Monday, December 6, 2021
Homeराजनीतिपश्चिम बंगाल: पुलिस कस्टडी में BJP कार्यकर्ता की मौत, राज्यपाल ने CM ममता से...

पश्चिम बंगाल: पुलिस कस्टडी में BJP कार्यकर्ता की मौत, राज्यपाल ने CM ममता से कहा- कानून का राज स्थापित करें

राज्यपाल ने लिखा कि न सिर्फ पश्चिम बंगाल, बल्कि यहाँ से बाहर के लोग भी इससे नाराज हैं। उन्होंने याद दिलाया कि कैसे अक्टूबर 8, 2020 को एक सिख बलविंदर सिंह के साथ पश्चिम बंगाल पुलिस ने ज्यादती की, जिसके बाद उनकी पगड़ी खुल गई है और ये पूरे देश में आक्रोश का विषय बना।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को पत्र लिखा है। ये मामला पुलिस कस्टडी में भाजपा कार्यकर्ता मदन घोराई की संदिग्ध मौत से जुड़ा है। उन्होंने लिखा कि पुलिस कस्टडी में प्रताड़ना और मौत का ये एक और मामला है। ये घटना पूर्वी मेदिनीपुर स्थित कनकपुर की है। उन्होंने सीएम ममता को चेताया है कि राज्य में लगातार अराजकता फ़ैल रही है और जनता इससे काफी नाराज है।

उन्होंने लिखा कि न सिर्फ पश्चिम बंगाल, बल्कि यहाँ से बाहर के लोग भी इससे नाराज हैं। उन्होंने याद दिलाया कि कैसे अक्टूबर 8, 2020 को एक सिख बलविंदर सिंह के साथ पश्चिम बंगाल पुलिस ने ज्यादती की, जिसके बाद उनकी पगड़ी खुल गई है और ये पूरे देश में आक्रोश का विषय बना। उन्होंने राज्य में लगातार हो रहे मानवाधिकार उल्लंघनों के लिए सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि इन सबके बावजूद किसी भी पुलिस अधिकारी पर कार्रवाई नहीं की गई।

उन्होंने कहा कि उनके द्वारा कई बार चेताने और सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के बावजूद राज्य में जिस तरह से राजनीतिक बदले की भावना से मानवाधिकार उल्लंघन हो रहा है, क़ानून के राज के अनुरूप नहीं है। उन्होंने याद दिलाया कि सालों पहले सुप्रीम कोर्ट ने कस्टडी के लिए कुछ नियम-क़ानून तय किए थे। उन्होंने कहा कि सबसे ज्यादा राजनीतिक दुर्भावना से हो रही ऐसी वारदातों के कारण लोकतंत्र का मजाक बन कर रह गया है।

राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने भाजपा कार्यकर्ता की पुलिस कस्टडी में मौत के मामले में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से कहा कि वो अपनी शपथ को याद करें और जल्द क़ानून का राज स्थापित करें। उन्होंने कहा कि राजनीतिक दुर्भावना से विपक्षियों के खिलाफ षड्यंत्र करने की भी कई बातें सामने आ रही हैं। राज्यपाल ने कहा कि उन्होंने डीजीपी से भी ये बात कही लेकिन मुख्यमंत्री उनके बचाव में खड़ी हो गईं। अब उन्होंने सीधे सीएम को पत्र लिखा है।

हाल ही में भाजपा नेता प्रियांगु पांडेय के सुरक्षा गार्ड बलविंदर सिंह पर हमला हुआ था, जब पश्चिम बंगाल पुलिस ने गुरुवार को कोलकाता की सड़कों पर भाजपा कार्यकर्ताओं को बेरहमी से पीटा और बड़े पैमाने पर लाठीचार्ज किया गया था। भाजपा युवा मोर्चा और बीजेपी कार्यकर्ता पश्चिम बंगाल में हो रहे राजनीतिक हत्याओं के खिलाफ शांतिपूर्ण विरोध-प्रदर्शन कर रहे थे। बलविंदर सेना में भी रहे हैं। उनकी पिटाई और पगड़ी खोलने का वीडियो सामने आने के बाद काफी रोष देखने को मिला। 

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मुस्लिम बाबरी विध्वंस को नहीं भूलेंगे, फिर से बनेगी मस्जिद’: केरल के स्कूल में बाँटा गया ‘मैं बाबरी हूँ’ का बैज

केरल के एक 'सेंट जॉर्ज स्कूल' की कुछ तस्वीरें भी सामने आई हैं, जिसमें एक SDPI कार्यकर्ता बच्चों की शर्ट पर बाबरी वाला बैज लगाता हुआ दिख रहा।

‘लड़ाई जीत ली, पर युद्ध जारी रहना चाहिए’: ISI सरगना और खालिस्तानी के साथ राकेश टिकैत का वीडियो कॉल, PM मोदी को कहा गया...

कथित किसान नेता राकेश टिकैत एक अंतरराष्ट्रीय वेबिनार का हिस्सा बने, जिसमें खालिस्तानी से लेकर ISI से जुड़े लोग भी शामिल हुए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,998FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe