Friday, August 6, 2021
Homeराजनीतिसोनिया गाँधी, मनमोहन सिंह ने तिहाड़ जेल में चिदंबरम से की मुलाकात, स्कोर गेनिंग...

सोनिया गाँधी, मनमोहन सिंह ने तिहाड़ जेल में चिदंबरम से की मुलाकात, स्कोर गेनिंग का एक और प्रयास

INX मीडिया मामले में पी चिदंबरम 5 सितंबर से तिहाड़ जेल में बंद हैं। सोनिया गाँधी और मनमोहन सिंह ने चिदंबरम से जेल संख्या सात के मुलाक़ात कक्ष में मुलाक़ात की।

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम से मिलने के लिए कॉन्ग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी और पूर्व प्राधनमंत्री डॉ मनमोहन सिंह तिहाड़ जेल पहुँच गए हैं। INX मीडिया मामले में पी चिदंबरम 5 सितंबर से तिहाड़ जेल में बंद हैं। सोनिया गाँधी और मनमोहन सिंह ने चिदंबरम से जेल संख्या सात के मुलाक़ात कक्ष में मुलाक़ात की।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मनमोहन सोनिया के इस मुलाकात का उद्देश्य यह दिखाना है कि पार्टी पूरी तरह चिदंबरम के साथ है। इससे कहीं न कहीं राजनीतिक हलकों में चिदंबरम के कारनामों में कॉन्ग्रेस के पूरी तरह समर्थन के रूप में भी देखा जा रहा है। कुल मिलाकर यह पार्टी के आला नेताओं का स्कोर गेनिंग का एक प्रयास है। क्योंकि पार्टी लगातार इसे ऐसा दिखाना चाहती है जैसे यह भयंकर भ्रष्टाचार के कारण नहीं बल्कि राजनीतिक दुश्मनी की वजह से उठाया गया कदम है। इसके अलावा, चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम भी तिहाड़ में अपने पिता से मिलने पहुँचे।

पूर्व वित्त मंत्री पर आरोप है कि उन्होंने पद पर रहते हुए साल 2007 में रिश्वत लेकर INX मीडिया को 305 करोड़ रुपए लेने के लिए विदेशी निवेश प्रोत्साहन बोर्ड से मंजूरी दिलाई थी। इस मामले में CBI ने पिछले साल 15 मई को FIR दर्ज की थी।

बता दें कि पिछले दिनों सुनवाई के दौरान पी चिदंबरम को कोर्ट से एक बड़ा झटका लगा था। कोर्ट ने मामले की सुनवाई के दौरान चिदंबरम की न्यायिक हिरासत को 3 अक्टूबर तक बढ़ा दिया था। उनकी ज़मानत याचिका पर आज हाईकोर्ट में सुनवाई होगी।

चिदंबरम की पैरवी कर रहे वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने न्यायिक हिरासत की अवधि बढ़ाने के CBI के अनुरोध पर अपना विरोध जताया था। कपिल सिब्बल ने अदालत से अनुरोध किया था कि चिदम्बरम को न्यायिक हिरासत के दौरान तिहाड़ जेल में रहते हुए समय-समय पर मेडिकल जाँच तथा पर्याप्त मात्रा में पूरक आहार उपलब्ध कराया जाए।

सिब्बल ने कहा कि चिदंबरम को कई बीमारियाँ हैं और हिरासत में रहने के कारण उनका वज़न भी कम हुआ है। बता दें कि कॉन्ग्रेस नेता पाँच सितंबर से न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल में बंद हैं।

ख़बर के अनुसार, पी चिदंबरम की तरफ़ से पैरवी करने वाले दूसरे वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि चिदंबरम पहले से ही 14 दिन की पुलिस हिरासत और 14 दिन की न्यायिक हिरासत में रह चुके हैं। उन्होंने चिदंबरम की न्यायिक हिरासत बढ़ाए जाने का विरोध किया।

इससे पहले, कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद और अहमद पटेल पिछले हफ्ते तिहाड़ जेल में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम से मुलाकात कर चुके हैं। इस दौरान उनके साथ चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम भी मौजूद थे। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, आधे घंटे तक चली बैठक के दौरान नेताओं ने मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर चिदंबरम से चर्चा की। इस दौरान कश्मीर, आगामी चुनाव और देश में आर्थिक स्थिति भी चर्चा का विषय रही।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,169FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe