Sunday, May 19, 2024
Homeराजनीति'यूनिफॉर्म सिविल कोड के पक्ष में हूँ, इसे सख्ती से लागू भी करेंगे': बुर्का...

‘यूनिफॉर्म सिविल कोड के पक्ष में हूँ, इसे सख्ती से लागू भी करेंगे’: बुर्का विवाद पर बोले सीएम योगी- ‘देश संविधान से चलेगा शरीयत से नहीं’

“ये लोग जान लें ये नया भारत है। दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता नरेंद्र मोदी का भारत है। इस नए भारत में विकास सबका होगा, मगर तुष्टिकरण किसी का नहीं होगा। ये नया भारत संविधान के हिसाब से चलेगा। शरीयत के हिसाब से नहीं।"

देशभर में हिजाब (Hijab Controversy) के मुद्दे पर जारी सियासत के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Aaditynath) ने यूनिफॉर्म सिविल कोड के मुद्देपर कड़ा बयान देते हुए स्पष्ट कर दिया है कि वो यूनिफॉर्म सिविल कोड का समर्थन करते हैं और अगर अवसर मिला तो वो इसे पूरी सख्ती से लागू भी करेंगे। इसके साथ ही सीएम योगी ने ये एक बार फिर से कहा है कि ये देश संविधान से चलेगा न कि शरीयत से।

जी न्यूज को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुरक्षा और कानून व्यवस्था को सबसे बड़ा मुद्दा करार दिया। महिलाओं और बेटियों को लेकर उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में बेटियाँ सुरक्षित हैं। सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के मुद्दे पर भी बयान दिया और दावा किया कि इस चुनाव में भाजपा 300 सीटों से अधिक जीतने वाली है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेतृत्व क्षमता को जनता ने स्वीकार किया है। उन्होंने 80:20 का फार्मूला भी समझाया और बताया कि 2017 के चुनाव में भाजपा 325 सीटें जीतकर आई थी, तो वो 80 फीसदी था, इस बार भी यह 80 की तरफ जा रहा है। उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Election-2022) के लिए दो चरणों का मतदान हो चुका है। प्रदेश में कुल सात चरणों में मतदान होने हैं।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इससे पहले भी कर्नाटक बुर्का मामले पर बयान देते हुए कहा था कि इस देश का तंत्र भारतीय संविधान से चलता है न कि शरीयत या इस्लामी कानून से। उन्होंने हिजाब विवाद को लेकर कहा कि किसी को भी अपनी मजहबी आस्था इस देश पर और इसके संस्थानों पर थोपनी नहीं चाहिए। कट्टरपंथी बयानों को लेकर सीएम योगी ने कहा गजवा-ए-हिंद का सपना तो किसी का कयामत तक भी पूरा नहीं होगा।

कट्टरपंथियों पर बरसते हुए उन्होंने कहा था, “ये लोग जान लें ये नया भारत है। दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता नरेंद्र मोदी का भारत है। इस नए भारत में विकास सबका होगा, मगर तुष्टिकरण किसी का नहीं होगा। ये नया भारत संविधान के हिसाब से चलेगा। शरीयत के हिसाब से नहीं। गजवा-ए-हिंद का सपना कयामत के दिन तक भी साकार नहीं होगा।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत में 1300 आइलैंड्स, नए सिंगापुर बनाने की तरफ बढ़ रहा देश… NDTV से इंटरव्यू में बोले PM मोदी – जमीन से जुड़ कर...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आँकड़े गिनाते हुए जिक्र किया कि 2014 के पहले कुछ सौ स्टार्टअप्स थे, आज सवा लाख स्टार्टअप्स हैं, 100 यूनिकॉर्न्स हैं। उन्होंने PLFS के डेटा का जिक्र करते हुए कहा कि बेरोजगारी आधी हो गई है, 6-7 साल में 6 करोड़ नई नौकरियाँ सृजित हुई हैं।

कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपने ही अध्यक्ष के चेहरे पर पोती स्याही, लिख दिया ‘TMC का एजेंट’: अधीर रंजन चौधरी को फटकार लगाने के बाद...

पश्चिम बंगाल में कॉन्ग्रेस का गठबंधन ममता बनर्जी के धुर विरोधी वामदलों से है। केरल में कॉन्ग्रेस पार्टी इन्हीं वामदलों के साथ लड़ रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -