Wednesday, August 4, 2021
Homeराजनीतिउत्तर प्रदेश: अदिति और राकेश सिंह की विधायकी छीनने के लिए हाई कोर्ट पहुँची...

उत्तर प्रदेश: अदिति और राकेश सिंह की विधायकी छीनने के लिए हाई कोर्ट पहुँची कॉन्ग्रेस

कॉन्ग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर इस संबंध में विधानसभा अध्यक्ष को निर्देशित करने की अपील की है। कॉन्ग्रेस ने इनकी सदस्यता समाप्त करने को लेकर विधानसभा अध्यक्ष के पास पहले से ही अर्जी दे रखी है।

अदिति सिंह और राकेश सिंह की विधानसभा सदस्यता समाप्त करने के लिए कॉन्ग्रेस ने इलाहाबाद हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने कॉन्ग्रेस के दोनों विधायकों को नोटिस जारी कर जवाब माँगा है। मामले में अगली सुनवाई 14 जुलाई को होगी।

सुनवाई जस्टिस पंकज कुमार जायसवाल और जस्टिस दिनेश कुमार सिंह की बेंच ने की। मामले में याची अराधना मिश्रा के वकील केसी कौशिक का तर्क था कि अदिति और राकेश 2017 में कॉन्ग्रेस के टिकट पर जीतकर विधानसभा पहुँचे थे। लेकिन बाद में दोनों ने पार्टी विरोधी गतिविधियाँ शुरू कर दी।

कॉन्ग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर इस संबंध में विधानसभा अध्यक्ष को निर्देशित करने की अपील की है। कॉन्ग्रेस ने इनकी सदस्यता समाप्त करने को लेकर विधानसभा अध्यक्ष के पास पहले से ही अर्जी दे रखी है।

याचिका में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट ने एक फैसले में कहा था कि सदस्यता समाप्त करने वाली अर्जियां तीन सप्ताह के भीतर निस्तारित कर दी जाएँ। लेकिन इस मामले में तीन माह बाद भी स्पीकर ने अर्जी निस्तारित नहीं की है।

अदिति सिंह रायबरेली सदर से विधायक हैं। हाल में उन्होंने कई मसलों पर पार्टी स्टैंड के खिलाफ जाकर अपनी राय सार्वजनिक तौर पर जाहिर की है। अटकलें लगाई जा रही है कि वे बीजेपी में जा सकती हैं। वहीं रायबरेली के हरचंदपुर विधानसभा सीट से कॉन्ग्रेस विधायक राकेश सिंह भाजपा में शामिल हो चुके एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह के सगे भाई हैं।

अदिति सिंह ने 12 जून, 2020 को पार्टी के सभी व्हॉट्सअप ग्रुपों को छोड़ दिया था। इससे पहले अदिति सिंह ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से कॉन्ग्रेस का नाम हटाते हुए उसकी जगह अपना हैंडल @AditiSinghRBL कर लिया था।

उनके ट्विटर से INC (Indian National Congress) हटाते ही ट्विटर ने अदिति के आईडी से ब्लूटिक हटा दिया था। इस दौरान अदिति सिंह ने अपने सोशल मीडिया की प्रोफाइल से कॉन्ग्रेस के नाम सहित राहुल और सोनिया गाँधी की फोटो भी हटा दी थी।

पिछले दिनों ये खबरें भी आईं थीं कि अदिति सिंह को कॉन्ग्रेस ने महिला विंग के महासचिव पद से हटा दिया गया है। नवंबर में अदिति की विधायक की सदस्यता खत्म करने को लेकर भी कॉन्ग्रेस ने यूपी विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित को नोटिस दिया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारतीय हॉकी का ‘द ग्रेट वॉल’: जिसे घेर कर पीटने पहुँचे थे शिवसेना के 150 गुंडे, टोक्यो ओलंपिक में वही भारत का नायक

शिवसेना वालों ने PR श्रीजेश से पूछा - "क्या तुम पाकिस्तानी हो?" अपने ही देश में ये देख कर उन्हें हैरत हुई। टोक्यो ओलंपिक के बाद सब इनके कायल।

अफगानिस्तान के सबसे सुरक्षित इलाके में तालिबानी हमला, रक्षा मंत्री निशाना: ब्लास्ट-गोलीबारी, सड़कों पर ‘अल्लाहु अकबर’

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के विभिन्न हिस्सों में गोलीबारी और बम ब्लास्ट की आवाज़ें आईं। शहर के उस 'ग्रीन जोन' में भी ये सब हुआ, जो कड़ी सुरक्षा वाला इलाका है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,873FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe