Monday, May 25, 2020
होम राजनीति ममता बनर्जी की डर्टी पॉलिटिक्स: PM मोदी के ₹1000 करोड़ की 'अग्रिम सहायता' पर...

ममता बनर्जी की डर्टी पॉलिटिक्स: PM मोदी के ₹1000 करोड़ की ‘अग्रिम सहायता’ पर बोला झूठ, देखें Video

जिस समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ऐलान में अग्रिम सहायता (एडवांस असिस्टेंस) शब्द कहा, उस समय बंगाल मुख्यमंत्री उनसे कुछ ही दूरी पर ही बैठी थीं। यह हम वीडियो में भी स्पष्ट देख सकते हैं। इसके अलावा पीएमओ इंडिया के ट्विटर हैंडल से भी इसी बात को जस का तस शेयर किया गया और उसमें भी एडवांस शब्द लिखा हुआ है।

ये भी पढ़ें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

अम्फान तूफान हुई भारी तबाही का जायजा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (मई 22, 2020) पश्चिम बंगाल गए थे। उन्होंने हवाई सर्वेक्षण कर प्रभावित इलाकों का जायजा लिया। ममता बनर्जी समेत राज्य अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। फिर, हालातों को देखते हुए बंगाल को दोबारा खड़ा करने के लिए ₹1000 करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान किया।

पीएम मोदी के इस त्वरित फैसले की तारीफ देश भर में हुई। लेकिन, ममता बनर्जी ने बैठक समाप्त होने के कुछ देर बाद ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिए राहत पैकेज पर सवाल खड़ा कर दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि PM ने 1 हजार करोड़ रुपए का राहत पैकेज घोषित जरूर किया, लेकिन यह स्पष्ट नहीं किया कि उनके द्वारा दिया गया 1 हजार करोड़ रुपए एडवांस हैं या पैकेज है।

अब ममता बनर्जी के इस आरोप में कितनी सच्चाई है, इसका पर्दाफाश बैठक के एक वीडियो से हो जाता है। इसमें नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि केंद्र सरकार पश्चिम बंगाल सरकार को चक्रवात के कारण हुए विनाश से निपटने में मदद करने के लिए 1000 करोड़ रुपए की “अग्रिम सहायता” प्रदान करेगा।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

बैठक की वीडियो में 4:15 मिनट पर हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कहते सुन सकते हैं कि उन्होंने एडवांस शब्द का प्रयोग जोर देकर किया। उन्होंने कहा, “भारत सरकार चक्रवात से प्रभावित राज्य की बहाली, पुनर्निर्माण और पुनर्वास में मदद करने के लिए पश्चिम बंगाल सरकार को 1000 करोड़ रुपए की अग्रिम वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।”

प्रधानमंत्री की घोषणा के समय बगल में ही बैठी थीं ममता बनर्जी

इसके अलावा ये भी गौर करने वाली बात है कि जिस समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ऐलान में अग्रिम सहायता (एडवांस असिस्टेंस) शब्द कहा, उस समय बंगाल मुख्यमंत्री उनसे कुछ ही दूरी पर ही बैठी थीं। यह हम वीडियो में भी स्पष्ट देख सकते हैं। इसके अलावा पीएमओ इंडिया के ट्विटर हैंडल से भी इसी बात को जस का तस शेयर किया गया और उसमें भी एडवांस शब्द लिखा हुआ है।

बावजूद इसके बंगाल की मुख्यमंत्री ने बैठक खत्म होने के बाद प्रेस से बातचीत में बचकाना बयान दिया, या यूँ कहें कि ओछी राजनीति करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगा दिया कि उन्होंने राहत पैकेज की घोषणा करते हुए अस्पष्टता रखी।

ममता बनर्जी द्वारा प्रेस को दिए इंटरव्यू की वीडियो में हम 2:03 मिनट पर देख सकते हैं कि वह कह रही हैं, “पीएम मोदी ने इमरजेंसी फंड से 1 हजार करोड़ रुपए देने का एलान किया। लेकिन यह नहीं बताया कि यह एडवांस होगा या पैकेज। पीएम ने कहा कि इस पर बाद में विचार होगा, लेकिन यह एडवांस होना चाहिए। मैंने उनसे कहा कि आप जो भी हमें देंगे, वो आपका फैसला है, हम विस्तार से बता देंगे।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ख़ास ख़बरें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

‘दोबारा कहूँगा, राजीव गाँधी हत्यारा था’ – छत्तीसगढ़ में दर्ज FIR के बाद भी तजिंदर बग्गा ने झुकने से किया इनकार

तजिंदर पाल सिंह बग्गा के खिलाफ FIR हुई है। इसके बाद बग्गा ने राजीव गाँधी को दोबारा हत्यारा बताया और कॉन्ग्रेस के सामने झुकने से इनकार...

पिंजरा तोड़ की दोनों सदस्य जमानत पर बाहर आईं, दिल्ली पुलिस ने फिर कर लिया गिरफ्तार: इस बार हत्या का है मामला

हिंदू विरोधी दंगों को भड़काने के आरोप में पिंजरा तोड़ की देवांगना कालिता और नताशा नरवाल को दिल्ली पुलिस ने फिर गिरफ्तार कर...

जिन लोगों ने राम को भुलाया, आज वे न घर के हैं और न घाट के: मीडिया संग वेबिनार में CM योगी

"हमारे लिए राम और रोटी दोनों महत्वपूर्ण हैं। राज्य सरकार ने इस कार्य को बखूबी निभाया है। जिन लोगों ने राम को भुलाया है, वे घर के हैं न घाट के।"

Covid-19: 24 घंटों में 6767 संक्रमित, 147 की मौत, देश में लगातार दूसरे दिन कोरोना के रिकॉर्ड मामले सामने आए

इस समय देश में संक्रमितों की संख्या 1,31,868 हो चुकी है। अब तक 3867 लोगों की मौत हुई है। 54,440 लोग ठीक हो चुके हैं।

केजरीवाल सरकार जो बता रही उससे तीन गुना ज्यादा दिल्ली में कोरोना से मरे: MCD नेताओं ने आँकड़े छिपाने का लगाया आरोप

"MCD के आँकड़े मिला दिए जाए तो 21 मई तक कोरोना से दिल्ली में 591 मौतें हो चुकी थी। यह दिल्ली सरकार के आँकड़ों का तीन गुना है।"

हम सब डरे हैं, MLA झूठी शिकायत करती हैं: विष्णुदत्त विश्नोई की आत्महत्या के बाद पूरे थाने ने माँगा ट्रांसफर

विष्णुदत्त विश्नोई की आत्महत्या के बाद राजगढ़ थाने में तैनात पुलिसकर्मियों ने बीकानेर आईजी को पत्र लिखकर सामूहिक ताबदले की गुहार लगाई है।

प्रचलित ख़बरें

गोरखपुर में चौथी के बच्चों ने पढ़ा- पाकिस्तान हमारी प्रिय मातृभूमि है, पढ़ाने वाली हैं शादाब खानम

गोरखपुर के एक स्कूल के बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई के लिए बने व्हाट्सएप ग्रुप में शादाब खानम ने संज्ञा समझाते-समझाते पाकिस्तान प्रेम का पाठ पढ़ा डाला।

‘न्यूजलॉन्ड्री! तुम पत्रकारिता का सबसे गिरा स्वरुप हो’ कोरोना संक्रमित को फ़ोन कर सुधीर चौधरी के विरोध में कहने को विवश कर रहा NL

जी न्यूज़ के स्टाफ ने खुलासा किया है कि फर्जी ख़बरें चलाने वाले 'न्यूजलॉन्ड्री' के लोग उन्हें लगातार फ़ोन और व्हाट्सऐप पर सुधीर चौधरी के खिलाफ बयान देने के लिए विवश कर रहे हैं।

रवीश ने 2 दिन में शेयर किए 2 फेक न्यूज! एक के लिए कहा: इसे हिन्दी के लाखों पाठकों तक पहुँचा दें

NDTV के पत्रकार रवीश कुमार ने 2 दिन में फेसबुक पर दो बार फेक न्यूज़ शेयर किया। दोनों ही बार फैक्ट-चेक होने के कारण उनकी पोल खुल गई। फिर भी...

राजस्थान के ‘सबसे जाँबाज’ SHO विष्णुदत्त विश्नोई की आत्महत्या: एथलीट से कॉन्ग्रेस MLA बनी कृष्णा पूनिया पर उठी उँगली

विष्णुदत्त विश्नोई दबंग अफसर माने जाते थे। उनके वायरल चैट और सुसाइड नोट के बाद कॉन्ग्रेस विधायक कृष्णा पूनिया पर सवाल उठ रहे हैं।

तब भंवरी बनी थी मुसीबत का फंदा, अब विष्णुदत्त विश्नोई सुसाइड केस में उलझी राजस्थान की कॉन्ग्रेस सरकार

जिस अफसर की पोस्टिंग ही पब्लिक डिमांड पर होती रही हो उसकी आत्महत्या पर सवाल उठने लाजिमी हैं। इन सवालों की छाया सीधे गहलोत सरकार पर है।

हमसे जुड़ें

206,713FansLike
60,071FollowersFollow
241,000SubscribersSubscribe
Advertisements