Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीति'दुबई एक्सपो 2020': पीएम मोदी से घृणा में कॉन्ग्रेस प्रवक्ता शमा मोहम्मद ने इंडिया...

‘दुबई एक्सपो 2020’: पीएम मोदी से घृणा में कॉन्ग्रेस प्रवक्ता शमा मोहम्मद ने इंडिया पवेलियन को लेकर फैलाया झूठ, लोगों ने पोल खोली

एक ट्विटर यूजर ने दुबई एक्सपो 2020 में 8,750 वर्ग मीटर में फैले भारत के अत्याधुनिक पवेलियन का वीडियो साझा किया। 7.20 मिनट के वीडियो में चार मंजिलों में फैले पूरे पवेलियन को दिखाया गया है। खास बात यह है कि कॉन्ग्रेस प्रवक्ता के दावों के विपरीत पूरे वीडियो में पीएम मोदी के पोस्टर या चेहरे का कोई निशान नहीं है।

दुबई के अल फोरसन जिले में 1 अक्टूबर 2021 से चल रहे एक्सपो 2020 में इंडिया के पवेलियन में भारत के 73वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस मौके पर एक अंतरराष्ट्रीय मंच पर देश की प्रतिभा, व्यापार, परंपरा, पर्यटन और प्रौद्योगिकी को बढ़ावा देने के लिए भारत की पहल को बहुत ही शानदार तरीके से प्रदर्शित किया गया, लेकिन कॉन्ग्रेस की नेता शमा मोहम्मद ने इसको लेकर भी झूठ फैलाना शुरू कर दिया।

केरल कॉन्ग्रेस की प्रवक्ता डॉ शमा मोहम्मद ने एक्सपो 2020 दुबई में पीएम नरेंद्र मोदी और भारत के अत्याधुनिक पवेलियन को लेकर झूठा प्रचार करते हुए 27 जनवरी 2022 को ट्वीट किया, “मैंने अपने पति से दुबई एक्सपो के बारे में पूछा, खासकर भारतीय पवेलियन के बारे में। उनका जवाब- शमा दुबई एक्सपो बहुत अच्छा है, लगभग सभी पवेलियन अच्छे से बने हैं। भारतीय मंडप बहुत बड़ा है, लेकिन यह एकमात्र ऐसा पवेलियन है, जिसमें चारों ओर प्रधानमंत्री का चेहरा दिख रहा है! भारत को दिखाया जा रहा है या सिर्फ पीएम मोदी को!”

हालाँकि, शमा मोहम्मद का यह झूठ अधिक देर नहीं टिक सका। उनके झूठ को बेनकाब करते हुए एक ट्विटर यूजर ने दुबई एक्सपो 2020 में 8,750 वर्ग मीटर में फैले भारत के अत्याधुनिक पवेलियन का वीडियो साझा किया। 7.20 मिनट के वीडियो में चार मंजिलों में फैले पूरे पवेलियन को दिखाया गया है। खास बात यह है कि कॉन्ग्रेस प्रवक्ता के दावों के विपरीत पूरे वीडियो में पीएम मोदी के पोस्टर या चेहरे का कोई निशान नहीं है।

ऐसे कई वीडियो हैं जिन्हें लोगों ने पवेलियन में जाने के बाद अपलोड किया है और उनमें से किसी में भी मोदी का पोस्टर नहीं दिखा।

भारतीय पवेलियन को लेकर कॉन्ग्रेस ने बोला झूठ

दुबई में चल रहे एक्सपो 2020 में भारत का पवेलियन सबसे प्रभावशाली पवेलियनों में से एक है। इसका उद्घाटन केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने किया था और उन क्षेत्रों पर प्रकाश डाला था, जिनमें भारत वैश्विक लीडर है या बनने की कगार पर है। चार मंजिल में फैले इस पवेलियन के शीर्ष मंजिल को छोड़कर प्रत्येक मंजिल में दो विंग हैं। लोग ए-विंग से अंदर जाते हैं और बी विंग के से बाहर निकलते हैं।

दर्शकों को इस पैवेलियन में एक सुरंग के माध्यम से ले जाया जाता है, जहाँ सबसे पहले भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रमों को दिखाया जाता है। वहाँ पर देश के स्वास्थ्य विकास के साथ-साथ योग, आयुर्वेद और वैकल्पिक चिकित्सा सभी का उल्लेख किया गया है। ऊपर के तीन मंजिल भारतीय संस्कृति, संयुक्त अरब अमीरात के साथ देश के द्विपक्षीय संबंध और कॉर्पोरेट भारत के लक्ष्यों को समर्पित हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

जिसका इंजीनियर भाई एयरपोर्ट उड़ाने में मरा, वो ‘मोटू डॉक्टर’ मारना चाह रहा था हिन्दू नेताओं को: हाई कोर्ट से माँग रहा था रहम,...

कर्नाटक हाई कोर्ट ने आतंकी मोटू डॉक्टर को राहत देने से इनकार कर दिया है। उस पर हिन्दू नेताओं की हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -