Saturday, October 1, 2022
Homeराजनीति'RSS नक्सलियों से भी ज्यादा खतरनाक, संघ समर्थक पैर छूकर गोली मार देते हैं':...

‘RSS नक्सलियों से भी ज्यादा खतरनाक, संघ समर्थक पैर छूकर गोली मार देते हैं’: कॉन्ग्रेसी सांसद और CM भूपेश बघेल का ज्ञान

“जैसे नक्सलियों के बड़े कमांडर आंध्र और तेलंगाना में रहते हैं और यहाँ के लोग केवल बंदूक चलाते हैं। उसी प्रकार से आप आरएसएस में भी देखेंगे कि उसके सारे लोग नागपुर के हैं। यहाँ के लोग केवल अफवाह फैलाने की मशीन की तरह काम करते हैं।”

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की टिप्पणी पर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने तंज कसा है। उन्होंने कहा कि न भूपेश बघेल ने और न ही उनके सांसदों ने इतिहास पढ़ा है। आरएसएस के बारे में न उनकी सोच है और न ही समझ है। पारिवारिक कार्य से कवर्धा पहुँचे डॉ. रमन सिंह ने कहा कि आरएसएस राष्ट्रभक्त संगठन है। इससे बड़ा देशभक्त संगठन न तो देश में है और न ही विश्व में है। इसने संगठन के साथ-साथ पीढ़ियों का निर्माण किया। संगठन से निकले अटल बिहारी वाजपेयी, लाल कृष्ण आडवाणी और अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश का नेतृत्व कर रहे हैं।

बता दें कि छत्तीसगढ़ प्रांत में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) में हुए नेतृत्व बदलाव के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने आरएसएस की तुलना नक्सलियों से की है। उन्होंने कहा, “जैसे नक्सलियों के बड़े कमांडर आंध्र और तेलंगाना में रहते हैं और यहाँ के लोग केवल बंदूक चलाते हैं। उसी प्रकार से आप आरएसएस में भी देखेंगे कि उसके सारे लोग नागपुर के हैं। यहाँ के लोग केवल अफवाह फैलाने की मशीन की तरह काम करते हैं।”

बस्तर प्रवास पर रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री ने कहा कि आरएसएस के कार्यकर्ता नागपुर के बंधुआ मजदूर हो गए हैं। वे इससे उबर नहीं पा रहे हैं। बिसराराम जी स्थानीय व्यक्ति थे। छत्तीसगढ़ के माटीपुत्र थे। अब उनको भी हटा दिया गया। अब यहाँ आरएसएस का कोई आदमी स्थानीय स्तर पर कुछ बड़ा नहीं बोल सकता। सीएम भूपेश ने कहा कि आरएसएस के समर्थक पैर छूकर गोली मार देते हैं। महात्मा गाँधी की हत्या कैसे किया गया था? पहले पैर छुए फिर उनके सीने में गोली मारी।

बता दें कि संघ के संविधान के अनुसार तीन साल में निर्वाचन होता है। पिछले नौ वर्ष से बिसराराम यादव प्रांत संघचालक थे। उनका कार्यकाल पूरा होने पर रविवार (जनवरी 24, 2021) को निर्वाचन हुआ, जिसमें अस्थिरोग विशेषज्ञ डॉ. पूर्णेन्दु सक्सेना को प्रांत संघचालक चुना गया।

गौरतलब है कि इससे पहले सांसद दीपक बैज ने आरएसएस और बीजेपी को नक्सलवाद से ज्यादा खतरनाक संगठन बताया। उन्होंने यह बयान रविवार को अपने बीजापुर प्रवास के दौरान नैमेड़ में दिया। सांसद यहाँ एक क्रिक्रेट प्रतियोगिता के समापन अवसर पर पहुँचे थे। यहाँ पत्रकारों से बातचीत के दौरान सांसद ने कहा कि इलाके में सड़क निर्माण के जो विरोध हो रहे हैं वह आरएसएस और भाजपा के लोग करवा रहे हैं। सांसद यहीं नहीं रुके और बोल पड़े कि नक्सलवाद से ज्यादा खतरनाक तो ये संगठन है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दीपावली पर PFI ने रची थी देश भर में बम ब्लास्ट की साजिश: आसपास के सामान से IED बनाने की दे रहा था ट्रेनिंग,...

PFI आसपास मौजूद सामान से IED बनाने की ट्रेनिंग दो रहा था। उसकी योजना दशहरा पर देश भर में बम विस्फोट और संघ नेताओं की हत्या करने की थी।

ताज महल या तेजो महालय? सुप्रीम कोर्ट में याचिका, कहा- शाहजहाँ ने निर्माण करवाया इसके प्रमाण नहीं, बने फैक्ट फाइंडिंग कमेटी

आगरा के ताज महल (Taj Mahal) का सच क्या है? इसका पता लगाने की अपील करते हुए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में याचिका दायर की गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,480FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe