुलाया जाता है। ऐसे में गौरी भगवान शिव की पत्नी थी, तो क्या भगवान शिव ने अपनी पुत्री से विवाह कर लिया था?

फतेह बहादुर ने कहा था कि ये सब मनुवादियों का षड़यंत्र है। महिषासुर की हत्या करने के लिए दुर्गा का इन सबने उपयोग किया और महिषासुर का वध नहीं हत्या हुई। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा था कि ये मनुवादी लोग बताने का काम करेगा कि कौन-सा मैदान में महिषासुर के साथ दुर्गा ने युद्ध किया और रात्रि में कौन युद्ध करने जाती थी उसके यहाँ?

देवी दुर्गा और भगवान शंकर को लेकर उनके द्वारा कही गई आपत्तिजनक बातों पर खासा बवाल मचा था। बिहार ही नहीं, कई जगहों पर हिन्दू संगठनों ने आरजेडी विधायक फतेह बहादुर का पुतला जलाया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

घुमंतू (खानाबदोश) पूजा खेडकर: जिसका बाप IAS, वो गुलगुलिया की तरह जगह-जगह भटक बिताई जिंदगी… इसी आधार पर बन गई MBBS डॉक्टर

पूजा खेडकर ने MBBS में नाम लिखवाने से लेकर IAS की नौकरी पास करने तक में नाम, उम्र, दिव्यांगता, अटेंप्ट और आय प्रमाण पत्र में फर्जीवाड़ा किया।

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -