Saturday, October 1, 2022
Homeराजनीतिदिल्ली में इतने मुसलमान हैं कि गृहमंत्री का घर घेर सकते हैं, फिर कोई...

दिल्ली में इतने मुसलमान हैं कि गृहमंत्री का घर घेर सकते हैं, फिर कोई अरेस्ट नहीं होगा: अमानतुल्लाह का जहर

"मैं सिर्फ इतना कहने आया हूँ कि दिल्ली में मुसलमानों की बहुत बड़ी तादाद है, लेकिन यहाँ पर जितने मुसलमान आएँ हैं, अगर सिर्फ वही ये तय कर लें तो उनकी हिम्मत नहीं होगी।"

दिल्ली में हुए हिंदू विरोधी दंगों ने सबको झकझोक कर रख दिया है। काफी बड़ी में तादाद में मुस्लिम दंगाइयों ने अल्लाहु अकबर और नारा-ए-तकबीर के साथ हिंदुओं की हत्या की। दंगाइयों की भीड़ ने छतों पर गुलेल सेट करके उससे भारी मात्रा में पत्थरबाजी की, पेट्रोल बम और तेजाब वगैरह फेंके। बता दें कि यह दंगा स्वतः ही नहीं हुआ था। इस दंगे को सुनियोजित तरीके से साजिश के तहत अंजाम दिया गया था। मुस्लिम दंगाई भीड़ के अंदर का जो जहर दिखा, वो भी काफी सालों से उनके अंदर भरा था और इसी का नतीजा रहा ये खूनी दंगा।

इस दंगे के मुख्य साजिशकर्ता के रूप में आम आदमी पार्टी से निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन का हाथ सामने आया है, जिसके बचाव में पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान उतकर सामने आए। बता दें कि ये वही अमानतुल्लाह खान हैं, जो हमेशा ही हिंदुओं और सरकार के खिलाफ जहर उगलते रहते हैं। अभी फिर से उनका एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें वो समुदाय विशेष को भड़काते हुए नजर आ रहे हैं। यह वीडियो 2016 का बताया जा रहा है।

वीडियो में अमानतुल्लाह खान समुदाय विशेष को संबोधित करते हुए कहते हैं, “आप लोग जिस जिंदादिली से यहाँ आए हैं, अगर आप लोग सिर्फ ये तय कर लें ना कि आज के बाद एक भी गिरफ्तारी हुई तो होम मिनिस्टर के घर को घेरना है। तो मैं यकीन के साथ कह सकता हूँ कि इनकी इतनी हिम्मत नहीं होगी कि आपके एक बच्चे की तरफ भी ये आँख उठाकर देख लें। मैं सिर्फ इतना कहने आया हूँ कि दिल्ली में मुसलमानों की बहुत बड़ी तादाद है, लेकिन यहाँ पर जितने मुसलमान आएँ हैं, अगर सिर्फ वही ये तय कर लें तो उनकी हिम्मत नहीं होगी।”

अभी अमानतुल्लाह खान पार्टी के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन को बचाने के लिए जी-जान से जुटे हुए हैं। बता दें कि ताहिर पर आईबी अधिकारी अंकित वर्मा की हत्या हिंसा फैलाने का भी आरोप है। पार्टी द्वारा ताहिर को निलंबित करने के महज 16 मिनट बाद ही अमानतुल्लाह खान ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए उन्हें बेकसूर घोषित कर दिया।

पिछले साल सीएए के नाम पर दिल्ली में हुई हिंसा के समय में भी उनके ऊपर हिंसा भड़काने का आरोप लगा था। नागरिकता कानून को लेकर हो रहे प्रदर्शन में AAP विधायक अमानतुल्लाह खान भी दिखाई दिए थे। जिसके कुछ समय बाद उस इलाके में हिंसा फैलने की खबर आई थी। वहीं प्रदर्शन के दौरान हुई आगजनी को मनीष सिसोदिया ने एक वीडियो शेयर किया था। मनीष सिसोदिया ने अमानतुल्लाह खान को बचाने के लिए दिल्ली पुलिस पर ही बसों में आग लगाने का आरोप लगा दिया था।

इसके साथ ही इन्होंने रविवार (मार्च 1, 2020) तड़के एक भड़काऊ ट्वीट करते हुए कहा कि दिल्ली के सोनिया विहार में स्थित अंबे चौहान मोहल्ला में दंगाइयों ने एक घर को आग के हवाले कर दिया है। हालाँकि, अग्निशमन विभाग ने इसका खंडन करते हुए कहा कि इस घर में दंगों के दौरान आग नहीं लगी।

‘भाईजान’ की लाश को 24 घंटे घर में रखा, मुआवजे की घोषणा होते ही कराया पोस्टमॉर्टम: ग्राउंड रिपोर्ट

‘हमने चूड़ियाँ नहीं पहनी हैं, हमें मालूम है अमन-ओ-अमान कैसे जाएगा’: AIMIM विधायक मो इस्माइल के जहरीले बोल

15 साल का नितिन जो चाउमिन लाने गया था… न खा सका, न खिला सका: दिल्ली हिंदू विरोधी दंगे की क्रूरता

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी को शक्ति मिली तो देश में सनातन का राज हो जाएगा…’: कॉन्ग्रेस अध्यक्ष पद पर मल्लिकार्जुन खड़गे का नामांकन, वायरल होने लगा पुराना...

मल्लिकार्जुन खड़गे द्वारा कॉन्ग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल करने के कुछ घंटों बाद उनका पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

भारत जोड़ो यात्रा पर आंदोलनजीवी, हसदेव अरण्य की कौन सुने: राहुल गाँधी और कॉन्ग्रेस के राजनीतिक दोगलेपन से लड़ रहे सरगुजा के ST

राहुल गाँधी जिन्हें दिल्ली में 'मोदी का यार' बताते हैं, कॉन्ग्रेस की सरकारें अपने प्रदेश में उनकी ही एजेंट बनी हुई हैं। यही हसदेव अरण्य का दुर्भाग्य है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,416FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe