Friday, May 24, 2024
Homeराजनीतिबंगाल में महिला BJP नेता के घर घुसकर टीएमसी वालों की गुंडई, बीच-बचाव में...

बंगाल में महिला BJP नेता के घर घुसकर टीएमसी वालों की गुंडई, बीच-बचाव में आए लोग भी घायल

उपचुनाव के नतीजे आने के बाद भाजपा जिलाध्यक्ष फाल्गुनी पात्रा के घर गुंडों ने हमला बोल दिया। इसमें उनके घर और गाड़ी दोनों को भारी क्षति पहुँची। फाल्गुनी ने हमले की इस घटना के लिए सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कॉन्ग्रेस को ज़िम्मेदार ठहराया है।

पश्चिम बंगाल के चुनावों पर हमेशा से ही हिंसा का आरोप लगता रहा है। बंगाल में उपचुनाव के नतीजों की घोषणा होने के साथ ही आज एक बार फिर यह राज्य हिंसा और मारपीट की वारदात से दहल उठा। नतीजे आने के बाद भाजपा जिलाध्यक्ष फाल्गुनी पात्रा के घर TMC के गुंडों ने हमला बोल दिया। इसमें उनके घर और गाड़ी दोनों को भारी क्षति पहुँची। फाल्गुनी ने हमले की इस घटना के लिए सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कॉन्ग्रेस को ज़िम्मेदार ठहराया है।

बता दें कि पात्रा बैरकपुर इलाके की रहने वाली हैं, समाचार एजेंसी एएनआई ने फाल्गुनी के बयान का हवाला देते हुए बताया कि इस हमले में फाल्गुनी के घर और गाड़ी को काफी नुकसान पहुँचा है। इस सम्बन्ध में कुछ तस्वीरें भी शेयर की गईं। बता दें कि 25 नवम्बर को पश्चिम बंगाल के करीमपुर क्षेत्र में उपचुनाव के दौरान भाजपा के उम्मीदवार जयप्रकाश मजूमदार को भी ऐसी ही पारिस्थितियों का सामना करना पड़ा। उनके साथ मारपीट कर उन्हें इस्लामपुर स्कूल बूथ के बाहर झाड़ियों में फेंक दिया गया। इस मामले में भी आरोप सत्तारूढ़ दल पर ही लगे थे।

वहीं दूसरी ओर राज्य की भाजपा कार्यकारिणी के सदस्य शिशिर बाजोरिया ने ट्विटर के ज़रिए यह जानकारी दी कि मुकुल रॉय की अगुवाई में एक दल मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मिलने गया था जिसने नाडिया के डीएम और एसपी को अपनी ज़िम्मेदारी न निभाने के लिए तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कर गिरफ्तार करने की माँग रखी थी। हाल ही में दो पक्षों के बीच खड़गपुर में हुई एक भिडंत में तीन लोग बुरी तरह ज़ख़्मी हो गए थे। राज्य में होने वाले सियासी क़त्ल भी अपने चरम पर हैं। अब तक भाजपा के कई कार्यकर्ताओं को मारा जा चुका है। जबकि राज्य सरकार इस माहौल को रोकने के सम्बन्ध में कोई भी ठोस निर्णय लेने की हिम्मत नहीं दिखा रहा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -