Tuesday, October 19, 2021
HomeराजनीतिTMC सांसद प्रसून बनर्जी और सुरक्षा बलों के बीच हाथापाई, मतदान केंद्र से किए...

TMC सांसद प्रसून बनर्जी और सुरक्षा बलों के बीच हाथापाई, मतदान केंद्र से किए गए बाहर

वीडियो में साफ़ तौर पर देख सकते हैं कि TMC सांसद बनर्जी किस तरह से सुरक्षा बलों से बहस कर रहे हैं। इसके अलावा वो मतदान केंद्र पर भी...

लोकसभा चुनाव 2019 के पाँचवे चरण का मतदान 6 मई की सुबह से शुरू हुआ। ज्ञात हो कि सात राज्यों की 51 सीटों पर होने वाले मतदान में बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, राजस्थान, मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल रहे। एक तरफ मतदान की प्रक्रिया जारी रही, तो वहीं दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल में हिंसक हमलों का सिलसिला भी चला।

पश्चिम बंगाल में हावड़ा क्षेत्र से सांसद प्रसून बनर्जी और सुरक्षा बलों के बीच मतदान केंद्र संख्या 40 और 50 पर हाथापाई तक की नौबत आ गई, इसके बाद बनर्जी को मतदान केंद्र से बाहर निकाल दिया गया।

ऊपर के वीडियो में साफ़ तौर पर देख सकते हैं कि TMC सांसद बनर्जी किस तरह से सुरक्षा बलों से बहस कर रहे हैं। इसके अलावा वो मतदान केंद्र पर भी अधिकारियों से बहस कर रहे थे। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के रंतिदेव सेन गुप्ता के ख़िलाफ़ भी हमला बोला। बनर्जी 2014 के लोकसभा चुनाव में माकपा (मार्कसवादी कम्यूनिस्ट पार्टी) के उम्मीदवार श्रीदीप भट्टाचार्य को हराकर विजयी हुए थे। TMC सांसद बनर्जी को हराने के लिए इस बार माकपा ने सुमित्रा अधिकारी को मैदान में उतारा है, वहीं कॉन्ग्रेस ने सुव्रा घोष को अपना उम्मीदवार घोषित किया है।

लोकसभा चुनाव 2019 में पश्चिम बंगाल अपनी हिंसक गतिविधियों को लेकर शुरुआती दौर से ही चर्चा में रहा है। बीजेपी कार्यकर्ताओं और समर्थकों को लेकर तो वहाँ आए दिन विवादों की ख़बरें सामने आती रहती हैं। कभी चुनाव अधिकारी के ग़ायब होने की ख़बर आती है, तो कभी बीजेपी कार्यकर्ताओं पर बम बरसाने की ख़बर का ख़ुलासा होता है। कभी मौलवियों का फ़रमान जारी होता है तो कभी TMC कार्यकर्ताओं की ख़ूनी झड़प का शिकार होकर कोई मतदाता अपनी जान से हाथ धो बैठता है। इसके अलावा बेतुकी हरक़तों भी सामने आती हैें, जिसमें मतदाताओं की इत्र लगी ऊँगली तक सूँघी जाती है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सहिष्णुता और शांति का स्तर ऊँचा कीजिए’: हिंदी को राष्ट्रभाषा बताने पर जिस कर्मचारी को Zomato ने निकाला था, उसे CEO ने फिर बहाल...

रेस्टॉरेंट एग्रीगेटर और फ़ूड डिलीवरी कंपनी Zomato के CEO दीपिंदर गोयल ने उस कर्मचारी को फिर से बहाल कर दिया है, जिसे कंपनी ने हिंदी को राष्ट्रभाषा बताने पर निकाल दिया था।

बांग्लादेश के हमलावर मुस्लिम हुए ‘अराजक तत्व’, हिंदुओं का प्रदर्शन ‘मुस्लिम रक्षा कवच’: कट्टरपंथियों के बचाव में प्रशांत भूषण

बांग्लादेश में हिंदू समुदाय के नरसंहार पर चुप्पी साधे रखने के कुछ दिनों बाद, अब प्रशांत भूषण ने हमलों को अंजाम देने वाले मुस्लिमों की भूमिका को नजरअंदाज करते हुए पूरे मामले में ही लीपापोती करने उतर आए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,963FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe