Friday, June 14, 2024
Homeराजनीतिनिर्दोष साबित होने तक नहीं लड़ूँगा चुनाव: अश्लील वीडियो वायरल मामले में बोले बाराबंकी...

निर्दोष साबित होने तक नहीं लड़ूँगा चुनाव: अश्लील वीडियो वायरल मामले में बोले बाराबंकी सांसद, वापस ली दावेदारी

उपेंद्र सिंह रावत ने ऐलान किया है कि निर्दोष साबित होने तक वो कोई चुनाव नहीं लड़ेंगे। उपेंद्र सिंह रावत ने अपने X हैंडल पर अपनी दावेदारी वापस लेने की घोषणा की। उन्होंने वायरल वीडियो को AI से बना बताया।

सोशल मीडिया में अपने नाम के साथ कुछ अश्लील वीडियो वायरल होने से आहत भारतीय जनता पार्टी के सांसद उपेंद्र सिंह रावत ने 2024 लोकसभा चुनावों में बाराबंकी से अपनी दावेदारी वापस ले ली है। भाजपा द्वारा जारी 195 उम्मीदवारों की पहली सूची में उनको प्रत्याशी बनाया गया था लेकिन एक दिन बाद ही उनकी कुछ वीडियोज वायरल हो गईं। अब उपेंद्र सिंह रावत ने इस मामले में एफआईआर करवाई है। साथ ही ऐलान किया है कि निर्दोष साबित होने तक वो कोई चुनाव नहीं लड़ेंगे।

उपेंद्र सिंह रावत ने सोमवार (4 मार्च 2024) को अपने X हैंडल पर अपनी दावेदारी वापस लेने की घोषणा की। उन्होंने अपने वायरल वीडियो को डीप फेक बताते हुए इसे AI टेक्नोलॉजी से बना बताया। उन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा से पूरे मामले की निष्पक्ष जाँच कराए जाने की माँग भी की। अंत में उपेंद्र सिंह ने लिखा, “जब तक मैं निर्दोष साबित नहीं होता, सार्वजनिक जीवन में कोई चुनाव नहीं लड़ूँगा।” उपेंद्र सिंह के समर्थक उनके फैसले का स्वागत कर रहे हैं। उन्होंने पूरे मामले को साजिश करार देते हुए उम्मीद जताई है कि जाँच के बाद उपेंद्र सिंह रावत बेगुनाह साबित होंगे।

पुलिस में दी गई शिकायत

इससे पहले 3 मार्च (रविवार) को सांसद उपेंद्र सिंह रावत के प्रतिनिधि दिनेश चंद्र ने कोतवाली बाराबंकी में तहरीर दी थी। तहरीर में उन्होंने आरोप लगाया कि सोशल मीडिया पर एक एडिटेड वीडियो शेयर करके सांसद की छवि को धूमिल करने की साजिश रची गई है। शिकायत के अंत में वीडियो शेयर कर रहे लोगों पर FIR दर्ज करके कार्रवाई की माँग की गई। दिनेश चंद्र ने यह भी उम्मीद जताई है कि पुलिस ऐसी कार्रवाई करे जिस से भविष्य में कोई दोबारा इस प्रकार की हरकत न करे। ऑपइंडिया के पास शिकायत कॉपी मौजूद है।

बताते चलें कि 4 मार्च 2024 सुबह से सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में अँधेरे में एक महिला और पुरुष आपत्तिजनक हालत में दिखाई दे रहे हैं। नेटिजेंस का दावा है कि इसमें दिखने वाला पुरुष उपेंद्र सिंह रावत हैं। हालाँकि उपेंद्र सिंह ने इसे डीप फेक AI से बनाया वीडियो बताते हुए शेयर करने वालों के खिलाफ FIR दर्ज कर के कार्रवाई की माँग की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हिन्दू देवी-देवताओं के अपमान पर ‘मत देखो’, इस्लामी कुरीति पर सवाल उठाना ‘आपत्तिजनक’: PK और ‘हमारे बारह’ को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दोहरा रवैया...

राधा व दुर्गा के साथ 'सेक्सी' शब्द जोड़ने वालों और भगवान शिव को बाथरूम में छिपते हुए दिखाने वालों पर सुप्रीम कोर्ट ने क्या कार्रवाई की थी? इस्लामी कुरीति दिखाने पर भड़क गया सर्वोच्च न्यायालय, हिन्दू धर्म के अपमान पर चूँ तक नहीं किया जाता।

‘इंशाअल्लाह, राम मंदिर को गिराना हमारी जिम्मेदारी बन चुकी है’: धमकी के बाद अयोध्या में अलर्ट जारी कर कड़ी की गई सुरक्षा, 2005 में...

"बाबरी मस्जिद की जगह तुम्हारा मंदिर बना हुआ है और वहाँ हमारे 3 साथी शहीद हुए हैं। इंशाअल्लाह, इस मंदिर को गिराना हमारी जिम्मेदारी बन गई है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -