Wednesday, July 24, 2024
Homeराजनीति'पाकिस्तान-चीन हमारे लिए सबसे बड़ा खतरा': BJP में शामिल हुए पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर...

‘पाकिस्तान-चीन हमारे लिए सबसे बड़ा खतरा’: BJP में शामिल हुए पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, अपनी पार्टी का भी कर दिया विलय

"कैप्टन अमरिंदर सिंह का भाजपा में आना, इसके मायने हैं कि वो पंजाब में शांति और सुरक्षा के पक्षधर हैं। उनके आने से BJP की ताकत बढ़ेगी और पंजाब में विकास के लिए ऐतिहासिक कदम होगा।"

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह भाजपा में शामिल हो गए हैं। साथ ही उन्होंने अपनी पार्टी ‘पंजाब लोक कॉन्ग्रेस’ का विलय भी BJP में कर दिया है। इससे पंजाब में भाजपा को और मजबूती मिली है। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और केंद्रीय कानून मंत्री किरण रिजिजू की मौजूदगी में उन्होंने भाजपा का दामन थामा। वरिष्ठ नेता को बुके देकर और माला पहना कर भाजपा में शामिल किया गया। उनके साथ कई नेता भाजपा में आए।

कॉन्ग्रेस के बड़े नेता रहे पंजाब विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष अजायब सिंह भट्टी ने भी कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ भाजपा की सदस्यता ली। इस दौरान पूर्व सीएम ने कहा कि पाकिस्तान और चीन हमारे लिए लगातार खतरा बना हुआ है। उन्होंने यूपीए काल में देश के रक्षा मंत्री रहे एके एंटनी पर सवाल उठाते हुए कहा कि उन्होंने हथियारों की खरीद की दिशा में कदम नहीं उठाए। सिंह ने कहा कि पड़ोसी राज्यों में होने वाले चुनावों में भाजपा बेहतर करेगी।

नरेंद्र सिंह तोमर ने इस मौके पर कहा, “भारतीय जनता पार्टी एक ऐसी पार्टी है, जिसमें हमेशा गर्व से कहा जाता रहा है कि सबसे पहले राष्ट्र और दूसरे नंबर पर पार्टी। इस सिद्धांत को कैप्टन अमरिंदर सिंह जी ने हमेशा अपने जीवन में अपनाया। इसी का परिणाम है कि आज हम सब लोग साथ-साथ हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह का भाजपा में आना, इसके मायने हैं कि वो पंजाब में शांति और सुरक्षा के पक्षधर हैं। उनके आने से BJP की ताकत बढ़ेगी और पंजाब में विकास के लिए ऐतिहासिक कदम होगा।”

ये दूसरी बार है, जब कैप्टन अपनी पार्टी का विलय कर रहे हैं। इससे पहले उन्होंने 1992 में अपनी पार्टी ‘शिरोमणि अकाली दल (पंथिक)’ का विलय कॉन्ग्रेस में कर दिया था। उससे पहले वो अकाली दल के नेता हुआ करते थे। अबकी विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी की बुरी हार हुई है और वो खुद पटियाला से हार गए। कभी सेना में रहे कैप्टन अमरिंदर सिंह का कहना है कि वो एक फौजी हैं और वापसी करना जानते हैं। उनकी उम्र 80 वर्ष है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -