Sunday, October 17, 2021
Homeराजनीतिममता बनर्जी की डर्टी पॉलिटिक्स: PM मोदी के ₹1000 करोड़ की 'अग्रिम सहायता' पर...

ममता बनर्जी की डर्टी पॉलिटिक्स: PM मोदी के ₹1000 करोड़ की ‘अग्रिम सहायता’ पर बोला झूठ, देखें Video

जिस समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ऐलान में अग्रिम सहायता (एडवांस असिस्टेंस) शब्द कहा, उस समय बंगाल मुख्यमंत्री उनसे कुछ ही दूरी पर ही बैठी थीं। यह हम वीडियो में भी स्पष्ट देख सकते हैं। इसके अलावा पीएमओ इंडिया के ट्विटर हैंडल से भी इसी बात को जस का तस शेयर किया गया और उसमें भी एडवांस शब्द लिखा हुआ है।

अम्फान तूफान हुई भारी तबाही का जायजा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (मई 22, 2020) पश्चिम बंगाल गए थे। उन्होंने हवाई सर्वेक्षण कर प्रभावित इलाकों का जायजा लिया। ममता बनर्जी समेत राज्य अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। फिर, हालातों को देखते हुए बंगाल को दोबारा खड़ा करने के लिए ₹1000 करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान किया।

पीएम मोदी के इस त्वरित फैसले की तारीफ देश भर में हुई। लेकिन, ममता बनर्जी ने बैठक समाप्त होने के कुछ देर बाद ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिए राहत पैकेज पर सवाल खड़ा कर दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि PM ने 1 हजार करोड़ रुपए का राहत पैकेज घोषित जरूर किया, लेकिन यह स्पष्ट नहीं किया कि उनके द्वारा दिया गया 1 हजार करोड़ रुपए एडवांस हैं या पैकेज है।

अब ममता बनर्जी के इस आरोप में कितनी सच्चाई है, इसका पर्दाफाश बैठक के एक वीडियो से हो जाता है। इसमें नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि केंद्र सरकार पश्चिम बंगाल सरकार को चक्रवात के कारण हुए विनाश से निपटने में मदद करने के लिए 1000 करोड़ रुपए की “अग्रिम सहायता” प्रदान करेगा।

बैठक की वीडियो में 4:15 मिनट पर हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कहते सुन सकते हैं कि उन्होंने एडवांस शब्द का प्रयोग जोर देकर किया। उन्होंने कहा, “भारत सरकार चक्रवात से प्रभावित राज्य की बहाली, पुनर्निर्माण और पुनर्वास में मदद करने के लिए पश्चिम बंगाल सरकार को 1000 करोड़ रुपए की अग्रिम वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।”

प्रधानमंत्री की घोषणा के समय बगल में ही बैठी थीं ममता बनर्जी

इसके अलावा ये भी गौर करने वाली बात है कि जिस समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ऐलान में अग्रिम सहायता (एडवांस असिस्टेंस) शब्द कहा, उस समय बंगाल मुख्यमंत्री उनसे कुछ ही दूरी पर ही बैठी थीं। यह हम वीडियो में भी स्पष्ट देख सकते हैं। इसके अलावा पीएमओ इंडिया के ट्विटर हैंडल से भी इसी बात को जस का तस शेयर किया गया और उसमें भी एडवांस शब्द लिखा हुआ है।

बावजूद इसके बंगाल की मुख्यमंत्री ने बैठक खत्म होने के बाद प्रेस से बातचीत में बचकाना बयान दिया, या यूँ कहें कि ओछी राजनीति करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगा दिया कि उन्होंने राहत पैकेज की घोषणा करते हुए अस्पष्टता रखी।

ममता बनर्जी द्वारा प्रेस को दिए इंटरव्यू की वीडियो में हम 2:03 मिनट पर देख सकते हैं कि वह कह रही हैं, “पीएम मोदी ने इमरजेंसी फंड से 1 हजार करोड़ रुपए देने का एलान किया। लेकिन यह नहीं बताया कि यह एडवांस होगा या पैकेज। पीएम ने कहा कि इस पर बाद में विचार होगा, लेकिन यह एडवांस होना चाहिए। मैंने उनसे कहा कि आप जो भी हमें देंगे, वो आपका फैसला है, हम विस्तार से बता देंगे।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,137FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe