Friday, July 19, 2024
Homeराजनीति6000 या 72 हजार... सब भूल जाइए क्योंकि अब हर परिवार को मिलेगा 2...

6000 या 72 हजार… सब भूल जाइए क्योंकि अब हर परिवार को मिलेगा 2 लाख रुपए वो भी हर साल!

टीडीपी ने केंद्र की किसान सम्मान योजना को राज्य के मेल खाते अनुदान के साथ जारी रखने का वादा किया है। इस योजना के तहत प्रत्येक किसान को सालाना ₹15,000 का फायदा मिलेगा।

लोकसभा चुनाव के नजदीक आते ही सभा पार्टियाँ आम जनता को लुभाने में लग गई हैं। कॉन्ग्रेस ने सत्ता में आने के बाद गरीबों को साल में ₹72,000 देने की बात कही थी। अब इसी कड़ी में आंध्र प्रदेश में सत्तारूढ़ पार्टी तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) का भी नाम जुड़ गया है। टीडीपी ने आम चुनावों के लिए शनिवार (अप्रैल 6, 2019) को अपना घोषणापत्र जारी करते हुए प्रत्येक परिवार को हर साल ₹2 लाख देने का वादा किया है।

टीडीपी अध्यक्ष एवं आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने पार्टी का घोषणापत्र जारी करते हुए कहा कि कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने जहाँ हर गरीब परिवार को ₹72,000 सालाना देने का वादा किया है, वहीं अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है, तो हर साल प्रत्येक परिवार को ₹2 लाख दिए जाएँगे। इसके साथ ही टीडीपी ने 12वीं पास कर चुके छात्रों को बेरोजगारी भत्‍ता देने की बात कही है। इतना ही नहीं, पार्टी ने राज्‍य के सभी शहरों में इनोवेशन हब स्‍थापित करने की भी घोषणा की है।

उन्होंने कहा कि कोई कल्पना में भी हमारी इस उदारता के साथ मेल खाने के बारे में नहीं सोच सकता है। टीडीपी ने केंद्र की किसान सम्मान योजना को राज्य के मेल खाते अनुदान के साथ जारी रखने का वादा किया है। इस योजना के तहत प्रत्येक किसान को सालाना ₹15,000 का फायदा मिलेगा। मुख्य विपक्षी पार्टी वाईएसआर कॉन्ग्रेस ने भी टीडीपी के घोषणापत्र जारी करने के कुछ घंटों बाद अपना घोषणापत्र जारी किया। पार्टी के घोषणा पत्र में हर किसान परिवार को लागत के लिए पचास हजार रुपए देने का आश्वासन दिया गया है। इसके साथ-साथ घर के लिए सस्ता और अतिरिक्त लोन देने की भी बात कही गई है।

आंध्र प्रदेश में लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ-साथ होने हैं। राज्य में 11 अप्रैल को पहले चरण में मतदान होगा। राज्‍य के मुख्‍यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने पिछले दिनों यह भी ऐलान किया था कि यदि टीडीपी वापस राज्‍य की सत्‍ता में आती है तो वह एक मुस्लिम को अपना उपमुख्‍यमंत्री बनाएँगे। इतना ही नहीं, नायडू ने समुदाय विशेष के लिए इस्‍लामिक बैंक खोलने की भी घोषणा की है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -