साक्षी महाराज ने ममता पर लगाया हिरण्यकश्यप के खानदान का होने का आरोप

बीजेपी सांसद ने कहा, “ममता का शासन अलगाववाद से कम नहीं है, इससे बंगाली आहत हैं और इसका खामियाजा ममता को भुगतान ही पड़ेगा।"

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कॉन्ग्रेस का रामभक्तों पर कहर चुनाव के बाद भी जारी है। लेकिन, इसी बीच भाजपा नेता साक्षी महाराज ने एक टिप्पणी कर के इस विवाद को नई हवा दे दी है। पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनावों में हार का सामना करने वाली तृणमूल कॉन्ग्रेस के जख्मों पर नमक छिड़कते हुए बीजेपी ने जय श्री राम लिखकर दस लाख पोस्टकार्ड भेजने का फैसला किया है। वहीं, बीजेपी के सांसद साक्षी महाराज ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को हिरण्य कश्यप की खानदान का बताया है।

‘हिरण्यकश्यप ने जय श्रीराम बोलने पर जेल में डाल दिया था’

भाजपा के सांसद साक्षी महाराज ने कहा, “बंगाल का नाम आते ही त्रेतायुग की याद आती है। जब राक्षस राज हिरण्यकश्यप ने ‘जय श्री राम’ बोलने पर अपने बेटे को जेल में डाल कर यातनाएँ दी थीं। बंगाल में ममता भी यही कर रही हैं। ‘जय श्री राम’ बोलने पर जेल में डाल रही हैं और यातनाएँ दे रही हैं। ममता कहीं हिरण्यकश्यप के खानदान की तो नहीं हैं?”

इसके आगे बीजेपी सांसद ने कहा, “ममता का शासन अलगाववाद से कम नहीं है, इससे बंगाली आहत हैं और इसका खामियाजा ममता को भुगतान ही पड़ेगा। विधानसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में बीजेपी की सरकार बनेगी, उनकी तानाशाही चलने वाली नहीं है।”

ममता को भेजेंगे जय श्री राम लिखा कार्ड

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इससे पहले पश्चिम बंगाल से बीजेपी के नवनिर्वाचित सांसद अर्जुन सिंह ने कहा कि हमने मुख्यमंत्री के आवास पर 10 लाख पोस्टकार्ड भेजने का निर्णय किया है, जिन पर जय श्री राम लिखा होगा। तृणमूल कॉन्ग्रेस के विधायक रह चुके अर्जुन सिंह आम चुनाव से पहले बीजेपी में शामिल हुए थे। उन्होंने यह बात बीजेपी कार्यकर्ताओं के समूह पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किए जाने के बाद कही जो उस स्थान के बाहर प्रदर्शन के दौरान जय श्री राम के नारे लगा रहे थे, जहाँ तृणमूल कॉन्ग्रेस के नेता बैठक कर रहे थे।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

नितिन गडकरी
गडकरी का यह बयान शिवसेना विधायक दल में बगावत की खबरों के बीच आया है। हालॉंकि शिवसेना का कहना है कि एनसीपी और कॉन्ग्रेस के साथ मिलकर सरकार चलाने के लिए उसने कॉमन मिनिमम प्रोग्राम का ड्राफ्ट तैयार कर लिया है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

113,017फैंसलाइक करें
22,546फॉलोवर्सफॉलो करें
118,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: