Thursday, April 18, 2024
Homeराजनीतिसिब्बल की राह पर थरूर, कॉन्ग्रेसी आलाकमान पर साधा निशाना, कहा - 'पार्टी को...

सिब्बल की राह पर थरूर, कॉन्ग्रेसी आलाकमान पर साधा निशाना, कहा – ‘पार्टी को तुरंत नए नेतृत्व की जरूरत’

कॉन्ग्रेस को असल मायने में राहुल और प्रियंका चला रहे हैं। कैप्टन अमरिंदर के साथ सोनिया गाँधी का समर्थन था, जबकि राहुल और प्रियंका पूरी तरह से सिद्धू के पक्ष में। तभी सोनिया गाँधी को कहना पड़ा - "आई एम सॉरी अमरिंदर"

पंजाब में चल रहे सियासी संकट के बीच कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने कॉन्ग्रेस पार्टी आलाकमान पर ही निशाना साध दिया है। थरूर ने शनिवार (सितंबर 18, 2021) को कॉन्ग्रेस पार्टी का नेतृत्व बदलने की माँग रखते हुए कहा कि कॉन्ग्रेस का नेतृत्व तुरंत बदला जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पार्टी को नए नेतृत्व की जरूरत है। 

शशि थरूर ने कहा कि सोनिया गाँधी के खिलाफ किसी ने एक शब्द भी नहीं कहा, लेकिन वह खुद से ही पद छोड़ना चाहती हैं। इसलिए एक नए नेतृत्व को जल्द से जल्द पद सँभाल लेना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि यदि राहुल गाँधी पदभार सँभालना चाहते हैं, तो यह जल्दी होना चाहिए।

वरिष्ठ कॉन्ग्रेस नेता थरूर ने कहा कि यदि कॉन्ग्रेस सत्ता में वापसी चाहती है तो उसे जल्दी से बदलाव करते हुए चुनाव का सामना करने को तैयार हो जाना चाहिए। कॉन्ग्रेस की विभिन्न इकाइयाँ चाहती हैं कि राहुल गाँधी को फिर अध्यक्ष बनाया जाना चाहिए।

शशि थरूर ने ये तो कह दिया कि सोनिया गाँधी के खिलाफ किसी ने एक शब्द भी नहीं कहा, लेकिन ऐसा लगता है कि सोनिया केवल नाम की अध्यक्ष हैं और कॉन्ग्रेस को राहुल और प्रियंका अपनी घर की पार्टी की तरह चला रहे हैं। खबरें हैं कि कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ पार्टी अध्यक्ष सोनिया गाँधी का समर्थन था, जबकि राहुल और प्रियंका पूरी तरह से सिद्धू के पक्ष में हैं।

पंजाब कॉन्ग्रेस संकट को लेकर मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि कैप्टन अमरिंदर के तेवर शुरू से ही तीखे रहे हैं, लिहाजा राहुल और प्रियंका गाँधी के फॉर्मेट में वह सेट नहीं बैठ रहे हैं। इसलिए वो शुरू से ही सिद्धू को पंजाब कॉन्ग्रेस की कमान सौंपने के पक्ष में रहे। अब कैप्टन के इस्तीफे से एक बार फिर सोनिया गाँधी की पार्टी में स्थिति के बारे में पता चल रहा है।

बता दें कि विधानसभा चुनावों से पहले पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफे के बाद उन्होंने कॉन्ग्रेस आलाकमान पर अपने अपमान का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि उनके साथ जिस तरह का बर्ताव हो रहा था उससे वो अपमानित महसूस कर रहे थे, इसलिए उन्होंने इस्तीफा दे दिया।

इस्तीफा देने के बाद कैप्टन जब मीडिया के सामने आए तो उनका दर्द छलक पड़ा। न्यूज एजेंसी ANI को दिए इंटरव्यू में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, “बिना मुझसे पूछे विधायक दल की मीटिंग बुला ली गई, जिसके बाद सुबह सवा दस के करीब मैंने कॉन्ग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गाँधी को फोन किया था और मैंने उन्हें कहा कि मैं आपको अपना इस्तीफा भेज रहा हूँ।” यह पूछे जाने पर कि इस पर उनका क्या जवाब था कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, “सोनिया जी ने कहा कि आई एम सॉरी अमरिंदर।”

कॉन्ग्रेस पर कपिल सिब्बल के सवाल

पिछले साल पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कॉन्ग्रेस पार्टी और उसके नेतृत्व पर सवाल खड़े किए थे। कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता ने तब कहा था कि पार्टी में आवाज़ उठाने के लिए कोई मंच ही नहीं है।

राजदीप सरदेसाई के साथ इंटरव्यू में कपिल सिब्बल ने कहा था कि कॉन्ग्रेस एक प्रभावशाली विकल्प कैसे बन सकती है, जब पार्टी में कोई पूर्णकालिक अध्यक्ष तक नहीं। उन्होंने यह सवाल भी उठाया था कि पार्टी में इसे लेकर कोई विचार-विमर्श ही नहीं हुआ है कि चुनाव में हार क्यों हो रही है। हालाँकि उन्होंने साफ़ किया था कि वो गाँधी परिवार के खिलाफ बगावत नहीं कर रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हलाल-हराम के जाल में फँसा कनाडा, इस्लामी बैंकिंग पर कर रहा विचार: RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने भारत में लागू करने की...

कनाडा अब हलाल अर्थव्यवस्था के चक्कर में फँस गया है। इसके लिए वह देश में अन्य संभावनाओं पर विचार कर रहा है।

त्रिपुरा में PM मोदी ने कॉन्ग्रेस-कम्युनिस्टों को एक साथ घेरा: कहा- एक चलाती थी ‘लूट ईस्ट पॉलिसी’ दूसरे ने बना रखा था ‘लूट का...

त्रिपुरा में पीएम मोदी ने कहा कि कॉन्ग्रेस सरकार उत्तर पूर्व के लिए लूट ईस्ट पालिसी चलाती थी, मोदी सरकार ने इस पर ताले लगा दिए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe