Wednesday, June 19, 2024
Homeराजनीतिपंजाब में CM फेस के ऐलान के बाद भी सिद्धू और चन्नी के बीच...

पंजाब में CM फेस के ऐलान के बाद भी सिद्धू और चन्नी के बीच रार: चुनाव प्रचार से गायब हैं सिद्धू, पत्नी बोली- विवाद ना हो इसलिए नहीं कर रहे कैंपेन

सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने एबीपी को बताया कि उन्हें जहाँ प्रचार के लिए कहा जाएगा, वहाँ सिद्धू जाएँगे। इसके अलावा वो अपनी सीट पर प्रचार करेंगे। पार्टी ने चन्नी को मुख्यमंत्री के चेहरे के रूप में एलान कर दिया है। ऐसे में CM कुछ और कहें और सिद्धू कुछ और तो विवाद हो जाएगा।

पंजाब विधानसभा चुनावों (Punjab Assembly election 2022) में कॉन्ग्रेस का सीएम चेहरा बनने में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (CM Charanjit Singh Channi) से पिछड़ने के बाद प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Siddhu) प्रसार अभियान से गायब हैं। इतना ही नहीं, उन्होंने पंजाब के लिए अपना ‘मॉडल’ भी पेश किया है। जाहिर है कि सिद्धू सीएम चन्नी को स्वीकार करने के मूड में नहीं दिख रहे हैं।

कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी द्वारा पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में चन्नी के नाम की घोषणा करने और सिद्धू द्वारा इसे सार्वजनिक रूप से स्वीकार करने के बावजूद वह प्रचार अभियानों से दूर हैं। इतना ही नहीं, पार्टी ने अभी राज्य के लिए घोषणा पत्र भी जारी नहीं किया है और सिद्धू वैष्णो देवी दर्शन के लिए चले गए हैं। उनकी अनुपस्थिति में पत्नी नवजोत कौर सिद्धू और बेटी राबिया सिद्धू के सीट पर चुनाव प्रचार की कमान संभाल रही हैं। सिद्धू अमृतसर पूर्वी से मैदान में हैं और उनके खिलाफ अकाली दल के बिक्रम सिंह मजीठिया मैदान में हैं।

इस पर सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने एबीपी को बताया कि उन्हें जहाँ प्रचार के लिए कहा जाएगा, वहाँ सिद्धू जाएँगे। इसके अलावा वो अपनी सीट पर प्रचार करेंगे। नवजोत कौर ने आगे बताया कि पार्टी ने चन्नी को मुख्यमंत्री के चेहरे के रूप में एलान कर दिया है। ऐसे में CM कुछ और कहें और सिद्धू कुछ और तो विवाद हो जाएगा। इसलिए CM उम्मीदवार को अपने एजेंडे पर प्रचार करना चाहिए। ध्यान देने वाली बात यह है कि पिछले हफ्ते मुख्यमंत्री चेहरे के एलान के बाद से सिद्धू अपनी सीट के अलावा कहीं और प्रचार के लिए नहीं गए हैं।

नवजोत कौर ने यह भी उम्मीद जताई कि राज्य में पार्टी की जीत पर चन्नी प्रदेश में सिद्धू का विकास मॉडल लागू करेंगे। उन्होंने कहा कि इससे फर्क नहीं पड़ता कि कुर्सी पर कौन बैठा है। इसी बीच सिद्धू ने ट्वीट कर पंजाब का अपना मॉडल पेश कर दिया है। इसके बारे में उन्होंने ट्वीट कर जानकारी दी।

सिद्धू ने ट्वीट कर लिखा, “नानक नाम चढ़दी कलां, तेरे भाने सरबत दा भला !! पंजाब को कल्याणकारी राज्य बनाने के लिए ये है पंजाब का माडल, पीपल्स मॉडल।”

सिद्धू ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “उन्होंने लोगों से वादा किया था कि वह पंजाब मॉडल को उनसे साझा करेंगे। श्री गुरु नानक देव जी के ‘तेरा-तेरा’ और ‘सरबत दा भला’ के दर्शन से प्रेरित पंजाब मॉडल लोगों के बीच प्रस्तुत है। इसमें पंचायतों को सशक्त बनाने के लिए राजीव जी का विजन है। नई व्यवस्था से सभी चोरी पर लगाम, पंजाब से माफिया का सफाया, लोगों के कल्याण के लिए खजाना भरेगा और लोगों पर खर्च होगा।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

कनाडा का आतंकी प्रेम देख भारत ने याद दिलाया कनिष्क ब्लास्ट, 23 जून को पीड़ितों को दी जाएगी श्रद्धांजलि: जानिए कैसे गई थी 329...

भारत ने एयर इंडिया के विमान कनिष्क को बम से उड़ाने की बरसी याद दिलाते हुए कनाडा में वर्षों से पल रहे आतंकवाद को निशाने पर लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -