Tuesday, July 27, 2021
Homeराजनीतिफिर से खिलेगा कमल! महाराष्ट्र में भाजपा बहुमत की ओर, हरियाणा में भी जीत...

फिर से खिलेगा कमल! महाराष्ट्र में भाजपा बहुमत की ओर, हरियाणा में भी जीत के आसार

कुछ दिन पहले एक्जिट पोल में आए रुझानों में भी अधिकतर परिणाम भाजपा के पक्ष में आए थे। वहीं IANS-CVoter की तरफ से 16 सितंबर से 16 अक्टूबर के बीच किया गया सर्वे भी...

हरियाणा और महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों के नतीजे कुछ ही देर में साफ हो जाएँगे। वोटों की गिनती शुरू हो चुकी है और जिस तरह की तस्वीर मीडिया चैनल्स पर देखने को मिल रहे हैं, उससे साफ है कि भाजपा ने इस बार भी दोनों प्रदेशों में अपनी बढ़त बनाई हुई है।

ताजा जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र की 288 सीटों पर भाजपा इस समय 192 सीटों से आगे होकर पूरे चुनाव को एकतरफा करती दिखाई दे रही है। जबकि कॉन्ग्रेस 86 सीटों पर आगे चल रही है। MNS और AIMIM अभी तक राज्य में अपना खाता (बढ़त के मामले में) नहीं खोल पाए हैं। वहीं अन्य 10 सीटों पर आगे चल रह हैं।

इसी तरह हरियाणा की 90 सीटों पर भाजपा 43 सीटों के साथ बढ़त बनाए हुए है, जबकि हुड्डा के नेतृत्व में कॉन्ग्रेस प्रदेश में कांटे की टक्कर देते हुए 36 सीटों पर आगे है। INLD किसी भी सीट पर फिलहाल आगे नहीं है जबकि जेजेपी 9 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है।

रिपब्लिक टीवी इलेक्शन अपडेट

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले एक्जिट पोल में आए रुझानों में भी अधिकतर परिणाम भाजपा के पक्ष में आए थे। वहीं IANS-CVoter की तरफ से 16 सितंबर से 16 अक्टूबर के बीच किया गया सर्वे भी इस बात को दर्शा रहा था कि दोनों राज्यों में भाजपा की वापसी होने वाली है। सर्वे में था की 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा में भाजपा नीत एनडीए को 182-206 सीट और कॉन्ग्रेस-एनसीपी गठबंधन को 72-98 सीटें मिल सकती है। 90 सदस्यीय हरियाणा विधानसभा में भाजपा को 79-87 और कॉन्ग्रेस को एक से 7 सीट मिलने का अनुमान लगाया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘राजीव गाँधी थे PM, उत्तर-पूर्व में गिरी थी 41 लाशें’: मोदी सरकार पर तंज कसने के फेर में ‘इतिहासकार’ इरफ़ान हबीब भूले 1985

इतिहासकार व 'बुद्धिजीवी' इरफ़ान हबीब ने असम-मिजोरम विवाद के सहारे मोदी सरकार पर तंज कसा, जिसके बाद लोगों ने उन्हें सही इतिहास की याद दिलाई।

औरतों का चीरहरण, तोड़फोड़, किडनैपिंग, हत्या: बंगाल हिंसा पर NHRC की रिपोर्ट से निकली एक और भयावह कहानी

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) ने 14 जुलाई को बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा पर अपनी अंतिम रिपोर्ट कलकत्ता हाईकोर्ट को सौंपी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,464FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe