Friday, October 22, 2021
Homeराजनीति₹50 हजार मुआवजा, 2500 पेंशन, बिना राशन कार्ड भी फ्री राशन: कोरोना को लेकर...

₹50 हजार मुआवजा, 2500 पेंशन, बिना राशन कार्ड भी फ्री राशन: कोरोना को लेकर केजरीवाल सरकार की ‘मुफ्त’ योजना

सीएम केजरीवाल ने कहा कि कोरोना से जिनकी मौत हुई, उनके परिवार को 50 हज़ार का मुआवजा दिया जाएगा। इसके अलावा जिस परिवार में कमाने वाले व्यक्ति की कोरोना से मौत हुई, उस परिवार को ₹50000 मुआवजे के साथ साथ 2500 रुपए महीना पेंशन दी जाएगी।

दिल्‍ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने कोरोना महामारी में माता पिता को खोने वाले बच्‍चों को 2500 रुपए प्रति माह और मुफ्त शिक्षा देने का ऐलान किया है। सीएम केजरीवाल ने डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह घोषणा की। इस मौके पर अहम घोषणाएँ करते हुए उन्‍होंने बताया कि 72 लाख लोगों को इस महीने का राशन मुफ़्त मिलेगा।

आपको बता दें कि केंद्र सरकार की ओर से भी इन राशन कार्ड धारकों को पाँच किलो प्रति माह राशन दिया जा रहा है। इस हिसाब से अब इनको 10 किलो राशन मुफ्त में दिया जाएगा। 5 किलो दिल्ली सरकार देगी और 5 किलो प्रधानमंत्री योजना के तहत यानी कुल 10 किलो राशन मुफ्त मिलेगा। उन्होंने कहा कि जिनके पास राशन कार्ड नहीं है और वह गरीब हैं उनके लिए भी दिल्ली सरकार राशन की व्यवस्था करेगी। उन्‍होंने कहा कि जो लोग राशन माँगेंगे और कहेंगे कि हम गरीब हैं उनको राशन दिया जाएगा जैसे पिछली बार दिया था वैसे ही इस बार भी देंगे।

सीएम केजरीवाल ने कहा कि कोरोना से जिनकी मौत हुई, उनके परिवार को 50 हज़ार का मुआवजा दिया जाएगा। इसके अलावा जिस परिवार में कमाने वाले व्यक्ति की कोरोना से मौत हुई, उस परिवार को ₹50000 मुआवजे के साथ साथ 2500 रुपए महीना पेंशन दी जाएगी। 

सीएम केजरीवाल ने कहा कि जिनके घरों में कोरोना की वजह से कमाने वाला शख्स नहीं रहा, उनको पेंशन देने की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा कि पति की मौत की स्थिति में पत्नी को, पत्नी की मौत की स्थिति में पति को और किसी अविवाहित की मौत की स्थिति में उसके माता-पिता को ये पेंशन मिलेगी।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अगर किसी घर में किसी बच्चे के माता-पिता कि कोविड से दुर्भाग्यपूर्ण मौत हो जाती है तो हर महीने 2500 रुपए का पेंशन 25 साल की उम्र तक तक बच्चे को दिया जाएगा। इसके अलावा शिक्षा का सारा खर्च दिल्ली सरकार उठाएगी। उन्‍होंने कहा, “पिछले 4 से 5 दिन के अंदर मैंने और मेरे मंत्रियों ने बैठ कर इस पर काफी विचार मंथन किया। हमने यह देखने की कोशिश की कि लोग कहाँ-कहाँ मुसीबत में हैं और कहाँ-कहाँ से पैसा बचा सकते हैं सभी जगहों से पैसा निकाल कर यह योजना आपके लिए बनाई है।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंक पर योगी सरकार लगाएगी नकेल: जम्मू-कश्मीर में बंद 26 आतंकियों को भेजा जा रहा यूपी, स्लीपर सेल के जरिए फैला रहे थे आतंकवाद

कश्मीर घाटी की अलग-अलग सेंट्रल जेलों में बंद 26 आतंकियों का पहला ग्रुप उत्तर प्रदेश की आगरा सेंट्रल जेल के लिए रवाना कर दिया गया।

‘बधाई देना भी हराम’: सारा ने अमित शाह को किया बर्थडे विश, आरफा सहित लिबरलों को लगी आग, पटौदी की पोती को बताया ‘डरपोक’

सारा ने गृहमंत्री को बधाई दी लेकिन नाराज हो गईं आरफा खानुम शेरवानी। उन्होंने सारा को डरपोक कहा और पारिवारिक बैकग्राउंड पर कमेंट किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,880FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe