Tuesday, June 25, 2024
HomeराजनीतिBJP विधायक ने ओवैसी की पार्टी के प्रोटेम स्पीकर के सामने शपथ लेने से...

BJP विधायक ने ओवैसी की पार्टी के प्रोटेम स्पीकर के सामने शपथ लेने से किया इनकार

राजा सिंह ने कहा कि हिन्दुओं को ख़त्म करने की बात बोलने वाले के सामने वो कभी शपथ नहीं ले सकते हैं।

तेलंगाना में भाजपा के एकमात्र नव-निर्वाचित विधायक राजा सिंह ने 17 जनवरी को होने वाले शपथग्रहण समारोह में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया है क्योंकि उस समारोह में AIMIM के प्रोटेम स्पीकर द्वारा शपथ दिलाया जाना है। राजा सिंह ने कहा कि वो मुमताज़ अहमद खान द्वारा शपथ नही लेंगे और इसी कारण शपथ ग्रहण समारोह का भी बहिष्कार करेंगे। अपने फेसबुक पेज पर एक वीडियो अपलोड कर राजा सिंह ने अधिक जानकारी देते हुए कहा;

“सभी नव-निर्वाचित विधायकों को AIMIM के प्रोटेम स्पीकर के सामने शपथ लेना है। तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर ने ये निर्णय लिया है। मैं आज ये कहना चाहते हूँ कि रजा सिंह उस शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा नहीं लेगा और उस दिन विधानसभा भी नहीं जायेगा।”

बता दें कि परसों ही ये घोषणा की गयी थी कि 16 जनवरी को मुमताज अहमद खान को प्रोटेम स्पीकर के रूप में शपथ दिलाई जाएगी और फिर 17 को उनके द्वारा बांकी विधायकों को शपथ दिलाई जाएगी। सामान्य तौर पर नव निर्वाचित विधानसभा में सबसे सीनियर व्यक्ति को प्रोटेम स्पीकर बनाया जाता है। 70 वर्षीय खान ने इस साल हुए विधानसभा चुनावों मेन हैदराबाद के चारमीनार विधानसभा क्षेत्र से जीत दर्ज की है। वहीं भाजपा के टी राजा सिंह ने गोशामहल विधानसभा क्षेत्र से जीत दर्ज की जहां उन्हें 45 प्रतिशत से भी अधिक मत मिले थे।

राजा सिंह ने कहा कि वो AIMIM के प्रोटेम स्पीकर के सामने शपथ नहीं लेंगे क्योंकि ओवैसी की पार्टी हिन्दुओं को ख़तम करने की बात करती है और वन्दे मातरम का विरोध करती है। उन्होंने कहा कि हिन्दुओं को ख़त्म करने की बात बोलने वाले के सामने वो कभी शपथ नहीं ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि ओवैसी की पार्टी एक गन्दी पार्टी है और वो देश में युद्ध करने की बात करते हैं। उन्होंने कहा;

“तेलंगाना के मुख्यमंत्री राव निजाम (हैदराबाद राज्य के पूर्व शासक) और एमआईएम के प्रशंसक रहे हैं। उन्होंने एमआईएम के विधायक को विधानसभा का अस्थायी अध्यक्ष नियुक्त करने का फैसला किया है। मैं विधानसभा नहीं जाऊंगा और उनकी मौजूदगी में विधायक पद की शपथ नहीं लूंगा। अन्य पार्टी के नेता जा सकते हैं लेकिन मैं नहीं जाऊंगा।”

इस मामले में अभी तक AIMIM या TRS की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। राजा सिंह ऐसे मुद्दों पर पहले भी काफी मुखर रहे हैं। पिछले साल उन्होंने बांग्लादेशियों को असम नहीं छोड़ने पर गोली मरने की बात कही थी।

बता दें कि तेलंगाना इस साल हुए विधानसभा चुनावों में केसीआर कि पार्टी टीआरएस ने भारी जीत दर्ज की थी और असदुद्दीन ओवैसी की AIMIM ने अपने गढ़ हैदराबाद की सातों सीटों पर अपना कब्ज़ा बरक़रार रखा था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -