Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीति'हिजाब न पहनने वाली महिलाओं का होता है रेप': कॉन्ग्रेस नेता ने कहा -...

‘हिजाब न पहनने वाली महिलाओं का होता है रेप’: कॉन्ग्रेस नेता ने कहा – खूबसूरती छिपाए रखने के लिए लड़की को ये पहनना जरूरी

जमीर अहमद से कहा, “हिजाब का अर्थ इस्लाम में पर्दा होता है। जब लड़की/बच्ची बड़ी होती है तो उसे हिजाब में रखते हैं यानी उसकी जो खूबसूरती होती उसने न दिखाने के लिए, छिपाए रखने के लिए उसे पहनाया जाता है।"

कर्नाटक के पी यू कॉलेज से शुरू हुआ हिजाब विवाद अब सियासी रूप लेता जा रहा है। हाल में इस मुद्दे पर हुबली में कॉन्ग्रेस नेता ने विवादित बयान दिया है। कॉन्ग्रेस नेता जमीर अहमद ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि हिजाब का अर्थ इस्लाम में पर्दा है जो महिला की सुंदरता को ढकता है। उनके अनुसार यदि महिलाएँ इसे न पहनें को उनका रेप हो सकता है।

जमीर अहमद से कहा, “हिजाब का अर्थ इस्लाम में पर्दा होता है। जब लड़की/बच्ची बड़ी होती है तो उसे हिजाब में रखते हैं यानी उसकी जो खूबसूरती होती उसे न दिखाने के लिए, छिपाए रखने के लिए, उसे पहनाया जाता है।”

आगे कॉन्ग्रेस नेता बोले, “आज आप देखिए हिंदुस्तान में रेप तेजी हो रहे हैं। ये सब इसलिए है क्योंकि औरतें पर्दे में नहीं रहतीं। ये आज से नहीं है और अनिवार्य भी नहीं है। लेकिन जो अपनी खूबसूरती छिपाना चाहते हैं, उसकी हिफाजत चाहते हैं वो लोग हिजाब पहनते हैं। ये आज से नहीं है बरसो से है।”

बता दें कि जमीर अहमद का ये बयान उस समय आया जब समाचार एजेंसी एएनआई के पत्रकार ने उनसे पूछा कि कुरान में कहीं नहीं कहा गया कि महिलाओं का ड्रेस कोड हिजाब होना चाहिए। इस पर कॉन्ग्रेस नेता ने अपनी प्रतिक्रिया दी और बताना चाहा कि ये अनिवार्य तो नहीं है पर इसे न पहनने से ही रेप हो रहे हैं।

मालूम हो कि इससे पहले जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने इस पूरे मामले को बीजेपी की साजिश करार दिया था। वहीं पूरे मुद्दे पर शनिवार को केरल गवर्नर आरिफ मोहम्मद खान ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने कहा था  इस्लाम में हिजाब उस तरह जरूरी नहीं है जैसे सिख धर्म में पगड़ी। उन्होंने कहा कि यह मुस्लिम लड़कियों को आगे बढ़ने से रोकने की एक साजिश है। राज्यपाल ने छात्रों से वापस क्लासरूम में लौटकर पढ़ाई करने को कहा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेशी महिला के 5 छोटे बच्चे, 3 लड़कियाँ… इसलिए इलाहाबाद हाई कोर्ट ने दे दी जमानत: सपा विधायक की मदद से भारत में रहने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने जेल में बंद एक बांग्लादेशी महिला हिना रिजवान को जमानत दे दी। महिला अपने बच्चों के साथ अवैध रूप से भारत में रही थी।

घुमंतू (खानाबदोश) पूजा खेडकर: जिसका बाप IAS, वो गुलगुलिया की तरह जगह-जगह भटक बिताई जिंदगी… इसी आधार पर बन गई MBBS डॉक्टर

पूजा खेडकर ने MBBS में नाम लिखवाने से लेकर IAS की नौकरी पास करने तक में नाम, उम्र, दिव्यांगता, अटेंप्ट और आय प्रमाण पत्र में फर्जीवाड़ा किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -