Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीति'₹80 लाख दो, टिकट 99.9% पक्की': दिल्ली के MCD चुनावों में AAP ने की...

‘₹80 लाख दो, टिकट 99.9% पक्की’: दिल्ली के MCD चुनावों में AAP ने की सौदेबाजी, महिला कार्यकर्ता के स्टिंग से खुलासा

भाजपा ने आप पर इल्जाम लगाया कि टिकट के बदले पार्टी अवैध वसूली कर रही है। पार्टी ने पुनीत गोयल और बिंदू श्रीराम के बीच हुई बातचीत का वीडियो साझा करते हुए दावा किया कि ये सब केजरीवाल की शह पर हो रहा है।

आम आदमी पार्टी में टिकट की खरीद-बिक्री को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने आज (21 नवंबर 2022) फिर से नया खुलासा किया है। इस बार ये खुलासा स्टिंग के साथ हुआ है। इस स्टिंग के मुताबिक आप नेताओं ने अपनी पार्टी की कार्यकर्ता बिंदू श्रीराम को एमसीडी चुनावों में रोहिणी के वार्ड से टिकट देने के बदले 80 लाख रुपए की माँग की, जिसके बाद कार्यकर्ता ने इन नेताओं के साथ हुई डील की बातचीत पर स्टिंग किया और भाजपा नेताओं के साथ मिलकर दो वीडियो जारी की।

इन वीडियोज में दिखाया गया कि कैसे रोहिणी विधानसभा क्षेत्र के वार्ड नंबर 54 में टिकट देने के लिए एक महिला नेता से 80 रुपए की माँग की गई और जब उन्होंने कहा कि वो धीरे-धीरे इन रुपयों को दे देंगी तो उन्हें समझाया गया कि और लोगों के पैसे भी पार्टी के पास आ गए हैं। ऐसे में अगर वो पूरी रकम नहीं देंगी तो उनकी सिफारिश नहीं लग पाएगी।

एक वीडियो में महिला पुनीत गोयल नाम के आप पार्टी के कार्यकर्ता से बात करती नजर आ रही हैं। इसमें उन्हें समझाया जा रहा है कि पैसे मिलने के बाद पार्टी की कोर कमेटी में उनकी सुनवाई होगी। पैसे मिलने के बाद उनकी सीट 99.9% पक्की हो जाएगी।

वीडियो में महिला कार्यकर्ता बार-बार कहती हैं कि क्या ऐसा नहीं हो सकता वो आधे पैसे दें तो काम चल जाए, बाकी बाद में दे देंगी। इस पर आप कार्यकर्ता कहते हैं कि पैसे तो एक ही बार में दिए जाएँ तब ठीक है। इसलिए उनके पास समय है तो वो बाकी अमाउंट भी मँगा लें।

दूसरी वीडियो में उनकी बातचीत AAP नेता पठानिया से कार में हो रही है। सुन सकते हैं कि वीडियो में बिंदू बार-बार पठानिया का नाम लेती हैं। उन्हें कहते सुना जा सकता है,”पुनीत से मेरी बात हो रही है। आप मुझे ग्रीन सिग्नल दो। सीधी बात ये है कि जो फाइल है वो मोटी फाइल है। अगर आप मुझसे कहो कि बिंदू तुम पुनीत को पैसे दे दो तो मैं उसे पैसे दे दूँगी। आपका ग्रीन सिग्नल चाहिए।”

इसके बाद पठानिया बात को इधर-उधर घुमाते हुए कहते हैं, “हाँ, वो (पुनीत) मेरे साथ रहता है, जहाँ जाता हूँ, वहाँ जाता है। पार्टी में लोग उसको जानने लगे हैं और उसका फोन भी उठाने लगे हैं। वह अपने आप यह काम कर रहा है।” इसके बाद बिंदू बोलती हैं, “रकम छोटी-मोटी नहीं है। मैंने कहा कि अभी 10 है ले लो। उसने कहा 3-4 दिन में कर देना। पहली रकम 21 लाख की थी।”

इन वीडियोज को शेयर करते हुए भाजपा ने आप पर इल्जाम लगाया कि टिकट के बदले पार्टी अवैध वसूली कर रही है। पार्टी ने पुनीत गोयल और बिंदू श्रीराम के बीच हुई बातचीत का वीडियो साझा करते हुए दावा किया कि ये सब केजरीवाल की शह पर हो रहा है। पूरी पार्टी टिकट के नाम पर उघाई करने में लगी हुई है। वीडियोज में गोपाल राय, सौरभ भारद्वाज और राखी बिड़ला का भी नाम आ रहा है।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले भाजपा ने आम आदमी पार्टी के नेता मुकेश गोयल का स्टिंग वीडियो जारी किया था। आरोप था कि उन्होंने जूनियर इंजीनियर से 1 करोड़ रुपए की रिश्वत ली। उस वीडियो को जारी करते हुए संबित पात्रा ने कहा था कि मुकेश एमसीडी का घाघ नेता है और सीएम केजरीवाल का राइट हैंड है। इसके अलावा भाजपा ने सत्येंद्र जैन का भी जेल में मसाज लेते वीडियो पिछले दिनों शेयर किया था जिसमें वो बेड पर लेटे थे और एक शख्स उनके पैर-हाथ दबा रहा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -